आकिब जावेद बोले- मैं मैच फिक्सिंग के खिलाफ बोला, इसलिए कभी पाकिस्तान का हेड कोच नहीं बन पाया
फिक्सिंग में शामिल मोहम्मद आमिर जैसे खिलाड़ियों की वापसी में पीसीबी ने मदद की, इससे गलत लोगों का हौसला बढ़ा

दैनिक भास्कर

07 मई, 2020, 05:40 PM IST

पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज आकिब जावेद ने बुधवार को यह आरोप लगाया है कि मैच फिक्सिंग माफियाओं के तार भारत से जुड़े हैं। उन्होंने पाकिस्तानी चैनल जियो न्यूज को दिए इंटरव्यू में यह बात कही।

जावेद ने अपने करियर को लेकर कहा कि मैं लगातार मैच फिक्सिंग के खिलाफ आवाज उठाता रहा। इसलिए टीम से बाहर होने के बाद दोबारा मेरी कभी वापसी नहीं हुई। इसमें शामिल लोगों ने मुझे धमकी दी थी कि अगर मैं चुप नहीं हुआ तो वे मेरे टुकड़े-टुकड़े कर देंगे। उन्होंने कहा कि अगर आप फिक्सिंग के खिलाफ बोलते हैं तो क्रिकेट में एक मुकाम तक ही जा सकते हैं। इसलिए मैं कभी पाकिस्तान क्रिकेट टीम का हेड कोच नहीं बन पाया।

पीसीबी ने गलत लोगों की टीम में बदलाव किए

इस पूर्व सैनिक ने फिक्सिंग के दोषी खिलाड़ियों की पाकिस्तान टीम में बदलाव पर पीसीबी को फटकार लगाई। उन्होंने कहा कि मोहम्मद आमिर को इंग्लैंड में फिक्सिंग का दोषी पाया गया था। इसके अलावा सलमान भट्ट और मोहम्मद आसिफ को भी सजा हुई थी। लेकिन फिर आमिर की टीम में वापसी हो गई। ऐसी चीजों को ठीक करने में शामिल लोगों का हौसला बढ़ाती है।

‘क्रिकेटरों को सजा हुई, माफियाओं को कुछ नहीं हुआ’
आकिब ने कहा कि फिक्सिंग की जड़ें बहुत गहरी हैं। जो एक बार इसमें घुस जाता है, वह कभी वापस नहीं लौटता है। इसमें कई क्रिकेटरों को तो सजा मिली। लेकिन माफियाओं का कुछ नहीं हुआ जबकि सजा उन्हें भी होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि क्रिकेट से यह स्पष्ट को खत्म किया जा सकता है। जब इसमें शामिल लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई के साथ आजीवन बैन लगे।
बता दें कि जावेद इमरान खान की कप्तानी में 1992 में विश्व कप जीतने वाली पाकिस्तान टीम के सदस्य थे। उन्होंने 22 टेस्ट में 54 और 163 वनडे में 182 विकेट लिए थे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *