न्यूज डेस्क, अमर उजाला, वाराणसी
Updated Sun, 24 May 2020 01:07 AM IST

ख़बर सुनें

मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनल से वाराणसी पहुंची ट्रेन में सवार जौनपुर के मछलीशहर के एक यात्री की मौत हो गई। शनिवार की सुबह ट्रेन के कैंट स्टेशन पर पहुंचने पर जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया।

परिजनों ने आरोप लगाया कि ट्रेन में भोजन-पानी का इंतजाम ठीक नहीं था। पहले से ही तबीयत खराब थी और ट्रेन के लगातार लेट होने के चलते घबराहट बढ़ती गई। करीब 62 घंटे के सफर के दौरान ट्रेन के व्यासनगर स्टेशन और अवधूत भगवान राम हाल्ट के बीच मौत हुई।

मुंबई में ट्रक चलाने वाले जौनपुर के मछलीशहर निवासी जोखन यादव 46 वर्ष बीस मई की शाम 7 बजे लोकमान्य तिलक टर्मिनल से वाराणसी के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन से परिजनों संग रवाना हुए। जोखन के साथ सफर कर रहे भतीजा रबीश ने बताया कि मध्य प्रदेश के कटनी स्टेशन पहुंचने के बाद ट्रेन लगातार  लेट होती गई और यात्री भूख प्यास से बेहाल रहे।

इस बीच चाचा  की तबियत खराब होती गई, पानी और भोजन के लिए बीच के कई स्टेशनों पर गुहार लगाई गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।   इधर, सुबह 7.25 पर ट्रेन के कैंट स्टेशन पहुंचते ही कंट्रोल की सूचना पर पहुंची जीआरपी ने इंजन से सटे 5वीं बोगी से शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया। 

मुंबई के लोकमान्य तिलक टर्मिनल से वाराणसी पहुंची ट्रेन में सवार जौनपुर के मछलीशहर के एक यात्री की मौत हो गई। शनिवार की सुबह ट्रेन के कैंट स्टेशन पर पहुंचने पर जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया।

परिजनों ने आरोप लगाया कि ट्रेन में भोजन-पानी का इंतजाम ठीक नहीं था। पहले से ही तबीयत खराब थी और ट्रेन के लगातार लेट होने के चलते घबराहट बढ़ती गई। करीब 62 घंटे के सफर के दौरान ट्रेन के व्यासनगर स्टेशन और अवधूत भगवान राम हाल्ट के बीच मौत हुई।

मुंबई में ट्रक चलाने वाले जौनपुर के मछलीशहर निवासी जोखन यादव 46 वर्ष बीस मई की शाम 7 बजे लोकमान्य तिलक टर्मिनल से वाराणसी के लिए श्रमिक स्पेशल ट्रेन से परिजनों संग रवाना हुए। जोखन के साथ सफर कर रहे भतीजा रबीश ने बताया कि मध्य प्रदेश के कटनी स्टेशन पहुंचने के बाद ट्रेन लगातार  लेट होती गई और यात्री भूख प्यास से बेहाल रहे।

इस बीच चाचा  की तबियत खराब होती गई, पानी और भोजन के लिए बीच के कई स्टेशनों पर गुहार लगाई गई, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।   इधर, सुबह 7.25 पर ट्रेन के कैंट स्टेशन पहुंचते ही कंट्रोल की सूचना पर पहुंची जीआरपी ने इंजन से सटे 5वीं बोगी से शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया। 

ट्रेन के स्टेशन पहुंचने पर मेडिकल की टीम ने जांच किया तो यात्री की मृत्यु हो चुकी थी। जीआरपी ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम को भिजवाया। जांच के दौरान पता चला कि ह्रदय रोग से यात्री पीड़ित था। दवा चल रही थी और परिजनों ने जांच रिपोर्ट भी दिखाई। – रवि चतुर्वेदी, एडीआरएम, उत्तर रेलवे

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *