पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जहां मॉल्स और धर्मस्थल खोलने की तैयारी है, वहीं कर्नाटक में मंदिर-मस्जिद तो खुलेंगे लेकिन पूजा-अर्चना और चरणामृत जैसी परंपराएं नहीं होंगी। फरीदाबाद-गुरुग्राम में तेजी से बढ़ रहे कोरोना मामलों को देखते हुए हरियाणा सरकार ने वहां मॉल व धार्मिक स्थल खोलने का निर्णय नहीं लिया है।

  • दिल्ली के कालका जी मंदिर में प्रार्थना करने पहुंचे लोग

केंद्र सरकार द्वारा आज से धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने की अनुमति देने के बाद लोग कालका जी मंदिर में प्रार्थना करने पहुंच रहे हैं। स्वास्थ्य दिशानिर्देशों के अनुसार, मूर्तियों / पवित्र पुस्तकों, गायकों / गायन समूहों आदि को छूने की अनुमति नहीं है।

  • उत्तराखंड में खुले मंदिर 

उत्तराखंड में सोमवार से धार्मिक गतिविधियां शुरू हो गईं हैं। मंदिरों के बोर्ड, ट्रस्ट या प्रबंधन समितियां सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करवाएंगी। होटल और होम स्टे को खोलने की अनुमति भी दे दी गई है। इसके साथ रेस्टोरेंट और शापिंग मॉल भी सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक खुल सकेंगे। हालांकि देहरादून नगर निगम क्षेत्र और कंटोनमेंट जोन में किसी भी गतिविधि को शुरू करने की अनुमति शासन ने नहीं दी है।

  • बोर्ड तय करेगा चार धाम यात्रा कब होगी शुरू
उत्तरसखंड सरकार ने चार धाम देवस्थानम बोर्ड को चार धाम यात्रा शुरू करने का जिम्मा सौंपा है। जारी गाइडलाइन के अनुसार बोर्ड प्रबंधन यात्रा को लेकर जिला प्रशासन और अन्य हक हकूकधारियों से चर्चा करेगा। आम सहमति बनने के बाद यात्रा शुरू की जाएगी। कितने श्रद्धालु यात्रा में आ सकते हैं, इसके लिए प्रोटोकॉल तय किया जाएगा।

गाइडलाइन में यह भी स्पष्ट निर्देश है कि कोरोना संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य सुरक्षा को मानकों का पूरी तरह से अनुपालन होगा। यात्रा शुरू करने से पहले उसका पूरी तरह से प्रचार किया जाएगा। इसके साथ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं के लिए तय प्रावधानों के बारे भी जानकारी दी जाएगी। उड़ान योजना के तहत हेलीकॉप्टर से सवारी के लिए भी दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए सिविल एविएशन अलग से एसओपी जारी करेगा।

प्रदेश सरकार के स्तर से जारी गाइडलाइन से स्पष्ट है कि चार धाम यात्रा और प्रदेश के अन्य धार्मिक स्थलों में दर्शन के लिए केवल राज्य के नागरिकों को अनुमति होगी। प्रदेश के बाहर के लोगों को यात्रा और धार्मिक स्थलों में दर्शन की अनुमति नहीं होगी।

  • हिमाचल में अभी बंद रहेंगे धार्मिक स्थल-होटल

केंद्र सरकार ने भले ही धार्मिक स्थल और होटलों को सोमवार से खोलने के दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं, लेकिन हिमाचल में फिलहाल अभी ये नहीं खुलेंगे। सरकार ने सभी उपायुक्तों को फिलहाल धार्मिक स्थलों की व्यवस्था सुचारु करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश में पर्यटन व्यवसाय से जुडे़ लोगों ने अपने होटल अभी नहीं खोलने का फैसला लिया है, क्योंकि वे कोरोना के दौर में जोखिम नहीं उठाना चाहते।

  • जम्मू-कश्मीर में बिना पास के नहीं मिलेगा प्रवेश, धार्मिक स्थल फिलहाल रहेंगे बंद  
जम्मू-कश्मीर आने वालों को आठ जून के बाद भी बिना पास के प्रवेश नहीं मिल सकेगा। सरकार की ओर से देर शाम जारी नई एसओपी के अनुसार केवल पास होने पर ही लोगों को केंद्र शासित प्रदेश में आने की इजाजत होगी। जम्मू-कश्मीर में धार्मिक स्थल बंद ही रहेंगे।

माता वैष्णो देवी, शिवखोड़ी समेत तमाम मंदिरों में तैयारियां जरूर की गई हैं लेकिन अभी भक्तों को और इंतजार करना होगा। रविवार को तमाम मंदिरों, मस्जिदों, चर्च में सैनिटाइजेशन का काम कराया गया ताकि आदेश आने पर श्रद्धालुओं को कोई दिक्क्त न हो।  

  •  गोवा सरकार ने नहीं दिए धर्मस्थल, स्कूल-कॉलेज, सिनेमाघर और जिम खोलने के आदेश

गोवा सरकार ने सिर्फ रेस्तरां खोलने का फैसला किया है, धर्मस्थल, स्कूल-कॉलेज, सिनेमाघर और जिम अभी बंद ही रहेंगे। केरल सरकार धर्मस्थल खोलने की अनुमति मिलने के बावजूद वहां चर्च 30 जून तक बंद ही रहेंगे। गुजरात में कंटेनमेंट जोन से बाहर मौजूद मंदिर, मस्जिद, चर्च व अन्य धर्मस्थल सोमवार से खुल जाएंगे, लेकिन संक्रमण से बचने के लिए अलग-अलग शिफ्टों में पूजा कराने का निर्णय लिया गया है।  

  • ओडिशा में 30 जून तक धार्मिक स्थल और शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे

ओडिशा सरकार  के आदेशानुसार 30 जून तक धार्मिक स्थल और शॉपिंग मॉल बंद रहेंगे

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में जहां मॉल्स और धर्मस्थल खोलने की तैयारी है, वहीं कर्नाटक में मंदिर-मस्जिद तो खुलेंगे लेकिन पूजा-अर्चना और चरणामृत जैसी परंपराएं नहीं होंगी। फरीदाबाद-गुरुग्राम में तेजी से बढ़ रहे कोरोना मामलों को देखते हुए हरियाणा सरकार ने वहां मॉल व धार्मिक स्थल खोलने का निर्णय नहीं लिया है।

  • दिल्ली के कालका जी मंदिर में प्रार्थना करने पहुंचे लोग

केंद्र सरकार द्वारा आज से धार्मिक स्थलों को फिर से खोलने की अनुमति देने के बाद लोग कालका जी मंदिर में प्रार्थना करने पहुंच रहे हैं। स्वास्थ्य दिशानिर्देशों के अनुसार, मूर्तियों / पवित्र पुस्तकों, गायकों / गायन समूहों आदि को छूने की अनुमति नहीं है।

  • उत्तराखंड में खुले मंदिर 

उत्तराखंड में सोमवार से धार्मिक गतिविधियां शुरू हो गईं हैं। मंदिरों के बोर्ड, ट्रस्ट या प्रबंधन समितियां सैनिटाइजेशन और सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन करवाएंगी। होटल और होम स्टे को खोलने की अनुमति भी दे दी गई है। इसके साथ रेस्टोरेंट और शापिंग मॉल भी सुबह सात बजे से शाम सात बजे तक खुल सकेंगे। हालांकि देहरादून नगर निगम क्षेत्र और कंटोनमेंट जोन में किसी भी गतिविधि को शुरू करने की अनुमति शासन ने नहीं दी है।

  • बोर्ड तय करेगा चार धाम यात्रा कब होगी शुरू
उत्तरसखंड सरकार ने चार धाम देवस्थानम बोर्ड को चार धाम यात्रा शुरू करने का जिम्मा सौंपा है। जारी गाइडलाइन के अनुसार बोर्ड प्रबंधन यात्रा को लेकर जिला प्रशासन और अन्य हक हकूकधारियों से चर्चा करेगा। आम सहमति बनने के बाद यात्रा शुरू की जाएगी। कितने श्रद्धालु यात्रा में आ सकते हैं, इसके लिए प्रोटोकॉल तय किया जाएगा।

गाइडलाइन में यह भी स्पष्ट निर्देश है कि कोरोना संक्रमण को लेकर स्वास्थ्य सुरक्षा को मानकों का पूरी तरह से अनुपालन होगा। यात्रा शुरू करने से पहले उसका पूरी तरह से प्रचार किया जाएगा। इसके साथ यात्रा के दौरान श्रद्धालुओं के लिए तय प्रावधानों के बारे भी जानकारी दी जाएगी। उड़ान योजना के तहत हेलीकॉप्टर से सवारी के लिए भी दिशा-निर्देश दिए गए हैं। इसके लिए सिविल एविएशन अलग से एसओपी जारी करेगा।


आगे पढ़ें

अन्य राज्यों के श्रद्धालु नहीं आ सकेंगे

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *