स्पोर्ट्स डेस्क, अमर उजाला
Updated Wed, 27 May 2020 12:13 PM IST

टी-20 विश्व कप
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

इस साल ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर अक्तूबर-नवंबर में होने वाले टी-20 विश्व कप को 2022 तक के लिए टाला जा सकता है। हालांकि अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है, लेकिन ICC के सूत्रों की मानें तो कोरोना संकट को देखते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कल होने वाली बैठक में इस फैसले पर मुहर लग सकती है।
 

IPL के लिए खुशखबरी

अक्तूबर में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आयोजन को औपचारिक रूप दिए जाने की संभावना है। कोविड-19 महामारी के कारण बनी परिस्थितियों में अगर इसे औपचारिक रूप दे दिया जाता है तो इस फैसले से सदस्यों को आगामी महीनों के लिए अपनी द्विपक्षीय श्रृंखलाओं का खाका तैयार करने में मदद मिलेगी। ICC बोर्ड के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘इसकी पूरी संभावना है कि गुरुवार को होने वाली बैठक के दौरान टी20 विश्व कप को स्थगित करने का फैसला किया जाए, लेकिन सवाल यह है कि वहां औपचारिक घोषणा की जाएगी या नहीं।’

पीटीआई ने 15 मई की अपनी रिपोर्ट में कहा था कि क्रिस टेटले की अगुवाई वाली आईसीसी प्रतियोगिता समिति कई विकल्प सामने रखेगी और इसमें एक विकल्प यह हो सकता है कि सदस्य ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेंट को अक्टूबर–नवंबर 2022 तक स्थगित कर सकते हैं जबकि भारत 2021 में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार टी-20 विश्व कप की मेजबानी करेगा। इसका यह भी निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि भारत इस साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगा क्योंकि सदस्य देश महामारी के कारण पैदा हुए वित्तीय संकट से उबरने के लिए द्वपिक्षीय श्रृंखलाओं को प्राथमिकता दे सकते हैं।

बोर्ड के सदस्य ने यह भी कहा कि यह केवल सदस्य देशों से ही नहीं बल्कि प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स से जुड़ा मुद्दा भी है जिसके पास संयोग से आईसीसी प्रतियोगिताओं के साथ साथ भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और आईपीएल के भी प्रसारण अधिकार हैं।

बीसीसीआई प्रसारण करार से जुड़े एक सूत्र ने कहा, ‘कुछ सवाल है जिन पर गौर करने की जरूरत है। इनमें फरवरी-मार्च 2021 में टी-20 विश्व कप के आयोजन की व्यावसायिक व्यावहार्यता है। इससे पहले अक्टूबर-नवंबर में आईपीएल का आयोजन फिर अगला आईपीएल मार्च से मई के बीच आयोजित करना शामिल है। इस तरह से हम छह महीने के अंदर तीन बड़ी प्रतियोगिताओं के आयोजन पर ध्यान दे रहे हैं।’

भारत निश्चित तौर पर ऑस्ट्रेलिया जाएगा और इंग्लैंड पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिए भारत आएगा। जहां तक दक्षिण अफ्रीका में टी20 श्रृंखला का सवाल है तो यह दक्षिण अफ्रीका को फैसला करने दो कि जहां तक आईसीसी के नीतिगत मामले हैं, उनमें उसकी स्थिति क्या है।

सार

  • कल यानी 28 मई को होनी है ICC की बेहद अहम बैठक
  • इस साल ऑस्ट्रेलिया में 18 अक्तूबर से 15 नवंबर के बीच होना है वर्ल्ड टी-20
  • IPL का आयोजन भारत में उस समय कोरोना की स्थिति पर निर्भर करेगा
  • यह टूर्नामेंट पांच सप्ताह के अंदर आयोजित किया जा सकता है
  • आईसीसी के नए चेयरमैन के लिए नामांकन प्रक्रिया जल्द ही शुरू होगी
  • इंग्लैंड एंव वेल्स क्रिकेट बोर्ड के पूर्व चेयरमैन कोलिन ग्रेव्स बड़े दावेदार माना
  • बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली भी इसकी दौड़ में शामिल हो सकते हैं

विस्तार

इस साल ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर अक्तूबर-नवंबर में होने वाले टी-20 विश्व कप को 2022 तक के लिए टाला जा सकता है। हालांकि अभी तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है, लेकिन ICC के सूत्रों की मानें तो कोरोना संकट को देखते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए कल होने वाली बैठक में इस फैसले पर मुहर लग सकती है।

 

IPL के लिए खुशखबरी

अक्तूबर में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आयोजन को औपचारिक रूप दिए जाने की संभावना है। कोविड-19 महामारी के कारण बनी परिस्थितियों में अगर इसे औपचारिक रूप दे दिया जाता है तो इस फैसले से सदस्यों को आगामी महीनों के लिए अपनी द्विपक्षीय श्रृंखलाओं का खाका तैयार करने में मदद मिलेगी। ICC बोर्ड के एक अधिकारी ने गोपनीयता की शर्त पर पीटीआई से कहा, ‘इसकी पूरी संभावना है कि गुरुवार को होने वाली बैठक के दौरान टी20 विश्व कप को स्थगित करने का फैसला किया जाए, लेकिन सवाल यह है कि वहां औपचारिक घोषणा की जाएगी या नहीं।’

पीटीआई ने 15 मई की अपनी रिपोर्ट में कहा था कि क्रिस टेटले की अगुवाई वाली आईसीसी प्रतियोगिता समिति कई विकल्प सामने रखेगी और इसमें एक विकल्प यह हो सकता है कि सदस्य ऑस्ट्रेलिया में होने वाले टूर्नामेंट को अक्टूबर–नवंबर 2022 तक स्थगित कर सकते हैं जबकि भारत 2021 में पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार टी-20 विश्व कप की मेजबानी करेगा। इसका यह भी निष्कर्ष निकाला जा सकता है कि भारत इस साल के आखिर में ऑस्ट्रेलिया का दौरा करेगा क्योंकि सदस्य देश महामारी के कारण पैदा हुए वित्तीय संकट से उबरने के लिए द्वपिक्षीय श्रृंखलाओं को प्राथमिकता दे सकते हैं।

बोर्ड के सदस्य ने यह भी कहा कि यह केवल सदस्य देशों से ही नहीं बल्कि प्रसारक स्टार स्पोर्ट्स से जुड़ा मुद्दा भी है जिसके पास संयोग से आईसीसी प्रतियोगिताओं के साथ साथ भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) और आईपीएल के भी प्रसारण अधिकार हैं।

बीसीसीआई प्रसारण करार से जुड़े एक सूत्र ने कहा, ‘कुछ सवाल है जिन पर गौर करने की जरूरत है। इनमें फरवरी-मार्च 2021 में टी-20 विश्व कप के आयोजन की व्यावसायिक व्यावहार्यता है। इससे पहले अक्टूबर-नवंबर में आईपीएल का आयोजन फिर अगला आईपीएल मार्च से मई के बीच आयोजित करना शामिल है। इस तरह से हम छह महीने के अंदर तीन बड़ी प्रतियोगिताओं के आयोजन पर ध्यान दे रहे हैं।’

भारत निश्चित तौर पर ऑस्ट्रेलिया जाएगा और इंग्लैंड पांच मैचों की टेस्ट श्रृंखला के लिए भारत आएगा। जहां तक दक्षिण अफ्रीका में टी20 श्रृंखला का सवाल है तो यह दक्षिण अफ्रीका को फैसला करने दो कि जहां तक आईसीसी के नीतिगत मामले हैं, उनमें उसकी स्थिति क्या है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *