न्यूज डेस्क, अमर उजाला, कोलकाता
Updated Fri, 29 May 2020 05:59 PM IST

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (फाइल फोटो)
– फोटो : एएनआई

ख़बर सुनें

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री कोरोना वायरस प्रबंधन को लेकर केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साध रही हैं। अब ममता बनर्जी ने कहा है कि भारतीय रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन के नाम पर ‘कोरोना एक्सप्रेस’ ट्रेन चला रही है। वहीं, उन्होंने राज्य में धार्मिक स्थलों को खोलने की भी अनुमति दे दी है।

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने सवाल उठाया कि हजारों प्रवासी मजदूरों को रेलवे एक ही ट्रेन से क्यों भेज रहा है? उन्होंने पूछा कि सरकार और ज्यादा संख्या में ट्रेन क्यों नहीं चला रही है?

ममता ने कहा कि पश्चिम बंगाल में पिछले दो महीने से कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता मिलेगी। लेकिन अब मामले बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि बड़ी संख्या में लोग लौट रहे हैं। 

एक जून से खुलेंगे धार्मिक स्थल, आठ से कार्यालय

इसके साथ ही ममता ने राज्य में धार्मिक स्थलों को खोले जाने की अनुमति भी दे दी। बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में एक जून से धार्मिक स्थलों को खोला जा सकता है, लेकिन किसी भी तरह के धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं होगी। 

सीएम ममता ने कहा कि सभी निजी, सार्वजनिक और सरकारी क्षेत्र के कार्यालय आठ जून से खुलेंगे। सभी चाय और जूट इंडस्ट्री एक जून से पूरी तरह काम करना शुरू कर देगी।

राज्य से सभी चाय और जूट उद्योग भी एक जून से संचालित होने लगेंगे। बनर्जी ने कहा मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारों समेत सभी धार्मिक स्थल खुलेंगे, लेकिन 10 से ज्यादा लोगों को एक साथ जमा होने की अनुमति नहीं जी जाएगी और इन स्थलों पर कोई कार्यक्रम नहीं होगा। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री कोरोना वायरस प्रबंधन को लेकर केंद्र सरकार पर लगातार निशाना साध रही हैं। अब ममता बनर्जी ने कहा है कि भारतीय रेलवे श्रमिक स्पेशल ट्रेन के नाम पर ‘कोरोना एक्सप्रेस’ ट्रेन चला रही है। वहीं, उन्होंने राज्य में धार्मिक स्थलों को खोलने की भी अनुमति दे दी है।

तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता बनर्जी ने सवाल उठाया कि हजारों प्रवासी मजदूरों को रेलवे एक ही ट्रेन से क्यों भेज रहा है? उन्होंने पूछा कि सरकार और ज्यादा संख्या में ट्रेन क्यों नहीं चला रही है?

ममता ने कहा कि पश्चिम बंगाल में पिछले दो महीने से कोरोना वायरस संक्रमण को नियंत्रित करने में सफलता मिलेगी। लेकिन अब मामले बढ़ रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि बड़ी संख्या में लोग लौट रहे हैं। 

एक जून से खुलेंगे धार्मिक स्थल, आठ से कार्यालय

इसके साथ ही ममता ने राज्य में धार्मिक स्थलों को खोले जाने की अनुमति भी दे दी। बनर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में एक जून से धार्मिक स्थलों को खोला जा सकता है, लेकिन किसी भी तरह के धार्मिक आयोजन की अनुमति नहीं होगी। 

सीएम ममता ने कहा कि सभी निजी, सार्वजनिक और सरकारी क्षेत्र के कार्यालय आठ जून से खुलेंगे। सभी चाय और जूट इंडस्ट्री एक जून से पूरी तरह काम करना शुरू कर देगी।

राज्य से सभी चाय और जूट उद्योग भी एक जून से संचालित होने लगेंगे। बनर्जी ने कहा मंदिर, मस्जिद और गुरुद्वारों समेत सभी धार्मिक स्थल खुलेंगे, लेकिन 10 से ज्यादा लोगों को एक साथ जमा होने की अनुमति नहीं जी जाएगी और इन स्थलों पर कोई कार्यक्रम नहीं होगा। 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *