ख़बर सुनें

रेल भवन का एक और कर्मचारी सोमवार को कोरोना संक्रमित पाया गया। इसके चलते रेल भवन को फिर से 28 मई तक के लिए बंद कर दिया गया है। कुछ दिन पहले भी एक कर्मी पॉजिटिव पाया गया था और रेल भवन को दो दिन के लिए बंद किया गया था। दो हफ्ते के अंदर कुल पांच कर्मचारी रेल भवन में संक्रमित पाए जा चुके हैं। 

अधिकारियों ने बताया कि चतुर्थ श्रेणी का यह कर्मचारी पिछले मंगलवार तक कार्यालय आया था। इस कर्मचारी के संपर्क में आए 14 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। रेल भवन में ऐसी चर्चा है कि यह कर्मचारी फाइलों को एक जगह से दूसरी जगह लाने ले जाने का काम करता था। 

पांचवां मामला पाए जाने के बाद एक आदेश में कहा गया कि हाल ही में रेलवे बोर्ड के कुछ अधिकारी भी कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसे देखते हुए रेल भवन स्थित सभी कार्यालयों को 26 और 27 मई को बंद रखने का फैसला लिया गया। 

इस दौरान कमरों और कॉमन एरिया को सैनिटाइज किया जाएगा। रेल भवन की चौथी मंजिल पर स्थित कार्यालयों को शुक्रवार को भी बंद रखा जाएगा ताकि डिसइंफेक्शन का काम किया जा सके। 

रेलवे सूत्रों के अनुसार यह कर्मचारी कुल 14 लोगों के संपर्क में था लिहाजा सभी को क्वारंटीन किया गया है। रेलभवन में इस बात की चर्चा है कि चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी फाइल को एक जगह से दूसरी जगह तक पहुंचाता था। ऐसे में यह फाईल रेल मंत्री, रेलवे बोर्ड अध्यक्ष के कार्यालय तकं भी पहुंची होगी।

इसके पहले भी रेल भवन में 22 मई को एक वरिष्ठ अधिकारी भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था। यह अधिकारी रेलवे रक्षा बल सेवा के कैडर पुनर्गठन का काम करते थे।

रेल भवन को सैनिटाइज करने के लिए बंद कर दिया गया है। एक अधिकारी ने कहा कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति के पास कई सारी फाइल होती थीं तो रेलवे बोर्ड कार्यालय तक जाती थी। 29 मई तक रेल भवन बंद रहेगा। इस दौरान पूरे भवन को संक्रमण मुक्त किया जाएगा।

सार

रेल भवन दो दिन के लिए बंद
कुछ दिन पहले भी एक कर्मी पॉजिटिव पाया गया था
दो हफ्ते के अंदर कुल पांच कर्मचारी रेल भवन में संक्रमित पाए जा चुके हैं

विस्तार

रेल भवन का एक और कर्मचारी सोमवार को कोरोना संक्रमित पाया गया। इसके चलते रेल भवन को फिर से 28 मई तक के लिए बंद कर दिया गया है। कुछ दिन पहले भी एक कर्मी पॉजिटिव पाया गया था और रेल भवन को दो दिन के लिए बंद किया गया था। दो हफ्ते के अंदर कुल पांच कर्मचारी रेल भवन में संक्रमित पाए जा चुके हैं। 

अधिकारियों ने बताया कि चतुर्थ श्रेणी का यह कर्मचारी पिछले मंगलवार तक कार्यालय आया था। इस कर्मचारी के संपर्क में आए 14 लोगों को क्वारंटीन किया गया है। रेल भवन में ऐसी चर्चा है कि यह कर्मचारी फाइलों को एक जगह से दूसरी जगह लाने ले जाने का काम करता था। 

पांचवां मामला पाए जाने के बाद एक आदेश में कहा गया कि हाल ही में रेलवे बोर्ड के कुछ अधिकारी भी कोरोना संक्रमित पाए गए थे। इसे देखते हुए रेल भवन स्थित सभी कार्यालयों को 26 और 27 मई को बंद रखने का फैसला लिया गया। 

इस दौरान कमरों और कॉमन एरिया को सैनिटाइज किया जाएगा। रेल भवन की चौथी मंजिल पर स्थित कार्यालयों को शुक्रवार को भी बंद रखा जाएगा ताकि डिसइंफेक्शन का काम किया जा सके। 

रेलवे सूत्रों के अनुसार यह कर्मचारी कुल 14 लोगों के संपर्क में था लिहाजा सभी को क्वारंटीन किया गया है। रेलभवन में इस बात की चर्चा है कि चतुर्थ श्रेणी का कर्मचारी फाइल को एक जगह से दूसरी जगह तक पहुंचाता था। ऐसे में यह फाईल रेल मंत्री, रेलवे बोर्ड अध्यक्ष के कार्यालय तकं भी पहुंची होगी।

इसके पहले भी रेल भवन में 22 मई को एक वरिष्ठ अधिकारी भी कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया था। यह अधिकारी रेलवे रक्षा बल सेवा के कैडर पुनर्गठन का काम करते थे।

रेल भवन को सैनिटाइज करने के लिए बंद कर दिया गया है। एक अधिकारी ने कहा कि कोरोना से संक्रमित व्यक्ति के पास कई सारी फाइल होती थीं तो रेलवे बोर्ड कार्यालय तक जाती थी। 29 मई तक रेल भवन बंद रहेगा। इस दौरान पूरे भवन को संक्रमण मुक्त किया जाएगा।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *