न्यूज डेस्क, अमर उजाला, भोपाल
Updated Mon, 08 Jun 2020 06:25 PM IST

अस्पताल का बिल न चुकाने पर बुजुर्ग को पलंग से बांधा गया (फाइल फोटो)
– फोटो : एएनआई

ख़बर सुनें

मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले के एक अस्पताल में बिल न जमा करने पर बुजुर्ग मरीज को पलंग से बांधने की घटना पर अब जिला प्रशासन के कार्रवाई की है। नर्सिंग होम का रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया है और इसे सील कर दिया गया है। इसके साथ ही नर्सिंग होम के मैनेजर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। शाजापुर के जिला कलेक्टर ने बताया कि यहां भर्ती मरीजों को जिला अस्पताल ले जाया गया है। 
 

जिले के एक अस्पताल में एक बुजुर्ग मरीज को इलाज का बिल जमा नहीं करने पर पलंग से बांधकर रखा गया। बुजुर्ग के परिजनों ने आरोप लगाया है कि 11 हजार रुपये का भुगतान न करने पर अस्पताल कर्मियों ने मरीज के हाथ-पैर बांध उसे पलंग से बांध दिया। इस मामले में खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शाजापुर स्थित अस्पताल के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही थी। 

अस्पताल का बिल न चुकाने पर बुजुर्ग को पलंग से बांधा, जांच के आदेश

हालांकि, अस्पताल ने दावा किया था कि मरीज को ऐंठन हो रही थी और इस कारण उसके हाथ और पैर बंधे हुए थे ताकि वह खुद को चोट न पहुंचा सके। अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा कि इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन के कारण मरीज को ऐंठन हो रही थी। हमने उन्हें बांध दिया ताकि वह खुद को चोट न पहुंचा सके। डॉक्टर ने यह भी कहा कि अस्पताल ने मानवीय आधार पर उनका बिल माफ कर दिया था। 

मध्यप्रदेश के शाजापुर जिले के एक अस्पताल में बिल न जमा करने पर बुजुर्ग मरीज को पलंग से बांधने की घटना पर अब जिला प्रशासन के कार्रवाई की है। नर्सिंग होम का रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया है और इसे सील कर दिया गया है। इसके साथ ही नर्सिंग होम के मैनेजर के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है। शाजापुर के जिला कलेक्टर ने बताया कि यहां भर्ती मरीजों को जिला अस्पताल ले जाया गया है। 

 

जिले के एक अस्पताल में एक बुजुर्ग मरीज को इलाज का बिल जमा नहीं करने पर पलंग से बांधकर रखा गया। बुजुर्ग के परिजनों ने आरोप लगाया है कि 11 हजार रुपये का भुगतान न करने पर अस्पताल कर्मियों ने मरीज के हाथ-पैर बांध उसे पलंग से बांध दिया। इस मामले में खुद मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शाजापुर स्थित अस्पताल के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की बात कही थी। 

अस्पताल का बिल न चुकाने पर बुजुर्ग को पलंग से बांधा, जांच के आदेश

हालांकि, अस्पताल ने दावा किया था कि मरीज को ऐंठन हो रही थी और इस कारण उसके हाथ और पैर बंधे हुए थे ताकि वह खुद को चोट न पहुंचा सके। अस्पताल के एक डॉक्टर ने कहा कि इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन के कारण मरीज को ऐंठन हो रही थी। हमने उन्हें बांध दिया ताकि वह खुद को चोट न पहुंचा सके। डॉक्टर ने यह भी कहा कि अस्पताल ने मानवीय आधार पर उनका बिल माफ कर दिया था। 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *