न्यूजीलैंड के फैंस को चाहिए आजादी!

1955 में इंग्लैंड (England) के खिलाफ टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड (New Zealand) के नाम हुआ था शर्मनाक रिकॉर्ड

नई दिल्ली. न्यूजीलैंड (New Zealand) की टीम ने साल 1955 में एक ऐसा अनचाहा रिकॉर्ड अपने नाम किया था जो आज भी वहां के क्रिकेट फैंस के लिए एक बुरा सपना है. सालों से वहां क्रिकेट को पसंद करने वाले इस इंतजार में है कि किसी तरह उनके ऊपर से यह कलंक हटा जाए. 1955 में इंग्लैंड के खिलाफ हुए टेस्ट मैच में न्यूजीलैंड (New Zealand) की टीम केवल 26 रन बनाकर ऑलआउट हो गई थी जो आज तक टेस्ट क्रिकेट का न्यूनतम स्कोर है. कोई भी टीम इस रिकॉर्ड को अपने नाम नहीं करना चाहती औऱ सालों से कीवी फैंस इस शर्मनाक रिकॉर्ड का बोझ उठा रहे हैं.

1955 में ऑकलैंड में खेला गया था ऐतिहासिक मुकाबला
25 मार्च 1955 को इंग्लैंड (England) और न्यूजीलैंड (Newzealand) के बीच ऑकलैंड में टेस्ट मैच की शुरुआत हुई. यह टेस्ट इंग्लैंड के कप्तान और दिग्गज बल्लेबाज लेन हटन का यह आखिरी टेस्ट मैच था औऱ टीम उन्हें जीत के साथ विदाई देना चाहती थी. न्यूजीलैंड ने अपनी पहली पारी में 200 रन बनाए. जॉन रीड 73 रन बनाए और सलामी बल्लेबाज बेट सटक्लिफ ने 49 रनों की पारी खेली. इंग्लैंड की ओर से ब्रायन स्टेथम ने चार विकेट लिए. इग्लैंड ने अपनी पहली पारी में 246 रन बनाए. कप्तान हेटन नें संभलकर बल्लेबाजी करते हुए 143 गेंद पर 53 रन की पारी खेली. वहीं पीटर मे ने 48 रन बनाए. न्यूजीलैंड की 46 रन से पिछड़ रही थी.

27 ओवर में न्यूजीलैंड ने बनाए 26 रनटीम को छह के स्कोर पर गॉरडन लोगार्ट के रूप में पहला झटका लगा. तेज गेंदबाज फ्रेंक टायसन ने उन्हें हटन के हाथों कैच आउट करवाया. इसके बाद टीम ताश के पत्तों की तरह बिखर गई. उसके चार बल्लेबाज खाता नहीं खोल पाए. सलामी बल्लेबाज ब्रेट सटक्लिफ ने 11 रन बनाए और उनके अलावा किसी ने दहाई का आंकड़ा भी नहीं छुआ. पूरी टीम 27 ओवर में केवल 26 रन ही बना पाई. इंग्लैंड की ओर से ब्रायन स्थातम ने तीन, बॉब एपलयार्ड ने चार विकेट, फ्रैंक टायसन ने जो और जॉनी वर्डल ने एक विकेट हासिल किया. इंग्लैंड ने मुकाबला पारी और 20 रन से जीता. और इसके साथ ही दो टेस्ट मैचों की सीरीज भी 2-0 से अपने नाम की.

न्यूजीलैंड के फैन कर रहे हैं रिकॉर्ड तोड़ने का इंतजार
कीवी टीम के समर्थकों के लिए बनाए गए ग्रुप के को फाउंडर हैं पॉल फोर्ड. पॉल ने बताया कैसे कीवी फैंस लंबे समय से इस इंतजार में है कि कोई टीम यह रिकॉर्ड तोड़े. उन्होंने कहा, ‘सच कहूं तो कीवी फैंस को बहुत खुशी होगी जिस दिन कोई और टीम हमसे यह रिकॉर्ड ले लेगी. साल 2018 में इंग्लैंड के खिलाफ मुकाबले में हमें लग रहा था कि कीवी टीम के ऊपर से दाग हट जाएगा. इंग्लैंड की टीम ने उस टेस्ट में 23 रन पर आठ विकेट खो चुकी थी, लेकिन ऐसा हुआ नहीं. हम हर गेंद को गेंद को देख रहे थे लेकिन शायद यह हमारी किस्मत में नहीं था. यह हमारे क्रिकेट इतिहास का एक हिस्सा बन चुका है.’

पाकिस्‍तान को दिलाया बड़ा खिताब, फिर ‘मोटा’ कहकर किया बाहर, भारत से है खास रिश्‍ता

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए क्रिकेट से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.


First published: May 22, 2020, 11:21 AM IST

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *