ख़बर सुनें

लखनऊ के अटल बिहारी बाजपेयी एकाना इंटरनेशनल स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी चौथे वन-डे के दौरान मिताली राज ने कमाल कर दिया। 38 वर्षीय भारतीय कप्तान अब एकदिवसीय क्रिकेट में सात हजार रन बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर बन गई हैं

 

सात हजार रन बनाने वाली महिला क्रिकेटर के सात बड़े रिकॉर्ड्स
 

पिछले मैच में ही वह 10 हजार अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाली दुनिया की दूसरी और भारत की एकमात्र महिला क्रिकेटर बनीं थीं।
 

सीरीज में दूसरे अर्धशतक से चूकीं
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैच की वन-डे सीरीज के पहले मुकाबले में उन्होंने 50 रन बनाए थे। दूसरे मैच में बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिला था। तीसरे वन-डे में 50 गेंद में 36 रन बनाकर आउट हुईं। हालिया मुकाबले में अच्छी लय में नजर आ रहीं थी, लेकिन 71 गेंद में 45 रन बनाकर आउट हो गईं।

312वें इंटरनेशनल मैच में किया कमाल
मिताली ने भारत की तरफ से जून 1999 में वन-डे के जरिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने अब तक 10 टेस्ट मैचों में 51.00 की औसत से 663 रन, वन-डे में 212 मैचों में 50.53 की औसत से 6,974 और टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 89 मैचों में 37.52 की औसत से 2,364 रन बनाए हैं। मिताली ने अपने करियर में रिकॉर्ड 75 अर्धशतक और आठ शतक जमाए हैं। इनमें से 54 अर्धशतक और सात शतक वन-डे में आए। टेस्ट मैचों में उन्होंने एकमात्र शतक (214 रन) इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में टॉटन में बनाया था।

चार्लोट एडवर्ड्स के नाम सबसे ज्यादा इंटरनेशनल रन
महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स के नाम हैं, जिन्होंने 10,273 रन बनाए। 2016 में अपने 20 साल लंबे करियर पर पूर्ण विराम लगाने वाली इस पूर्व महिला क्रिकेटर ने 191 वन-डे में 5,992, 23 टेस्ट में 1,676 रन और 95 टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 2,605 रन बनाए हैं।

लखनऊ के अटल बिहारी बाजपेयी एकाना इंटरनेशनल स्टेडियम में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जारी चौथे वन-डे के दौरान मिताली राज ने कमाल कर दिया। 38 वर्षीय भारतीय कप्तान अब एकदिवसीय क्रिकेट में सात हजार रन बनाने वाली पहली महिला क्रिकेटर बन गई हैं

 

सात हजार रन बनाने वाली महिला क्रिकेटर के सात बड़े रिकॉर्ड्स

 

पिछले मैच में ही वह 10 हजार अंतरराष्ट्रीय रन बनाने वाली दुनिया की दूसरी और भारत की एकमात्र महिला क्रिकेटर बनीं थीं।

 


सीरीज में दूसरे अर्धशतक से चूकीं

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पांच मैच की वन-डे सीरीज के पहले मुकाबले में उन्होंने 50 रन बनाए थे। दूसरे मैच में बल्लेबाजी का मौका ही नहीं मिला था। तीसरे वन-डे में 50 गेंद में 36 रन बनाकर आउट हुईं। हालिया मुकाबले में अच्छी लय में नजर आ रहीं थी, लेकिन 71 गेंद में 45 रन बनाकर आउट हो गईं।

312वें इंटरनेशनल मैच में किया कमाल

मिताली ने भारत की तरफ से जून 1999 में वन-डे के जरिए अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पदार्पण किया था। उन्होंने अब तक 10 टेस्ट मैचों में 51.00 की औसत से 663 रन, वन-डे में 212 मैचों में 50.53 की औसत से 6,974 और टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 89 मैचों में 37.52 की औसत से 2,364 रन बनाए हैं। मिताली ने अपने करियर में रिकॉर्ड 75 अर्धशतक और आठ शतक जमाए हैं। इनमें से 54 अर्धशतक और सात शतक वन-डे में आए। टेस्ट मैचों में उन्होंने एकमात्र शतक (214 रन) इंग्लैंड के खिलाफ 2002 में टॉटन में बनाया था।

चार्लोट एडवर्ड्स के नाम सबसे ज्यादा इंटरनेशनल रन

महिला क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन इंग्लैंड की चार्लोट एडवर्ड्स के नाम हैं, जिन्होंने 10,273 रन बनाए। 2016 में अपने 20 साल लंबे करियर पर पूर्ण विराम लगाने वाली इस पूर्व महिला क्रिकेटर ने 191 वन-डे में 5,992, 23 टेस्ट में 1,676 रन और 95 टी-20 अंतरराष्ट्रीय में 2,605 रन बनाए हैं।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *