• मारुति ने Buy-Now-Pay-Later स्कीम के लिए चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट कंपनी से पार्टनरशिप की
  • ऑफर फिलहाल चुनिंदा मॉडल्स पर उपलब्ध है और 30 जून 2020 तक लोन डिस्बर्समेंट होने तक ही मान्य है
  • ग्राहक 90 प्रतिशत तक ऑन-रोड फंडिंग के लिए उच्च ऋण का लाभ उठा सकते हैं

दैनिक भास्कर

May 22, 2020, 04:15 PM IST

नई दिल्ली. लॉकडाउम के कारण नगदी संकट का सामना करने वाले ग्राहकों को आसान और कस्टमाइज्ड रिटेल फाइनेंस सुविधा प्रदान करने के लिए देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी ने चोलामंडलन इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी लिमिटेड से साझेदारी की है। मारुति ने कहा का इसके तहत ग्राहकों को ‘Buy-Now-Pay-Later’ की सुविधा मुहैया कराई जाएगी। इस पार्टनरशिप के तहत कंपनी ऐसे ग्राहकों को दो महीने की ईएमआई भुगतान करने की छूट भी दे रही है, जो कोरोना के कारण नकदी संकट में है ताकि उनकी जेब पर तत्काल अतिरिक्त दबाव न पड़े।
उन्होंने बताया कि नई सुविधा में ग्राहक लोन प्राप्त होने के 60 दिन बाद से किस्त शुरू करने की सुविधा मिलेगी। यह ऑफर फिलहाल चुनिंदा मॉडल्स पर उपलब्ध है और 30 जून 2020 तक लोन डिस्बर्समेंट होने तक ही मान्य है।

जेब पर तत्काल अतिरिक्त दबाव नहीं पड़ेगा- मारुति
पार्टनरशिप पर बोलते हुए, मारुति सुजुकी इंडिया के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर (मार्केटिंग एंड सेल्स) शशांक श्रीवास्तव ने कहा, “इसका उद्देश्य उन खरीदारों को आराम देना है, जिन्होंने कोविड-19 लॉकडाउन के दौरान नगदी की कमी का सामना किया हो। मुझे यकीन है कि ‘Buy-Now-Pay-Later’ ऑफर ग्राहकों को अपनी जेब पर तत्काल अतिरिक्त दबाव डाले बिना कार खरीदने के लिए प्रोत्साहित करेगा।”

90 प्रतिशत तक ऑन-रोड फंडिंग का लाभ उठा सकेंगे ग्राहक
चोलामंडलम इन्वेस्टमेंट एंड फाइनेंस कंपनी लिमिटेड के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर रविंद्र कुंडू ने कहा कि संगठनों के बीच तालमेल का उद्देश्य ग्राहकों को लाभ पहुंचाने के लिए ध्यान केंद्रित करना है। उन्होंने कहा, “यह साझेदारी हमें कार फाइनेंसिंग स्पेस में एक मजबूत मुकाम देगी, हमारी 1,094 शाखाएं अर्ध शहरी और ग्रामीण बाजारों में फैली हैं,” उन्होंने कहा। साझेदारी के माध्यम से, ग्राहक 90 प्रतिशत तक ऑन-रोड फंडिंग के लिए उच्च ऋण का लाभ उठा सकते हैं और लंबे समय तक पुनर्भुगतान का विकल्प चुन सकते हैं।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *