• कंपनी के प्रमोटर नेे एसबीआई सहित 6 बैंकों से कर्ज लिया था
  • शिकायत पर पहले गिरफ्तार भी हुए थे कंपनी के प्रमोटर

दैनिक भास्कर

09 मई, 2020, दोपहर 02:42 PM IST

मुंबई। देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) और 5 अन्य बैंकों से 411 करोड़ रुपये के साथ तीन प्रमोटर देश छोड़कर भाग गए।) यह तीनों प्रमोटर रामदेव इंटरनेशल कंपनी चला रहे हैं। इसकी शिकायत बैंक ने सीबीआई में दर्ज कराई थी और यह सभी प्रमोटर गिरफ्तार भी हुए थे।

कैनरा बैंक, यूनियन बैंक, आईडीबीआई बैंक ने भी कर्ज दिया था

जानकारी के मुताबिक रामदेव इंटरनेशनल के तीन प्रमोटरों ने एसबीआई सहित 6 बैंकों के कंसोर्शियम से 411 करोड़ रुपये का कर्ज लिया है। इसमें से 173 करोड़ रुपये का कर्ज एसबीआई ने दिया है। एसबीआई के अलावा बैंकों के इस कंसोर्शियम में सभी सरकारी बैंक हैं जिनमें कैनरा बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, आईडीबीआई बैंक, सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया और कोर्प बैंक का समावेश है। तीनों प्रमोटर नरेश कुमार, सुरेश कुमार और संगीता इस कंपनी के जरिए बासमती चावल का निर्यात करते हैं। यह एक्स मुख्य रूप से पश्चिम एशियाई और यूरोपियन देशों में किया जाता है।

कंपनी ने प्लांट से मशीन भी निकाल ली थी

एसबीआई ने शिकायत में कहा है कि हरियाणा स्थित उक्त कंपनी के पास करनाल जिले में 3 राइस मिल और 8 सॉर्टिंग और ग्रेडिंग इकाईयां हैं। कंपनी की सउदी अरबिया और दुबई में भी कारोबार के लिए कार्यालय है। एसबीआई की शिकायत के मुताबिक 27 जनवरी 2016 को ही उस खाते को एनपीए घोषित कर दिया गया था। जानकारी के मुताबिक सीबीआई जांच में मदद ना करने की स्थिति में आरोपियों को समन सेंगी और उनके खिलाफ उचित कानूनी कार्रवाई होगी। बैंक ने संयुक्त रूप से अग और अक्टूबर में कंपनी की प्रॉपर्टी का निरीक्षण किया था। तब पता चला कि प्रमोटर फरार हैं। बैंक ने शिकायत में कहा है कि प्रमोटर ने प्लांट से मशीनों को हटा लिया था और बैलेंसशीट को भी फर्जी बनाया गया था।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *