• ब्लैकरॉक ने इस साल में 13.3 अरब डॉलर की पूंजी जुटाई है
  • जियो प्लेटफॉर्म में फेसबुक ने 43,574 करोड़ निवेश किया

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 04:00 PM IST

मुंबई. विश्व की तमाम लिस्टेड कंपनियों में भारत की रिलायंस इंडस्ट्रीज साल 2020 में पूंजी जुटाने के मामले में पहले नंबर पर है। इस कंपनी ने इस साल अब तक इक्विटी बेचकर सबसे ज्यादा पैसा जुटाया है। आंकड़े बताते हैं कि मुकेश अंबानी की इस कंपनी ने इक्विटी ऑफरिंग के जरिए 18.4 अरब डॉलर की राशि जुटाई है। इसके बाद अमेरिका की मनी मैनेजर ब्लैकरॉक है, जिसने इसी अवधि में 13.3 अरब डॉलर की राशि जुटाई है।

कई और कंपनियों ने इस साल जुटाई ज्यादा पूंजी

आंकड़े बताते हैं कि तीसरे नंबर पर रीजनरोन फार्मा है, जिसने साल 2020 में 11 अरब डॉलर की राशि इक्विटी बेचकर जुटाई है। अन्य लिस्टेड कंपनियां, जिन्होंने अपनी इक्विटी बेचकर पूंजी जुटाई है उसमें प्रमुख रूप से सिंगापुर एयरलाइन, ब्राजील की पेट्रोब्रास और अमेरिका की साउथवेस्ट एयरलाइन का समावेश है।

राइट्स इश्यू से 53,125 करोड़ रुपए जुटाने की योजना

रिलायंस इंडस्ट्रीज अपने कर्ज को जीरो करने के लिए लगातार इक्विटी बेचकर पैसा जुटा रही है। कंपनी का 53,125 करोड़ रुपए का राइट्स इश्यू इस समय खुला हुआ है। यह 3 जून को बंद होगा। इसके अलावा कंपनी ने जियो प्लेटफॉर्म में 17 प्रतिशत हिस्सा अब तक अलग-अलग चरणों में बेचा है। इससे कंपनी को 78,562 करोड़ रुपए की पूंजी मिली है। इसमें से फेसबुक ने 43,574 करोड़ रुपए में 9.99 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। जबकि सिल्वर लेक ने 1.15 प्रतिशत हिस्सेदारी के लिए 5,665.75 करोड़ रुपए का भुगतान किया है।

कई कंपनियों ने जियो प्लेटफॉर्म में किया है निवेश

इसी तरह 8 मई को अमेरिका की विस्टा इक्विटी पार्टनर्स ने 11,367 करोड़ रुपए का निवेश जियो प्लेटफॉर्म में किया। इसने 2.32 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदी है। 17 मई को ग्लोबल इक्विटी कंपनी जनरल अटलांटिक ने 6,598 करोड़ रुपए का निवेश किया था। पांचवें सौदे में वैश्विक निवेश कंपनी के.के.आर एंड कंपनी ने 11,367 करोड़ रुपए में जियो का 2.32 प्रतिशत हिस्सा लिया था।

रिलायंस इंडस्ट्रीज पर 3,36,294 करोड़ का कर्ज

31 मार्च के आंकड़ों के मुताबिक रिलायंस इंडस्ट्रीज पर कुल 3,36,294 करोड़ रुपए का कर्ज था। उसके पास नकदी और इसके इक्विवलेंट में 1,75,259 करोड़ रुपए है। यानी उसका शुद्ध कर्ज 1,61,034 करोड़ रुपए है। भारतीय कंपनियों में रिलायंस इंडस्ट्रीज के अलावा जिन कंपनियों ने पूंजी जुटाई उसमें प्रमुख रूप से जीएसके फार्मा ने 26,000 करोड़ रुपए की पूंजी जुटाई। यह पूंजी उसने हिंदुस्तान यूनिलीवर के शेयरों को बेचकर जुटाया था।

भारती एयरटेल ने जुटाई 3 अरब डॉलर की पूंजी

भारती एयरटेल ने क्यूआईपी तथा ओवरसीज बांड के जरिए तीन अरब डॉलर की राशि जुटाई थी। एक वर्ष में सबसे बड़ी इक्विटी ऑफरिंग सउदी अरबिया की विशाल ऑयल कंपनी सउदी अरामको का था। पिछले साल दिसंबर महीने में इसने आईपीओ के जरिए 28.4 अरब डॉलर की राशि जुटाई थी। इससे पहले यह रिकॉर्ड अलीबाबा ग्रुप होल्डिंग्स के नाम था। इसने 2014 में 25 अरब डॉलर की राशि इक्विटी से जुटाई थी।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *