• वोडा-आइडिया का शेयर शुक्रवार को 35 प्रतिशत बढ़ा
  • दिसंबर तिमाही में कंपनी का घाटा 6,418 करोड़ रुपए था

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 02:08 PM IST

मुंबई. गूगल द्वारा वोडाफोन-आइडिया में 5 प्रतिशत की हिस्सेदारी खरीदने की खबरों ने इसके शेयरों में दम भरने का काम किया। इस बीच अगर गूगल 5 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदता है तो इससे बैंकिंग शेयरों पर भी पॉजिटिव असर दिख सकता है। कारण यह है कि वोडाफोन आइडिया में कई बैंकों का काफी सारा निवेश है।

एसबीआई का 11,000 करोड़ रुपए का है एक्सपोजर

आंकड़ों के मुताबिक देश के सबसे बड़े बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) का 11,000 करोड़ रुपए का एक्सपोजर वोडा-आइडिया में है। जबकि पंजाब नेशनल बैंक का 3,000 करोड़ रुपए का एक्सपोजर है। संकट के दौर से गुजर रहे यस बैंक का 4,000 करोड़ रुपए का एक्सपोजर है। आईओबी का 3,500 करोड़ रुपए जहां एक्सपोजर है वहीं आईडीएफसी फर्स्ट का 3240 करोड़ रुपए का एक्सपोजर है।

आईसीआईसीआई बैंक का 1,700 करोड़ का एक्सपोजर

आईसीआईसीआई बैंक का एक्सपोजर 1,700 करोड़ रुपए है। एक्सिस बैंक का 1,300 करोड़ रुपए है। जबकि एचडीएफसी बैंक का 1,000 करोड़ रुपए का एक्सपोजर है। एयूएम के लिहाज से सबसे ज्यादा आईडीएफसी फर्स्ट बैंक का एक्सपोजर है जो 3.05 प्रतिशत है। जबकि यस बैंक का 2.33 प्रतिशत है। बता दें कि इस समय कोविड-19 की वजह से बैंकों की हालत काफी खराब है।

बैंक पहले से ही असेट क्वालिटी का सामना कर रहे हैं

एक ओर जहां बैंकों के पास क्रेडिट की मांग नहीं है, वहीं दूसरी ओर उनकी बैलेंसशीट में इस साल एनपीए भयानक बढ़ेगा। इससे उनकी असेट क्वालिटी पर दबाव बढ़ेगा। अनुमान के मुताबिक बैंकों का एनपीए इस साल 2 से 6 प्रतिशत तक रह सकता है। सरकारी बैंकों के लिए इस समय ज्यादा दिक्कत है क्योंकि वे पहले से ही दबाव में हैं। उधर गूगल के निवेश की खबर से शुक्रवार को वोडा-आइडिया का शेयर बीएसई पर 35 प्रतिशत बढ़कर 7.75 रुपए तक चला गया था।

वोडा-आइडिया का शेयर 2.61 तक गया था

वोडा-आइडिया का 52 हफ्ते में 2.61 रुपए नीचे की ओर जबकि ऊपर की ओर 15 रुपए भाव रहा है। शुक्रवार को इस शेयर में भारी खरीदारी देखी गई। हाल में कई ब्रोकरेज रिपोर्ट में दावा किया गया था कि टैरिफ बढ़ने से टेलीकॉम सेक्टर के शेयरों में तेजी आ सकती है। वोडा-आइडिया का वित्तीय वर्ष 2018-19 में कुल राजस्व 36,858 करोड़ रुपए था जबकि 14,056 करोड़ रुपए का शुद्ध घाटा था। दिसंबर तिमाही में 11,029 करोड़ रुपए का राजस्व था। शुद्ध घाटा 6,418 करोड़ रुपए था।

हालांकि सितंबर तिमाही में इसे 10,804 करोड़ रुपए के राजस्व पर 49,727 करोड़ रुपए का घाटा हुआ था।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *