Irctc ट्रेन रेलवे कम से कम 90 मिनट पहले शीट तौलिया रीच स्टेशन नहीं देगी – रेलवे में कैसा होगा सफर, डेढ़ घंटे पहले पहुंचना होगा स्टेशन, यात्रियों के लिए ये दिशा-निर्देश हैं

Bytechkibaat7

May 12, 2020 , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , , ,


ख़बर सुनता है

भारतीय रेलवे मंगलवार से राजधानी दिल्ली से 15 स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू कर रहा है। रेलवे ने कहा है कि विशेष ट्रेनों की अगली सात दिन के लिए 16.15 करोड़ रुपये मूल्य की 45,533 से अधिक टिकट बुक की जाएगी। भारतीय रेल ने कुछ चुनिंदा उड़ानों पर यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करते हुए चलने वाली ट्रेनों के संबंध में नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसमें कम से कम डेढ़ घंटे पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना शामिल है।

यात्रियों को शीट और तौलिया नहीं मिलेगा
12 मई से यात्री ट्रेनों में सवार होने वालों को रेलवे पहले की तरह चादर, तौलिया, सामान्य भोजन, पेय आदि मुहैया नहीं कराएंगे। वर्तमान में यात्रियों को केवल डिब्बाबंद भोजन और सप्ताह सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा।

पहनावे अनिवार्य
भारतीय रेल का कहना है कि सभी यात्रियों के लिए स्पष्ट पहनना अनिवार्य होगा। ट्रेनों में सिर्फ विमानुलित श्रेणी के डिब्बे होंगे, किराया सामान्य राजधानी ट्रेन के अनुरूप होगा। भारतीय रेल ने अपने यात्रियों को सलाह दी है कि वे अपनी चादर, भोजन और पानी के साथ आते हैं, क्योंकि यात्रा के दौरान रेलवे उन्हें सिर्फ डिब्बाबंद भोजन देगी, जिसके लिए उन्हें भुगतान करना होगा।

यात्रा के लिए अनिवार्य रूप से आरोग्य सेतु उपकरण

इसके अतिरिक्त भारतीय रेलवे ने मंगलवार से शुरू हो रही विशेष यात्री ट्रेनों में यात्रा के लिए ‘आरोग्य सेतु एप’ को फोन में डाउनलोड करना ‘अनिवार्य कर दिया है। सोमवार को रेलवे ने इस उपकरण को फोन में रखने की सलाह दी थी, जो कि अनिवार्य नहीं था।

रेल मंत्रालय ने एक ट्वीट में कहा कि, ‘भारतीय रेलवे कुछ यात्री ट्रेन सेवा शुरू करने जा रहा है। यात्रा शुरू करने से पहले यात्रियों के लिए फोन में आरोग्य सेतु एप डाउनलोड करना अनिवार्य होगा। ‘ सूत्रों ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्य मंत्रियों की बैठक के बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने एक स्पष्ट संदेश में इसे अनिवार्य बना दिया। जिन यात्रियों के फोन में यह सामान नहीं होगा, उन्हें स्टेशन पहुंचने के बाद इसे डाउनलोड करने के लिए कहा जा सकता है।

हालांकि अभी तक इसको बारे स्पष्टता नहीं है क्योंकि सर्वोच्च न्यायालय ने एक निर्देश में इसे अनिवार्य बनाने को गैरकानूनी बताया है।

9.8 करोड़ का स्मार्टफोन डाउनलोड किया गया
मालूम हो कि आरोग्य सेतु एप को अब तक 9.8 करोड़ स्मार्टफोन में डाउनलोड किया जा चुका है। इसका इस्तेमाल सरकार द्वारा संक्रमण के मामलों में संपर्क का पता लगाने और उपयोगकर्ताओं को कानूनी सलाह देने में किया जा रहा है। गृह मंत्रालय ने कोविद -19 संक्रमण की अधिकता वाले क्षेत्र में भी इस एप को डाउनलोड करना जरूरी बताया है।

टिकटें रद्द करने का भी विकल्प है

सार्वजनिक परिवहन का कहना है कि इन ट्रेनों में अग्रिम आरक्षण अधिकतम सात दिन के लिए होगा, वर्तमान में आरएसी और वेटिंग टिकट जारी नहीं होगा, ट्रेन में टीटीई को किसी की टिकट बनाने की अनुमति नहीं होगी। भारतीय रेल ने टिकटें रद्द कराने का भी विकल्प दिया है।

इस संबंध में उनका कहना है कि यात्री ट्रेन के प्रस्थान से 24 घंटे पहले तक टिकट रद्द कर सकते हैं लेकिन टिकट रद्द होने पर कुलारे का 50 प्रतिशत शुल्क के रूप में काट लिया जाएगा। गौरतलब है कि उक्त विशेष ट्रेनें नई दिल्ली रेलवे स्टेशन से चलेंगी।

सिर्फ वेबसाइट से हो सकती है बुकिंग
सिर्फ आईआरसीओ की वेबसाइट के जरिए की जा सकती है। आरक्षण के दौरान प्राप्त टिकटों पर ‘क्या करें और क्या ना करें’ स्पष्ट रूप से लिखा जाएगा। केवल वैध आरक्षित टिकटधारकों को रेलवे स्टेशन में प्रवेश की अनुमति होगी। यात्रियों के लिए प्रस्थान बिंदु पर वर्क पहनना और स्वास्थ्य जांच अनिवार्य होगी, बस उन्हीं लोगों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी जिसमें वायरस से संक्रमण के कोई लक्षण नजर नहीं आएंगे। यात्रा के दौरान ट्रेन बेहद कम श्रेणियों में रुकेगी।

भारतीय रेलवे मंगलवार से राजधानी दिल्ली से 15 स्पेशल ट्रेनों का परिचालन शुरू कर रहा है। रेलवे ने कहा है कि विशेष ट्रेनों की अगली सात दिन के लिए 16.15 करोड़ रुपये मूल्य की 45,533 से अधिक टिकट बुक की जाएगी। भारतीय रेल ने कुछ चुनिंदा उड़ानों पर यात्री ट्रेन सेवाएं शुरू करते हुए चलने वाली ट्रेनों के संबंध में नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं, जिसमें कम से कम डेढ़ घंटे पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना शामिल है।

यात्रियों को शीट और तौलिया नहीं मिलेगा

12 मई से यात्री ट्रेनों में सवार होने वालों को रेलवे पहले की तरह चादर, तौलिया, सामान्य भोजन, पेय आदि मुहैया नहीं कराएंगे। वर्तमान में यात्रियों को केवल डिब्बाबंद भोजन और सप्ताह सैनिटाइजर उपलब्ध कराया जाएगा।

पहनावे अनिवार्य

भारतीय रेल का कहना है कि सभी यात्रियों के लिए स्पष्ट पहनना अनिवार्य होगा। ट्रेनों में सिर्फ विमानुलित श्रेणी के डिब्बे होंगे, किराया सामान्य राजधानी ट्रेन के अनुरूप होगा। भारतीय रेल ने अपने यात्रियों को सलाह दी है कि वे अपनी चादर, भोजन और पानी के साथ आते हैं, क्योंकि यात्रा के दौरान रेलवे उन्हें सिर्फ डिब्बाबंद भोजन देगी, जिसके लिए उन्हें भुगतान करना होगा।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *