न्यूज़ डेस्क, अमर उजाला, पिथौरागढ़
Updated Sat, 23 May 2020 04:17 PM IST

भारत नेपाल सीमा
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

सीमा विवाद के बीच नेपाल ने काठमांडू और कालापानी के बीच सड़क बनाने के लिए सर्वे की पहल शुरू कर दी है। नेपाल ने सर्वे के लिए पश्चिम नेपाल के घांटीबगर में शुक्रवार को एक टीम भेज दी है।

उत्तराखंड : भारत-नेपाल बॉर्डर विवाद के बाद पुलिस और खुफिया एजेंसियां सतर्क

नेपाली अखबारों में छपी खबरों के मुताबिक यहां सेना की एक प्लाटून की तैनाती भी होगी। उसी की निगरानी में निर्माण कार्य किया जाएगा। हालांकि कहा जा रहा है कि काठमांडू-महाकाली कॉरीडोर माइग्रेशन में जाने वाले नेपाली ग्रामीणों की सुविधा के लिए किया जा रहा है, लेकिन सीमा विवाद की छाया के बीच इसे सीमा पर निगरानी बढ़ाने के लिए उठाया जा रहा कदम माना जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक कॉरीडोर के तहत पिथौरागढ़ जिले के धारचूला से सटे नेपाल के दार्चुला-तिंकर तक सड़क बनाई जाएगी। इसकी कुल लंबाई 87 किमी होने का अनुमान है। इससे नेपाली सेना को गश्त और आपात स्थिति में सीमा पर शीघ्र पहुंचने में मदद मिलेगी। सूत्रों के अनुसार नेपाल ने भारत और चीन की सीमा पर स्थित छांगरु और तिनकर गांवों के लोगों को खलंगा में स्थानांतरित किया है।

सीमा विवाद के बीच नेपाल ने काठमांडू और कालापानी के बीच सड़क बनाने के लिए सर्वे की पहल शुरू कर दी है। नेपाल ने सर्वे के लिए पश्चिम नेपाल के घांटीबगर में शुक्रवार को एक टीम भेज दी है।

उत्तराखंड : भारत-नेपाल बॉर्डर विवाद के बाद पुलिस और खुफिया एजेंसियां सतर्क

नेपाली अखबारों में छपी खबरों के मुताबिक यहां सेना की एक प्लाटून की तैनाती भी होगी। उसी की निगरानी में निर्माण कार्य किया जाएगा। हालांकि कहा जा रहा है कि काठमांडू-महाकाली कॉरीडोर माइग्रेशन में जाने वाले नेपाली ग्रामीणों की सुविधा के लिए किया जा रहा है, लेकिन सीमा विवाद की छाया के बीच इसे सीमा पर निगरानी बढ़ाने के लिए उठाया जा रहा कदम माना जा रहा है।

सूत्रों के मुताबिक कॉरीडोर के तहत पिथौरागढ़ जिले के धारचूला से सटे नेपाल के दार्चुला-तिंकर तक सड़क बनाई जाएगी। इसकी कुल लंबाई 87 किमी होने का अनुमान है। इससे नेपाली सेना को गश्त और आपात स्थिति में सीमा पर शीघ्र पहुंचने में मदद मिलेगी। सूत्रों के अनुसार नेपाल ने भारत और चीन की सीमा पर स्थित छांगरु और तिनकर गांवों के लोगों को खलंगा में स्थानांतरित किया है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *