न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Sun, 07 Jun 2020 10:28 PM IST

सांकेतिक तस्वीर
– फोटो : पेक्सेल्स

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को दोबारा शुरू करने के मुद्दे पर नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि इस पर सरकार ने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन शुरू करने पर भारत तब कोई फैसला लेगा जब अन्य देश विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध में राहत देना शुरू करेंगे।  

पुरी ने ट्वीट किया, ‘जब विभिन्न देश विदेशी यात्रियों को अपने यहां प्रवेश पर लगे प्रतिबंधों को हटा लेंगे और उन्हें देश में आने की अनुमति दे देंगे तब अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के नियमित परिचालन पर निर्णय लिया जाएगा। गंतव्य देशों को आने वाली उड़ानों को रिसीव करने के लिए तैयार रहना होगा।’ 

बता दें कि जापान और सिंगापुर जैसे देशों ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को देखते हुए देश में विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर सख्त प्रतिबंध लगा रखे हैं। कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते करीब दो महीने बंद रहने के बाद भारत ने 25 मई से घरेलू उड़ानों का परिचालन शुरू कर दिया गया था। 

पुरी ने कहा कि अधिकतर देशों में  अंतरराष्ट्रीय संचालन 10 फीसदी से भी कम है, क्योंकि वह केवल अपने देश के नागरिकों को ही आने की अनुमति दे रहे हैं। इन देशों ने विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा रखा है। कई देश कुछ अन्य देशों से आने की अनुमति तो दे रहे हैं, लेकिन वहां क्वारंटीन जैसी शर्तें हैं।

अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को दोबारा शुरू करने के मुद्दे पर नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा है कि इस पर सरकार ने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है। उन्होंने कहा कि अंतरराष्ट्रीय उड़ानों का परिचालन शुरू करने पर भारत तब कोई फैसला लेगा जब अन्य देश विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर प्रतिबंध में राहत देना शुरू करेंगे।  

पुरी ने ट्वीट किया, ‘जब विभिन्न देश विदेशी यात्रियों को अपने यहां प्रवेश पर लगे प्रतिबंधों को हटा लेंगे और उन्हें देश में आने की अनुमति दे देंगे तब अंतरराष्ट्रीय उड़ानों के नियमित परिचालन पर निर्णय लिया जाएगा। गंतव्य देशों को आने वाली उड़ानों को रिसीव करने के लिए तैयार रहना होगा।’ 

बता दें कि जापान और सिंगापुर जैसे देशों ने कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को देखते हुए देश में विदेशी यात्रियों के प्रवेश पर सख्त प्रतिबंध लगा रखे हैं। कोरोना वायरस लॉकडाउन के चलते करीब दो महीने बंद रहने के बाद भारत ने 25 मई से घरेलू उड़ानों का परिचालन शुरू कर दिया गया था। 

पुरी ने कहा कि अधिकतर देशों में  अंतरराष्ट्रीय संचालन 10 फीसदी से भी कम है, क्योंकि वह केवल अपने देश के नागरिकों को ही आने की अनुमति दे रहे हैं। इन देशों ने विदेशी नागरिकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा रखा है। कई देश कुछ अन्य देशों से आने की अनुमति तो दे रहे हैं, लेकिन वहां क्वारंटीन जैसी शर्तें हैं।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *