न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Updated Sun, 07 Jun 2020 09:06 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

गुजरात में 19 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर सियासत तेज हो गई है। गुजरात कांग्रेस के 21 विधायक खरीद-फरोख्त से भय से बचने के लिए रविवार को राजस्थान के आबू रोड के एक रिसोर्ट में पहुंचे। पार्टी के एक नेता ने बताया कि गुजरात कांग्रेस के 21 विधायक आबू रोड के रिसोर्ट में रूके हुए हैं। उत्तर गुजरात से सोमवार को और विधायक आएंगे।

गुजरात में राज्यसभा की चार सीटों पर चुनाव होना है और हाल ही में कांग्रेस के तीन विधायकों ने पार्टी छोड भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। चुनाव के दौरान क्रास वोटिंग और खरीद-फरोख्त के भय से पार्टी ने विधायकों को राज्य के बाहर पहुंचा दिया है।

आबू रोड में गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावडा ने संवाददाताओं से कहा,‘कोरोना वायरस संकट के चलते जहां सरकार को लोगो के जीवन को बचाने का काम करना चाहिए, वहीं सरकार सरकारी मशीनरी का उपयोग करके जनप्रतिनिधियों को धमकाने और खरीद फरोख्त का काम कर रही है। हमारे विधायक आगामी रणनीति पर विचार करने लिए यहां ठहरे हुए है।

गुजरात में 19 जून को होने वाले राज्यसभा चुनाव को लेकर सियासत तेज हो गई है। गुजरात कांग्रेस के 21 विधायक खरीद-फरोख्त से भय से बचने के लिए रविवार को राजस्थान के आबू रोड के एक रिसोर्ट में पहुंचे। पार्टी के एक नेता ने बताया कि गुजरात कांग्रेस के 21 विधायक आबू रोड के रिसोर्ट में रूके हुए हैं। उत्तर गुजरात से सोमवार को और विधायक आएंगे।

गुजरात में राज्यसभा की चार सीटों पर चुनाव होना है और हाल ही में कांग्रेस के तीन विधायकों ने पार्टी छोड भाजपा की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। चुनाव के दौरान क्रास वोटिंग और खरीद-फरोख्त के भय से पार्टी ने विधायकों को राज्य के बाहर पहुंचा दिया है।

आबू रोड में गुजरात कांग्रेस के अध्यक्ष अमित चावडा ने संवाददाताओं से कहा,‘कोरोना वायरस संकट के चलते जहां सरकार को लोगो के जीवन को बचाने का काम करना चाहिए, वहीं सरकार सरकारी मशीनरी का उपयोग करके जनप्रतिनिधियों को धमकाने और खरीद फरोख्त का काम कर रही है। हमारे विधायक आगामी रणनीति पर विचार करने लिए यहां ठहरे हुए है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *