पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

लॉकडाउन के चलते 74 दिन तक मुंबई हवाई अड्डे पर फंसे रहे घाना के फुटबॉलर रैंडी जुआन मुलर को होटल भेज दिया गया है। अब वह उड़ान सेवाएं शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं ताकि अपने देश वापस जा सकें।

मुलर केरल में एक क्लब के लिए खेलने भारत आए थे। उन्होंने मदद के लिए शनिवार को महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे और युवा सेना के पदाधिकारी राहुल कनाल को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ‘धन्यवाद आदित्य ठाकरे, राहुल कनाल। आपका बहुत-बहुत शुक्रिया।’

केरल के एक क्लब के लिए खेलने आए मुलर को केन्या एयरवेज के विमान से अपने देश वापस जाना था, लेकिन लॉकडाउन लागू होने के बाद वह मुंबई हवाई अड्डे पर ही फंस गए।

कनाल ने कहा, ‘वह हवाई अड्डे के आकर्षक कृत्रिम उद्यानों में अपना समय बिताते थे और किसी तरह स्टाल से खाना खरीदते थे। अपना समय हवाई अड्डे के कर्मचारियों के साथ गुजारते थे। मुलर ने मुझे बताया कि हवाई अड्डे के कर्मचारियों ने उनकी बहुत मदद की।’

एक ट्विटर यूजर ने फुटबॉलर की दुर्दशा की ओर आदित्य ठाकरे का ध्यान दिलाया। तब कनाल ने उन्हें एक होटल पहुंचाने में मदद की।

लॉकडाउन के चलते 74 दिन तक मुंबई हवाई अड्डे पर फंसे रहे घाना के फुटबॉलर रैंडी जुआन मुलर को होटल भेज दिया गया है। अब वह उड़ान सेवाएं शुरू होने का इंतजार कर रहे हैं ताकि अपने देश वापस जा सकें।

मुलर केरल में एक क्लब के लिए खेलने भारत आए थे। उन्होंने मदद के लिए शनिवार को महाराष्ट्र के पर्यटन मंत्री आदित्य ठाकरे और युवा सेना के पदाधिकारी राहुल कनाल को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, ‘धन्यवाद आदित्य ठाकरे, राहुल कनाल। आपका बहुत-बहुत शुक्रिया।’

केरल के एक क्लब के लिए खेलने आए मुलर को केन्या एयरवेज के विमान से अपने देश वापस जाना था, लेकिन लॉकडाउन लागू होने के बाद वह मुंबई हवाई अड्डे पर ही फंस गए।

कनाल ने कहा, ‘वह हवाई अड्डे के आकर्षक कृत्रिम उद्यानों में अपना समय बिताते थे और किसी तरह स्टाल से खाना खरीदते थे। अपना समय हवाई अड्डे के कर्मचारियों के साथ गुजारते थे। मुलर ने मुझे बताया कि हवाई अड्डे के कर्मचारियों ने उनकी बहुत मदद की।’

एक ट्विटर यूजर ने फुटबॉलर की दुर्दशा की ओर आदित्य ठाकरे का ध्यान दिलाया। तब कनाल ने उन्हें एक होटल पहुंचाने में मदद की।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *