न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Thu, 21 May 2020 09:15 PM IST

ख़बर सुनें

डीजीसीए ने हवाई किराये की सात श्रेणी जारी की है। 40 मिनट से कम समय में यात्रा पूरी होने वाली उड़ानों के लिए किराए की निचली सीमा 2000 रुपये और अधिकतम सीमा 6000 रुपये होगी। 40 से 60 मिनट में यात्रा पूरी होने वाली उड़ानों के लिए किरायों की निचली और ऊपरी सीमा क्रमश: 2,500 रुपये और 7,500 रुपए होगी।

डीजीसीए ने कहा कि 60 से 90 मिनट की अवधि वाली उड़ानों के लिए किरायों की निचली और ऊपरी सीमा क्रमश: 3,000 रुपये और 9,000 रुपये होगी। 150 से 180 मिनट की अवधि वाली उड़ानों, जैसे दिल्ली-इंफाल के लिए किरायों की निचली और ऊपरी सीमा क्रमश: 5500 रुपये और 15700 रुपये होगी।  

बता दें कि आज नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 25 मई से घरेलू उड़ानें संचालित किए जाने को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की थी। इस दौरान नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने विस्तार से जानकारी दी कि कितने किराये में और किन शर्तों के साथ उड़ानें संचालित की जाएंगी। 
 

डीजीसीए ने हवाई किराये की सात श्रेणी जारी की है। 40 मिनट से कम समय में यात्रा पूरी होने वाली उड़ानों के लिए किराए की निचली सीमा 2000 रुपये और अधिकतम सीमा 6000 रुपये होगी। 40 से 60 मिनट में यात्रा पूरी होने वाली उड़ानों के लिए किरायों की निचली और ऊपरी सीमा क्रमश: 2,500 रुपये और 7,500 रुपए होगी।

डीजीसीए ने कहा कि 60 से 90 मिनट की अवधि वाली उड़ानों के लिए किरायों की निचली और ऊपरी सीमा क्रमश: 3,000 रुपये और 9,000 रुपये होगी। 150 से 180 मिनट की अवधि वाली उड़ानों, जैसे दिल्ली-इंफाल के लिए किरायों की निचली और ऊपरी सीमा क्रमश: 5500 रुपये और 15700 रुपये होगी।  

बता दें कि आज नागरिक उड्डयन मंत्रालय ने 25 मई से घरेलू उड़ानें संचालित किए जाने को लेकर प्रेस कांफ्रेंस की थी। इस दौरान नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप पुरी ने विस्तार से जानकारी दी कि कितने किराये में और किन शर्तों के साथ उड़ानें संचालित की जाएंगी। 

 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *