पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद से बुधवार को करीब छह घंटे पूछताछ की। उस पर शाहीनबाग में बैठक कर दिल्ली दंगों की साजिश रचने का आरोप है। बैठक में आप से निलंबित पूर्व निगम पार्षद ताहिर हुसैन भी शामिल हुए थे। 

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उमर खालिद ने पूछताछ में सहयोग नहीं किया। अपराध शाखा ने उमर खालिद से पहली बार पूछताछ की है। पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि जरूरत पड़ने पर उमर खालिद को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है। 

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, उमर खालिद ने शाहीनबाग में हुई बैठक में शामिल होने की बात से इनकार किया है। उसका कहना है कि उसने दिल्ली दंगों की साजिश नहीं रची। उमर खालिद ने ये भी कहा कि वह कभी ताहिर हुसैन से नहीं मिला।
 
बुधवार सुबह करीब 11 बजे उमर खालिद अपराध शाखा के कार्यालय पहुंचा था और उससे शाम करीब पांच बजे तक पूछताछ हुई। उसके साथ परिजन भी आए थे। उससे बैठक में शामिल होने, दंगों की साजिश रचने, साजिश रचने की वजह, बैठक में कौन-कौन लोग शामिल थे और दंगों के दौरान उसकी भूमिका क्या थी आदि सवाल पूछे गए। 

पुलिस के मुताबिक दिल्ली दंगों को लेकर खजूरी खास थाने में एफआईआर हुई थी। एफआईआर अपराध शाखा में एसीपी पंकज सिंह की टीम को ट्रांसफर हो गई थी। अपराध शाखा ने आप के निलंबित पूर्व निगम पार्षद ताहिर हुसैन व उसके साथियों को गिरफ्तार किया था। 

ताहिर हुसैन ने पूछताछ में खुलासा किया था कि दिल्ली दंगों की साजिश रचने के लिए शाहीनबाग में आठ जनवरी को बैठक हुई थी। ये बैठक खालिद सैफी ने बुलाई थी। बैठक में उसके व उमर खालिद के अलावा कई लोग शामिल हुए थे। 

इस मामले में अपराध शाखा ने उमर खालिद को नोटिस देकर अपराध शाखा के सनलाइट कॉलोनी स्थित कार्यालय में बुधवार को पूछताछ के लिए बुलाया था। 
 

जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद के खिलाफ दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल में दिल्ली दंगों की साजिश रचने का मामला दर्ज है। एफआईआर में उसे नामजद किया गया है। बाद में स्पेशल सेल ने उसके खिलाफ गैर कानूनी गतिविधि अधिनियम (यूएपीए) भी लगा दी थी। स्पेशल सेल ने उमर खालिद से एक अगस्त को पूछताछ की थी। स्पेशल सेल ने जांच के लिए उमर खालिद का फोन जमा कर लिया था। 

दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने जेएनयू के पूर्व छात्र उमर खालिद से बुधवार को करीब छह घंटे पूछताछ की। उस पर शाहीनबाग में बैठक कर दिल्ली दंगों की साजिश रचने का आरोप है। बैठक में आप से निलंबित पूर्व निगम पार्षद ताहिर हुसैन भी शामिल हुए थे। 

पुलिस अधिकारियों का कहना है कि उमर खालिद ने पूछताछ में सहयोग नहीं किया। अपराध शाखा ने उमर खालिद से पहली बार पूछताछ की है। पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि जरूरत पड़ने पर उमर खालिद को फिर से पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है। 

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि, उमर खालिद ने शाहीनबाग में हुई बैठक में शामिल होने की बात से इनकार किया है। उसका कहना है कि उसने दिल्ली दंगों की साजिश नहीं रची। उमर खालिद ने ये भी कहा कि वह कभी ताहिर हुसैन से नहीं मिला।

 
बुधवार सुबह करीब 11 बजे उमर खालिद अपराध शाखा के कार्यालय पहुंचा था और उससे शाम करीब पांच बजे तक पूछताछ हुई। उसके साथ परिजन भी आए थे। उससे बैठक में शामिल होने, दंगों की साजिश रचने, साजिश रचने की वजह, बैठक में कौन-कौन लोग शामिल थे और दंगों के दौरान उसकी भूमिका क्या थी आदि सवाल पूछे गए। 

पुलिस के मुताबिक दिल्ली दंगों को लेकर खजूरी खास थाने में एफआईआर हुई थी। एफआईआर अपराध शाखा में एसीपी पंकज सिंह की टीम को ट्रांसफर हो गई थी। अपराध शाखा ने आप के निलंबित पूर्व निगम पार्षद ताहिर हुसैन व उसके साथियों को गिरफ्तार किया था। 

ताहिर हुसैन ने पूछताछ में खुलासा किया था कि दिल्ली दंगों की साजिश रचने के लिए शाहीनबाग में आठ जनवरी को बैठक हुई थी। ये बैठक खालिद सैफी ने बुलाई थी। बैठक में उसके व उमर खालिद के अलावा कई लोग शामिल हुए थे। 

इस मामले में अपराध शाखा ने उमर खालिद को नोटिस देकर अपराध शाखा के सनलाइट कॉलोनी स्थित कार्यालय में बुधवार को पूछताछ के लिए बुलाया था। 
 


आगे पढ़ें

उमर के खिलाफ स्पेशल सेल में दर्ज है मामला 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *