ख़बर सुनें

देश में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में पिछले 24 घंटे के दौरान इस महामारी के 83 नए मरीज मिले हैं। इसके साथ ही, जिले में महामारी की जद में आए लोगों की तादाद 2,850 से बढ़कर 2,933 पर पहुंच गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए 40 वर्षीय पुरुष की यहां एक सरकारी अस्पताल में इलाज के दौरान सोमवार को मौत हो गई। इसके बाद जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 111 पर पहुंच गई है।

सीएमएचओ ने बताया कि कोविड-19 से दम तोड़ने वाला मरीज उच्च रक्तचाप और अन्य बीमारियों से पहले ही जूझ रहा था। उसके कोरोना संक्रमित होने की जांच रिपोर्ट उसकी मौत के बाद आई। हालांकि, इससे पहले ही उसे अस्पताल में भर्ती कर लक्षणों के आधार पर उसका इलाज शुरू कर दिया गया था।

उन्होंने बताया कि इलाज के बाद संक्रमणमुक्त होने पर जिले में कोविड-19 के 1,381 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। कोविड-19 का प्रकोप कायम रहने के मद्देनजर इंदौर जिला रेड जोन में बरकरार है। जिले में कोरोना वायरस के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी।

देश में कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित जिलों में शामिल इंदौर में पिछले 24 घंटे के दौरान इस महामारी के 83 नए मरीज मिले हैं। इसके साथ ही, जिले में महामारी की जद में आए लोगों की तादाद 2,850 से बढ़कर 2,933 पर पहुंच गई है।

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी (सीएमएचओ) प्रवीण जड़िया ने शनिवार को यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित पाए गए 40 वर्षीय पुरुष की यहां एक सरकारी अस्पताल में इलाज के दौरान सोमवार को मौत हो गई। इसके बाद जिले में इस महामारी की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले मरीजों की तादाद बढ़कर 111 पर पहुंच गई है।

सीएमएचओ ने बताया कि कोविड-19 से दम तोड़ने वाला मरीज उच्च रक्तचाप और अन्य बीमारियों से पहले ही जूझ रहा था। उसके कोरोना संक्रमित होने की जांच रिपोर्ट उसकी मौत के बाद आई। हालांकि, इससे पहले ही उसे अस्पताल में भर्ती कर लक्षणों के आधार पर उसका इलाज शुरू कर दिया गया था।

उन्होंने बताया कि इलाज के बाद संक्रमणमुक्त होने पर जिले में कोविड-19 के 1,381 मरीजों को अस्पतालों से छुट्टी दी जा चुकी है। कोविड-19 का प्रकोप कायम रहने के मद्देनजर इंदौर जिला रेड जोन में बरकरार है। जिले में कोरोना वायरस के प्रकोप की शुरूआत 24 मार्च से हुई, जब पहले चार मरीजों में इस महामारी की पुष्टि हुई थी।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *