• ब्‍यूटी बिजनेस में लिपस्टिक का मार्केट शेयर 32 फीसदी के आसपास है।
  • फेस मास्क लगाने के चलते लिपस्‍ट‍िक का इस्‍तेमाल कम हो गया
  • कोरोना से बचने के लिए फेस मास्‍क लगाना हुआ अनिवार्य

दैनिक भास्कर

May 29, 2020, 01:55 PM IST

नई दिल्ली. ‘लिपस्टिक’ हर लड़की के मेकअप किट का जरूरी हिस्‍सा होता है, इसके बिना मेकअप पूरा नहीं होता है। हालांकि, कोविड-19 के चलते मेकअप का ट्रेंड बदल रहा है। दरअसल, कोरोनावायरस के संक्रमण से बचने के लिए पूरी दुनिया फेस मास्क का सहारा ले रही है। देश-दुनिया के सरकारों ने भी कोरोना से बचाव के लिए फेस मास्‍क लगाना अनिवार्य कर दिया है। ऐसे में लिपस्टिक की खरीदारी में भारी कमी देखी जा रही है। ब्यूटि एक्सपर्ट के मुताबिक, आगे भी खरीदारी बढ़ने की उम्मीद नहीं है। बता दें कि ब्‍यूटी बिजनेस में लिपस्टिक का मार्केट शेयर 32 फीसदी के आसपास है। 

काजल का बढ़ा इंडेक्स

आमतौर पर फाइनेंशियल क्राइसिस के समय मेकअप खासतौर पर ‘लिपस्टिक’ का इंडेक्स बढ़ जाया करता था लेकिन कोरोना के चलते इस बार ‘काजल इंडेक्स’ में बढ़ोतरी देखी जा रही है। बता दें कि कोरोना के चलते फेस माक्स लगाना अनिवार्य कर दिया गया है। इस कारण काजल समेत अन्य आई मेकअप जैसे कि आईशैडो, आईलैशेज की डिमांड में तेजी आई है। वहीं, कंज्यूमर के बिहेवियर में बदलाव को देखते हुए कॉस्मेटिक प्रोडक्‍ट बनाने वाली कंपनियां फिलहाल काजल, आई शैडो, मस्‍कारा, आईलाइनर जैसे प्रोडक्ड्स की मैन्‍यूफैक्‍चरिंग को बढ़ावा दे रही हैं।

वर्क फ्राॅम होम का असर भी 

एक रिपोर्ट के मुताबिक, लॉरियाल इंडिया की डायरेक्‍टर, कविता अंगरे बताती हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग के चलते लोगों ने बाहर निकलना कम दिया है। महिलाएं खासकर घर में ही ज्याता समय बिता रही हैं। बाहर न निकलने के कारण लिपस्टिक के इस्‍तेमाल पर असर पड़ा है। यहां तक कि वर्क फ्राॅम होम कर रही वीमेन्स वीडियो कॉल के वक्त लिपस्टिक नहीं लगा रही हैं। वे बताती हैं कि भविष्य में ज्यादातर महिलाएं वर्क फ्राॅम होम करेंगी ऐसे में महिलाओं का लिपस्टिक के प्रति केज कम हो सकता है। 

‘आई शैडो’ टाॅप ब्यूटि सेलिंग प्रोडक्ट्स में

ब्यूटी प्रोडक्ट कंपनी नाइका के मुताबिक, वर्तमान में आई शैडो, काजल और मस्करा की बिक्री में काफी तेजी आई है। यह टाॅप-5 से टॉप 3 सेलिंग ब्यूटी प्रोडक्ट बनी है। बता दें कि ब्‍यूटी बिजनेस में आई मेकअप का मार्केट शेयर 36 फीसदी है।

बाॅलीवुड की मेकअप आर्टिस्ट डाॅली ने मनी भास्कर से बातचीत में कहा कि लिपस्टिक की सेल में गिरावट अस्थाई है। स्थिति सामान्य होने के बाद  जल्‍द यह खत्‍म हो जाएगा। वहीं अब ज्यादातर वीमेन्स पर्सनल केयर प्रोडक्ट जैसे कि लिप बॉम और स्किन केयर पर ज्यादा खर्च करेंगी। 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *