• ज्यादा दिलचस्पी की लालच में टिप्स और ऑफर्स पर विश्वास न करें
  • ज्यादा ब्याज हमेशा जोखिम से घिरा हुआ होता है, सुरक्षा के साथ रहें

दैनिक भास्कर

09 मई, 2020, 05:53 बजे IST

मुंबई। क्या आप को किसी ने ऐसे टिप्स दिए हैं कि 6 महीने या 2 साल में या 5 साल में आपका पैसा दोगुना हो जाएगा? या फिर आपको ऐसे भी प्रस्ताव मिलते हैं कि आप अपना पैसा निवेश कर दें। इस तरह के तमाम टिप्स और ऑफर से आप कभी न कभी गुजरते होंगे। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि जब पूरी दुनिया में ब्याज दरों में निचले स्तर पर हैं, तमाम जोखिम भरे हैं, अर्थव्यवस्था की पिटाई हो चुकी है, तो ऐसे में आपको इतना अच्छा रिटर्न कैसे मिल सकता है? आपको इस पर सोचना चाहिए। ऐसा न हो कि आपकी पूरी कमाई इस तरह के टिप्स और ऑफर में ज्यादा ब्याज पाने की लालच में चली जाए।

सहकारी बैंकों में फंसे डिपोजिटर्स हैं

केस-1- देश के प्रमुख सहकारी बैंकों में शुमार पीएमसी बैंक कई राज्यों में फैला है। लेकिन पिछले कुछ समय से इसके डिपोजिटर्स परेशान हैं। कारण कि बैंक ने नियमों को ताक पर रखकर कंपनियों को उनकी हैसिटी से ज्यादा कर्ज दिया और डिपॉजिटरों का पैसा डूब गया। बैंक जब आपको कर्ज देता है, वह किसी से डिपॉजिट के बारे में देता है।

केस-2- पिछले सप्ताह ही सीकेपी सहकारी बैंक का लाइसेंस आरबीआई ने सस्पेंड कर दिया था। इसकी भी परिस्थिति ठीक पीएमसी की जैसी है। यहां भी डिपॉजिटरों के पैसे फंस गए हैं।

केस-3- भंडारी को ऑप बैंक का लाइसेंस बहुत पहले सस्पेंड हो चुका है जबकि कपोल बैंक पर आरबीआई ने प्रतिबंध लगा दिया है। यहां भी डिपॉजिटर्स के पैसे फंस गए हैं।

यह उदाहरण है कि सहकारी बैंक हमेशा सरकारी और निजी बैंकों की तुलना में ज्यादा ब्याज ऑफर करते हैं। इसलिए ग्राहक इनकी ओर रूख करते हैं।

क्रेडिट सोसाइटी और चिटफंड में भी विस्तार है

केस-4- मुंबई में ऐसे कई क्रेडिट सोसाइटी हो रहे हैं, जो रातों रात खुलते हैं और ग्राहकों से पैसे लेकर फरार हो जाते हैं। इस तरह की तमाम क्रेडिट सोसाइटी ग्राहकों को महीने का 1 प्रतिशत ब्याज ऑफर करती है और प्रति दिन पैसे वसूलती हैं। इनका कोई अता पता नहीं होता है। लगा ग्राहक रोजाना इसमें पैसे लगाता है।

इसी तरह का शारदा स्कैम, सहारा स्कैम, पीएसीएल जैसी तमाम कंपनियों के ग्राहकों के हजारों करोड़ के बारे में चंपत गया। लेकिन बावजूद इसके आज भी ग्राहक चिटफंड और इस तरह के बैंकों में या क्रेडिट सोसाइटी में निवेश करते हैं। परिणाम यह होता है कि उनकी गाढ़ी कमाई डूब जाती है।

निवेश कैसे और कहां करें?

इस समय शेयर बाजार में ढेर सारे शेयर अपने 52 सप्ताह के निचले स्तर या फिर उससे थोड़ा आगे हैं। कुछ शेयरों ने तो पिछले के एक महीने में ही दोगुना रिटर्न दिया है। यदि आप चाहें तो थोड़ा बहुत पैसा शेयरों मे निवेश कर सकते हैं। लेकिन ध्यान रखें कि बहुत सोच समझकर एडवाइजर से सलाह लेकर इस पर फैसला लें।

सोने और चांदी में निवेश

सोने से हमेशा भारतीयों के लिए भावनात्मक और छोड़ दोनों के लिए अच्छा रहा है। सोने की कीमतों में पिछले 2 वर्षों से लगातार वृद्धि हो रही है। अनुमान है कि इस साल भी इसकी मशीनें बढ़ेंगी। आपको वर्ष में 10-15 प्रतिशत का रिटर्न सोने से मिल सकता है। चांदी में भी आप चाहें तो निवेश कर सकते हैं। यहां भी आपको साल का 7-8 प्रतिशत रिटर्न मिल सकता है।

म्यूचुअल फंड, बीमा, सरकारी बचत योजनाएं

आप चाहते हैं तो महज कुछ हजार रुपए से म्यूचुअल फंड, बीमा, या सरकार की बचत योजनाओं में निवेश कर सकते हैं। यह सभी आपको लंबी अवधि में बेहतर रिटर्न प्रदान करता है। म्यूचुअल फंड की बैलेंस एडवाटर स्कीम या अन्य वेल्यू डिस्कवरी जैसी स्कीम अच्छा प्रदर्शन करती हैं। आप 500 रुपए से भी निवेश कर सकते हैं। यह लंबी अवधि में आपके लक्ष्यों को पूरा करते हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *