ख़बर सुनें

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को कोरोना वायरस के लिए वैक्सीन को विकसित करने से संबंधित एक ऑनलाइन सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है। 

ब्रिटिश दूतावास ने इस संबंध में कहा कि ‘ग्लोबल वैक्सीन शिखर सम्मेलन 2020’ में भाग लेने के लिए जॉनसन ने आधिकारिक रूप से पुतिन को निमंत्रण भेजा है। यह ऑनलाइन सम्मेलन ब्रिटेन में चार जून को आयोजित होगा।

दूतावास की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि इस सम्मेलन का उद्देश्य GAVI (ग्लोबल एलायंस फॉर वैक्सीन एंड इम्यूनाइजेशन) के लिए जरूरी सहयोग उपलब्ध काराना है जिससे कोविड-19 की जो भी वैक्सीन आए वह पूरी दुनिया के लिए उपलब्धता सुनिश्चित हो सके। 

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को लेकर रूस की कई प्रयोगशालाओं में वैक्सीन विकसित करने का काम चल रहा है। जानकारी के मुताबिक रूस में अगले महीने से इन वैक्सीन का मानव परीक्षण शुरू हो सकता है। 

बता दें कि कोरोना वायरस के कहर से पूरी दुनिया परेशान है। अभी तक दुनियाभर में कोरोना के 56 लाख से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, इस जानलेवा महामारी की वजह से पूरी दुनिया में अभी तक तीन लाख 49 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 

ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को कोरोना वायरस के लिए वैक्सीन को विकसित करने से संबंधित एक ऑनलाइन सम्मेलन में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया है। 

ब्रिटिश दूतावास ने इस संबंध में कहा कि ‘ग्लोबल वैक्सीन शिखर सम्मेलन 2020’ में भाग लेने के लिए जॉनसन ने आधिकारिक रूप से पुतिन को निमंत्रण भेजा है। यह ऑनलाइन सम्मेलन ब्रिटेन में चार जून को आयोजित होगा।

दूतावास की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि इस सम्मेलन का उद्देश्य GAVI (ग्लोबल एलायंस फॉर वैक्सीन एंड इम्यूनाइजेशन) के लिए जरूरी सहयोग उपलब्ध काराना है जिससे कोविड-19 की जो भी वैक्सीन आए वह पूरी दुनिया के लिए उपलब्धता सुनिश्चित हो सके। 

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस को लेकर रूस की कई प्रयोगशालाओं में वैक्सीन विकसित करने का काम चल रहा है। जानकारी के मुताबिक रूस में अगले महीने से इन वैक्सीन का मानव परीक्षण शुरू हो सकता है। 

बता दें कि कोरोना वायरस के कहर से पूरी दुनिया परेशान है। अभी तक दुनियाभर में कोरोना के 56 लाख से भी ज्यादा मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, इस जानलेवा महामारी की वजह से पूरी दुनिया में अभी तक तीन लाख 49 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *