• Hindi News
  • Sports
  • Cricket
  • BCCI Distributed Rs.46.89 Crore Amongst Its Affiliates And Clients, Besides Paying Income Tax GST, In July

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (बीच में) और ट्रेजरर अरूण धूमल (दाएं)। बोर्ड से स्टेट क्रिकेट एसोसिएशंस ने मदद मांगी थी। इसके बाद बोर्ड ने एडवांस के तौर पर अलग-अलग संघों को राशि दी। -फाइल

  • बोर्ड ने झारखंड क्रिकेट एसोसिएशन को एडवांस के तौर पर 10.80 करोड़ रुपए दिए
  • बीसीसीआई ने जुलाई में अरुणाचल प्रदेश, सिक्किम और मिजोरम क्रिकेट एसोसिएशन को अलग-अलग 3.24 करोड़ रुपए दिए

बीसीसीआई ने कोरोनावायरस के कारण आर्थिक तंगी झेल रहे स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन और अपने सहयोगियों को जुलाई में 46.89 करोड़ रुपए बांटे। इसके अलावा बोर्ड ने इनकम टैक्स और जीएसटी भी भरा है। जुलाई में सबसे ज्यादा फायदा हिमाचल प्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (एचपीसीए) को हुआ, जिसे 16.20 करोड़ रुपए एडवांस के तौर पर मिले। बीसीसीआई ट्रेजरर अरूण धूमल इसी राज्य से आते हैं। बीसीसीआई ने अपनी ऑफिशियल वेबसाइट पर इसकी जानकारी दी।

दूसरी सबसे बड़ी रकम झारखंड क्रिकेट एसोसिएशन (जेएससीए) को मिली। जेएससीए को एडहॉक एडवांस के तौर पर 10.80 करोड़ रुपए मिले। बीसीसीआई ने जुलाई महीने में 25 लाख रुपए से ऊपर का जो भुगतान किया है, उसकी जानकारी भी वेबसाइट पर दी है। बोर्ड ने 1 जुलाई को मायलापोर तालुक के तहसीलदार को लीज रेंट के बकाए के एवज में बतौर एडवांस तीन करोड़ रुपए दिए। इसी दिन बीसीसीआई ने जीएसटी के रूप में 54 लाख रुपए का भी भुगतान किया है।

जुलाई में ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन को 2.7 करोड़ रुपए दिए

4 जुलाई को ओडिशा क्रिकेट एसोसिएशन को एडवांस के तौर पर 2.7 करोड़ रुपए दिए गए। इसी दिन बीसीसीआई ने जून महीने के लिए 3.53 करोड़ रुपए बतौर इनकम टैक्स भरे। 15 जुलाई को बीसीसीआई ने 41.16 लाख रुपए जीएसटी (जून महीने के लिए महाराष्ट्र स्टेट एसोसिएशन का जीएसटी) के रूप में दिए।

बोर्ड ने तीन क्रिकेट एसोसिएशन को 3.24 करोड़ रुपए दिए

बीसीसीआई ने 30 जुलाई को तीन स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन अरुणाचल प्रदेश, मिजोरम और सिक्किम को 3.24 करोड़ रुपए एडवांस के तौर पर दिए। इस महामारी के दौरान भारत में किसी भी तरह की नेशनल और इंटरनेशनल क्रिकेट नहीं खेली गई है। इस वजह से स्टेट क्रिकेट एसोसिएशंस की माली हालत खराब थी और ज्यादातर ने बोर्ड से बकाया राशि एडवांस के तौर पर मांगी थी।

0



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *