• इंटरनेशनल बॉक्सिंग फेडरेशन ने पिछले महीने ही भारत से 2021 में होने वाली वर्ल्ड बॉक्सिंग रैंकिंग की बुकिंग छीनी थी
  • एआईबीए ने बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया पर 3 करोड़ 70 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया था

दैनिक भास्कर

07 मई, 2020, 10:30 अपराह्न IST

एम्योचोर इंटरनेशनल बॉक्सिंग एसोसिएशन (एआईबीए) के अंतरिम अध्यक्ष मोहम्मद मुस्ताहसाने ने बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) को चेतावनी दी थी अगर उसने जल्द ही जुर्माने की राशि नहीं जमा की तो उसकी मान्यता रद्द हो जाएगी।

पिछले महीने ही एआईबीए ने भारत से 2021 में होने वाली विश्व बॉक्सिंग श्रृंखलाओं की बुकिंग छीन ली थी। साथ ही 5 लाख डॉलर (3 करोड़ 70 लाख रुपए) का जुर्माना भी लगाया गया था। एआईबीए का कहना था कि बीएफआई ने बुकिंग की फीस निर्धारित तिथि तक नहीं भरी थी।

यह विवाद था
इंटरनेशनल बॉक्सिंग फेडरेशन ने 2021 में होने वाली विश्व बॉक्सिंग श्रृंखलाओं के लिए पहले पर बीड 2017 में निकाली थी। उस समय बुकिंग की फीस 41 लाख डॉलर निर्धारित की गई थी। तब भारत के अलावा किसी अन्य देश ने बुकिंग में रूचि नहीं दिखाई। इसलिए भारत को इसके आयोजन की जिम्मेदारी सौंपी गई थी।

बीएफआई का शुल्क-बिना सूचना बुकिंग की फीस बदली

बीएफआई का आरोप है कि इसके बाद एआईबीए ने बिना जानकारी दिए 2018 में दूसरी बीडी निकाली। इसमें बुकिंग शुल्क को गुर्कर 20 लाख डॉलर कर दिया गया। बीएफआई और एआईबीए के बीच इस मसले पर विवाद चलता रहा है। इस बीच, बीएफआई ने नई बीडिंग के तहत बुकिंग के लिए तय की गई 20 लाख डॉलर की फीस चुकाने पर हामी भर दी। लेकिन इंटरनेशनल बॉक्सिंग फेडरेशन पुरानी बुकिंग फीस की मांग करता है।

बीएफआई इसके खिलाफ कोर्ट जाएगा

पिछले साल 31 दिसंबर तक दोनों पक्षों में बुकिंग की फीस को लेकर सहमति नहीं बन पाई। बीएफआईलेस के विरोध में लुसाने स्थित कोर्ट ऑफ अब्रिटेशन फोर स्पोर्ट्स में जाने की तैयारी में है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed