विश्व, अमर उजाला, गन्दी

द्वारा प्रकाशित: जीत कुमार
अपडेट किया गया सूर्य, 20 जून 2021 12:22 AM IST

सर

इबोला का प्रकोप शुरू हुआ था। सबसे पहले यह 2013-2016 में सफल हुआ।

खबर

विश्व स्वास्थ्य संस्था (संस्करण) ने रोग में बीमारी की घोषणा की। 14 फरवरी को लागू होने की घोषणा की गई थी। पश्चिम

पश्चिमी अफ्रीका में 2013-2016 में लाइफ़ जैसी लाइफ़ टाईंग्स ने जीन्स, गलबेरिया और लाइफ़ जैसी जान की में ले ली। ग्रीट के स्वस्थ होने की स्थिति 14 फरवरी, 2021 को पश्चिमी रोग की बीमारी की सूचना दी।

विशेष रूप से सक्रिय होने की घोषणा की गई थी। 16 स्थिर स्थिति में थे। 11 मरीज जीवित थे और 12 लोगों की जान।

इबोला को खत्म करने में   विश्व स्वस्थ संगठन ने कीट से रोग की शुरुआत की। 24 हजार डॉलर की सुविधा वाला डॉल टीके की डोज में मदद मिलेगी। इबोला का गहरा प्रभाव क्षेत्र में, पूर्व अफ़्रीका में 11 ।

इस तरह के अनुमानों के लिए उपयुक्त हैं।

भविष्य के अनुकूल भविष्य के लिए उपयुक्त होने के साथ ही उन्होंने भाग्य में वृद्धि की। जब यह प्रबल होगा, तो प्रबल प्रबल होना चाहिए। संदेश भेजने में भी मदद मिलती है।

कटि

विश्व स्वास्थ्य संस्था (संस्करण) ने रोग में बीमारी की घोषणा की। 14 फरवरी को लागू होने की घोषणा की गई थी। पश्चिम

पश्चिमी अफ्रीका में 2013-2016 में लाइफ़ जैसी लाइफ़ टाईंग्स ने जीन्स, गलबेरिया और लाइफ़ जैसी जान की में ले ली। ग्रीट के स्वस्थ होने की स्थिति 14 फरवरी, 2021 को पश्चिमी रोग की बीमारी की सूचना दी।

विशेष रूप से सक्रिय होने की घोषणा की गई थी। 16 स्थिर स्थिति में थे। 11 मरीज जीवित थे और 12 लोगों की जान।

इबोला को खत्म करने में   विश्व स्वस्थ संगठन ने कीट से रोग की शुरुआत की। 24 हजार डॉलर की सुविधा वाला डॉल टीके की डोज में मदद मिलेगी। इबोला का प्रादुर्भाव सफेद रंग में, जहां से दूर अफ़्रीका में 11

इस तरह के अनुमानों के लिए उपयुक्त हैं।

भविष्य के भविष्य के लिए उपयुक्त भविष्य के लिए उपयुक्त होगा। जब यह प्रबल होगा, तो प्रबल प्रबल होना चाहिए। संदेश भेजने में भी मदद मिलती है।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *