एजेंसी, कोलकाता।

द्वारा प्रकाशित: जीत कुमार
अपडेटेड थू, 06 मई 2021 02:45 AM IST

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी
– फोटो: पीटीआई

ख़बर सुनना

पश्चिम बंगाल में तीसरे बार मुख्यमंत्री पद संभालने के कुछ ही घंटों के अंदर ममता बनर्जी ने बुधवार को 29 शीर्ष पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया। इनमें से ज्यादातर को विधानसभा चुनावों से पहले निर्वाचन आयोग ने तैनात किया था।

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने निर्वाचन आयोग की तरफ से हटाए गए अपने विश्वस्त अधिकारियों को पुनः तैनात करते हुए कूचबिहार के पुलिस अधीक्षक देबाशीष को को निलंबित कर दिया।

कूचबिहार के सीतलकूची क्षेत्र में ही 10 अप्रैल को एक मतदान बूथ पर हमला रोकने के लिए आरएसएफ जवानों की फायरिंग में 4 लोगों की मौत हो गई थी।

इस घटना की गद्दी जांच का आदेश ममता पहले ही दे चुके हैं। धर की जगह जगह। कानन को तैनात किया गया है, जिसे चुनावों में निर्वाचन आयोग ने अनिवार्य वेटिंग पर भेज दिया था।

ममता की तरफ से वापस बुलाए गए आईपीएस अधिकारियों में सबसे महत्वपूर्ण नाम पुलिस महानिदेशक वीरेंद्र, एडीजी कानून-व्यवस्था जावेद शमीम और महानिदेशक सुरक्षा विवेक सहायता का है।

निर्वाचन आयोग की ओर से वीरेंद्र की जगह पुलिस महानिदेशक बनाए गए नीरज नयन पांडे को महानिदेशक अग्निशमन पद पर भेजा गया है। विवेक सहाय को भी निर्वाचन आयोग ने उस समय लापरवाही के आरोप में पद से हटा दिया था, जब पुरबा मेदिनीपुर जिले में प्रचार के दौरान ममता बनर्जी हादसे का शिकार हो गए थे।

विस्तार

पश्चिम बंगाल में तीसरे बार मुख्यमंत्री पद संभालने के कुछ ही घंटों के अंदर ममता बनर्जी ने बुधवार को 29 शीर्ष पुलिस अधिकारियों का तबादला कर दिया। इनमें से ज्यादातर को विधानसभा चुनावों से पहले निर्वाचन आयोग ने तैनात किया था।

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ने निर्वाचन आयोग की तरफ से हटाए गए अपने विश्वस्त अधिकारियों को पुनः तैनात करते हुए कूचबिहार के पुलिस अधीक्षक देबाशीष को को निलंबित कर दिया।

कूचबिहार के सीतलकूची क्षेत्र में ही 10 अप्रैल को एक मतदान बूथ पर हमला रोकने के लिए आरएसएफ जवानों की फायरिंग में 4 लोगों की मौत हो गई थी।

इस घटना की गद्दी जांच का आदेश ममता पहले ही दे चुके हैं। धर की जगह जगह। कानन को तैनात किया गया है, जिसे चुनावों में निर्वाचन आयोग ने अनिवार्य वेटिंग पर भेज दिया था।

ममता की तरफ से वापस बुलाए गए आईपीएस अधिकारियों में सबसे महत्वपूर्ण नाम पुलिस महानिदेशक वीरेंद्र, एडीजी कानून-व्यवस्था जावेद शमीम और महानिदेशक सुरक्षा विवेक सहायता का है।

निर्वाचन आयोग की ओर से वीरेंद्र की जगह पुलिस महानिदेशक बनाए गए नीरज नयन पांडे को महानिदेशक अग्निशमन पद पर भेजा गया है। विवेक सहाय को भी निर्वाचन आयोग ने उस समय लापरवाही के आरोप में पद से हटा दिया था, जब पुरबा मेदिनीपुर जिले में प्रचार के दौरान ममता बनर्जी हादसे का शिकार हो गए थे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *