अमेरिका कोरोनावायरस में
– फोटो: पीटीआई

ख़बर सुनता है

डेमोक्रेटिक सांसदों के एक समूह ने सोमवार को कहा कि कोरोनावायरस वैश्विक महामारी के बीच चीनी मूल के अमेरिकियों के खिलाफ घृणा अपराध बढ़े हैं और ट्रम्प प्रशासन से अनुरोध किया कि वह इसे रोकने के लिए ठोस कदम उठाए। सहायक अटॉर्नी जनरल एरिक एस ड्रीबंध को लिखा एक पत्र में कमला हैरिस सहित 16 सांसदों ने ट्रंप प्रशासन से अनुरोध किया है कि इस भेदभाव से इसी तरह निपटा जाए जैसे पूर्व में किया गया था।

सांसदों ने कहा कि वैश्विक महामारी के दौरान चीनी -एमेरियर्स और प्रशांत द्वीप (एएपीआई) के लोगों के खिलाफ घृणा अपराध और इन नस्ली और विदेशी लोगों से डर की वजह से किए जाने वाले हमलों के समाधान के लिए निष्पक्ष राष्ट्रीय प्रतिक्रिया पूर्व – प्रशासन द्वारा किए गए गए प्रयासों से बिल्कुल विपरीत है।

उन्होंने कहा कि एशियाई मूल के करीब दो करोड़ अमेरिकी और 20 लाख एएपीआई लोग को विभाजित -19 वैश्विक महामारी के खिलाफ स्वास्थ्य देखभालकर्मी, सुरक्षा एजेंटों और अन्य आवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों के तौर पर मोर्चे के काम में जुटे हैं।

सांसदों ने कहा, यह महत्वपूर्ण है कि नागरिक अधिकार कानून सुनिश्चित करता है कि वैश्विक महामारी के इस वक्त में सभी अमेरिकियों के नागरिक और संवैधानिक अधिकार सुरक्षित हों। उन्होंने कहा कि सिर्फ पिछले महीने में ही चीनी-अमेरिकी संगठनों को देशभर से एशियाई लोगों के उत्पीड़न और भेदभाव की 1500 से ज्यादा घटनाओं की शिकायत मिली है।

डेमोक्रेटिक सांसदों ने कहा कि यह मार्च में एफबीआई के उस आकलन के बाद हुआ है जिसमें आशंका जताई गई थी कि एशियाई अमेरिकियों के खिलाफ देशभर में अपराध की घटनाओं में वृद्धि हो सकती है जिससे एएपीआई समुदायों के लिए खतरा होगा।

डेमोक्रेटिक सांसदों के एक समूह ने सोमवार को कहा कि कोरोनावायरस वैश्विक महामारी के बीच चीनी मूल के अमेरिकियों के खिलाफ घृणा अपराध बढ़े हैं और ट्रम्प प्रशासन से अनुरोध किया कि वह इसे रोकने के लिए ठोस कदम उठाए। सहायक अटॉर्नी जनरल एरिक एस ड्रीबंध को लिखा एक पत्र में कमला हैरिस सहित 16 सांसदों ने ट्रंप प्रशासन से अनुरोध किया है कि इस भेदभाव से इसी तरह निपटा जाए जैसे पूर्व में किया गया था।

सांसदों ने कहा कि वैश्विक महामारी के दौरान चीनी -एमेरियर्स और प्रशांत द्वीप (एएपीआई) के लोगों के खिलाफ घृणा अपराध और इन नस्ली और विदेशी लोगों से डर की वजह से किए जाने वाले हमलों के समाधान के लिए निष्पक्ष राष्ट्रीय प्रतिक्रिया पूर्व – प्रशासन द्वारा किए गए गए प्रयासों से बिल्कुल विपरीत है।

उन्होंने कहा कि एशियाई मूल के करीब दो करोड़ अमेरिकी और 20 लाख एएपीआई लोग को विभाजित -19 वैश्विक महामारी के खिलाफ स्वास्थ्य देखभालकर्मी, सुरक्षा एजेंटों और अन्य आवश्यक सेवाओं से जुड़े कर्मचारियों के तौर पर मोर्चे के काम में जुटे हैं।

सांसदों ने कहा, यह महत्वपूर्ण है कि नागरिक अधिकार कानून सुनिश्चित करता है कि वैश्विक महामारी के इस वक्त में सभी अमेरिकियों के नागरिक और संवैधानिक अधिकार सुरक्षित हों। उन्होंने कहा कि सिर्फ पिछले महीने में ही चीनी-अमेरिकी संगठनों को देशभर से एशियाई लोगों के उत्पीड़न और भेदभाव की 1500 से ज्यादा घटनाओं की शिकायत मिली है।

डेमोक्रेटिक सांसदों ने कहा कि यह मार्च में एफबीआई के उस आकलन के बाद हुआ है जिसमें आशंका जताई गई थी कि एशियाई अमेरिकियों के खिलाफ देशभर में अपराध की घटनाओं में वृद्धि हो सकती है जिससे एएपीआई समुदायों के लिए खतरा होगा।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *