नई दिल्ली: कोरोनावायरस (कोरोनावायरस) के खिलाफ लड़ाई में हांगकांग ने अब तक अच्छा प्रदर्शन किया है। विशेष बात यह है कि पिछले 14 दिनों में संक्रमण का कोई नया मामला सामने नहीं आया है। आशंका जताई जा रही थी कि हांगकांग में कोरोना फिर से उठ पकड़ हो सकती है, लेकिन सरकारी प्रयासों ने इस आशंका को गलत साबित कर दिया। पिछले कुछ हफ्तों में जिस तरह से महामारी को नियंत्रित करने के लिए हांगकांग ने कदम उठाए हैं, वह पूरी दुनिया के लिए एक उदाहरण है कि किस तरह से कोरोना संक्रमण के खतरे को सीमित किया जा सकता है।

कोरोनावायरस के पुन: अधिक शक्ति से हमला बोलने (दूसरी लहर) की आशंका के मद्देनजरंग ने तुरंत कई निर्णय लिए। जैसे कि गैर-निवासियों के प्रवेश पर रोक लगाई गई, यात्रियों को स्थानीय हवाई अड्डों से गुजरने से रोका गया और शहर आने वालों के लिए क्वारंटाइन और जांच उपायों को सख्ती से लागू किया गया। इसके अलावा, जिन लोगों को घर- क्वारंटाइन किया गया था, उन्हें इलेक्ट्रॉनिक ब्रेसलेट पहनाया गया, ताकि उन पर आसानी से नजर रखी जा सके। इन उपायों का फायदा यह हुआ कि संक्रमण के मामले बिल्कुल कम हो गए। पिछले दो हफ्तों से कोरोना का एक भी केस दर्ज नहीं किया गया है।

इससे पहले फरवरी और मार्च में सरकार की तरफ से कुछ सख्त फैसले लिए गए थे। शराब की बिक्री रोकने के साथ ही जिम और खेल परिसरों को पूरी तरह से बंद कर दिया गया था। कई रेस्तरां और कैफे भी बंद थे, जो खुले थे उनके लिए सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का कड़ाई से पालन सुनिश्चित किया गया था। हालाँकि, फेंग में कभी भी लॉकडाउन या स्टे-ऐट-होम जैसे ऑर्डर जारी नहीं किए गए। शुरुआत में इसके लिए फेंग की आलोचना भी हुई, लेकिन अब जिस तरह से कोरोना की रफ्तार रुक रही है, उसे देखते हुए सभी सरकार के फैसलों को सराह रहे हैं। संक्रमण का आखिरी मामला यहां 19 अप्रैल को दर्ज किया गया था।

कुल मिलाकर, 20 अप्रैल से हांगकांग में केवल 15 नए मामले दर्ज किए गए हैं, और सभी रोगियों को हाल ही में यात्रा की थी। यानी वह बाहर ट्रांस से आये हैं। नए मामलों के साथ हांगकांग में चेतों के कुल संख्या 1,041 हो गए हैं जबकि चार लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। गौरतलब है कि कोरोनावायरस पहली बार पिछले साल दिसंबर में वुहान में सामने आया था। 24 जनवरी को इसनेँग में प्रवेश किया और फिर पूरी दुनिया में फैल गया।

कोरोना के प्रसार को नियंत्रित करने के बाद अब हांगकांग में जीवन सामान्य हो रहा है। सोमवार को सरकार ने टेनिस कोर्ट की तरह मनोरंजक और खेल स्थलों को फिर से खोल दिया है। साथ ही ड्राइविंग लाइसेंस टेस्ट और विकलांग और बुजुर्गों के लिए सामुदायिक सेवाओं को फिर से शुरू किया गया है। हालाँकि, स्कूल अभी भी पूरी तरह से बंद हैं और बच्चे अनलाइन क्लास ले रहे हैं। लेकिन अधिकारी अब गर्मी की छुट्टी से पहले शैक्षणिक वर्ष के अंतिम कुछ हफ्तों के लिए स्कूलों को फिर से खोलने की संभावना पर विचार कर रहे हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *