• सीडीएसएल और एनएसडीएल में खुला डीमैट खाता
  • सोमवार को निफ्टी और सेंसेक्स में भारी गिरावट रही

दैनिक भास्कर

04 मई, 2020, 06:21 PM IST

मुंबई। देश में को विभाजित -19 के कारण लॉकडाउन होने के बावजूद शेयर बाजार में निवेशकों की राय बनी हुई है। मार्च-अप्रैल महीने में कुल 12 लाख नए निवेशकों ने सीडीएसएल और एनएसडीएल में डीमैट अकाउंट खोले।

एनएसई के आठ संस्करणों में 53 प्रतिशत का उछाल

जानकारी के मुताबिक एनएसई पर इंटरनेट शनिवार की अप्रैल में 53 प्रतिशत उछाल हो गया। जबकि एनएसई का सूचकांक 23 मार्च के निचले स्तर के बाद से एक तिहाई बढ़ गया है। हालांकि इस दौरान इंस्टीट्यूशनल अधिकारियों ने सेमली की। आंकड़े बताते हैं कि मार्च और अप्रैल में लगभग 12 लाख नए निवेशकों ने सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज (सीडीएसएल) के साथ डीमैट अकाउंट खोले हैं। मार्च से सीडीएसएल में लगभग 6.18 लाख नए डीमैट खाते खोले गए और अप्रैल में 6 लाख खाते खुले। नेशनल सिक्यूरिटीज डिपॉजिटरी लि। (एनएसडीएल) ने फरवरी के अंत से आंकड़ों का खुलासा नहीं किया। लेकिन बाजार के जानकारों को इन दो महीनों में कुछ लाख नए खातों के जुड़ने की उम्मीद है।

11 महीने में कुल 42 लाख डीमैट खाते हैं

अप्रैल 2019 और फरवरी 2020 के बीच 11 महीनों में कुल 42 लाख डीमैट खाने वालों ने खोले थे। ब्रोकर्स ने कहा कि फरवरी के मध्य से कई क्वालिटी स्टॉक्स की कीमतों में तेज गिरावट ने रिटेलर्स को म्यूचुअल फंड के बजाय सीधे खरीदारी करने के लिए आकर्षित किया होगा। एक ब्रोकर्स हाउस ने कहा कि हमने पिछले कुछ महीनों में रिकॉर्ड 3 लाख नए ग्राहक जोड़े हैं और उनमें से 65 प्रति पहली बार निवेश कर रहे हैं। शुद्धता बाजार में इस तरह की दृश्यों का प्रमुख कारण आकर्षक मूल्यांकन, लॉकडाउन और वर्क फ्रॉम होम के कारण संचरण में आसानी से है।

23 मार्च से 30 अप्रैल तक बाजार में अच्छी तरह से रिकवरी होगी

बता दें कि सेंसेक्स 19 फरवरी से 23 मार्च के बीच 37 प्रति गिरा और उसके बाद से 30 प्रति की रिकवरी हुई। इस अवधि के दौरान, संस्थान के अधिकारियों ने 6,000 करोड़ रुपये से अधिक के शेयर बेचे। इसी दौरान विदेशी निवेशकों ने 16,000 करोड़ रुपये के स्टॉक बेचे और घरेलू संस्थानों ने 10,000 करोड़ रुपये के स्टॉक की खरीद की। एनएसई के आंकड़ों से पता चलता है कि इंटरनेट शनिवार को अप्रैल में 53 फीसदी उछाललकर रोजाना 12,602 करोड़ रुपए की औसत पहुंच गई है। एंजेल ब्रोकिंग के सीईओ विनय अग्रवाल ने कहा, नए क्लाइंट्स सिर्फ क्वालिटी स्टॉक्स खरीदने के लिए आए थे।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *