• जियो टेलीकॉम ने हाल में फेसबुक से जुटाई 43,574 करोड़ रुपये की राशि थी
  • सोमवार को सिल्वर लेक ने 5,655 करोड़ रुपए का निवेश किया

दैनिक भास्कर

04 मई, 2020, 03:43 PM IST

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) की 2021 तक ऋण मुक्त होने की योजना है। इस चरण में उसने फेसबुक से निवेश जुटाया है। इसके बाद रिलायंस के बॉन्ड की कारों दो महीने के उच्च स्तर पर पहुंच गए हैं।

13 मार्च के बाद बॉन्ड की कारों का उच्च स्तर

ब्लूमबर्ग के आंकड़ों के मुताबिक गुआंग में 11:40 बजे ग्रुप के 3.667 प्रतिशत बॉन्ड 0.4 सेंट 100.28 डॉलर तक पहुंच गया जो 13 मार्च के बाद से उच्चतम स्तर पर है। ये बॉन्ड 2022 में मैच्योर होंगे। इसी तरह 2025 में मैच्योर होनेवाले ग्रुप के 4.125 पर्सेंट बॉन्ड का सुपर लेवल 102.85 प्रतिशत पर पहुंच गया। पिछले सप्ताह कंपनी के बोर्ड ने 53,125 अरब रुपए ($ 7.1 बिलियन) प्रोत्साहन के प्रस्ताव पर हस्ताक्षर किए थे, जिन्हें मौजूदा निवेशकों को बेचा जाएगा। राइट्स इस्यू का यह फैसला फेसबुक इंक द्वारा रिलायंस की टेलीकॉम कंपनी जियो प्लेटफॉर्म्स में 5.7 बिलियन डॉलर के लिए 9.99 प्रतिशत हिस्से खरीदने की घोषणा के कुछ दिनों बाद आया है।

निवेशकों में विश्वास पैदा करने की कोशिश

सोमवार को आरआईएल ने कहा कि प्राथमिक-विविध फर्म सिल्वर होल्डिंग पार्टनर्स जियो में लगभग 753 करोड़ डॉलर का निवेश करेगा। फंडिंग की कुछ योजनाओं के साथ, मुकेश अंबानी ऐसे समय में निवेशकों में विश्वास पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं, जब कोरोनावायरस महामारी से तेल की कीमतों में औंधे मुंह गिरावट आई है। तेल की कीमतों में गिरावट ने रिलायंस के परिचालन में अनिश्चितता भी बढ़ा दी है जिसके तहत यह कंपनी सऊदी अरब ऑयल कंपनी को अपने तेल और रसायन विंग में अनुमानित 15 बिलियन डॉलर में हिस्से बेचने के लिए बातचीत कर रही थी।

गुजरात के मुताबिक वैश्विक स्तर पर इस अनिश्चित माहौल में भी रिलायंस बड़े ग्लोबल इंजीनियर्स के साथ निवेश समझौते करने में कामयाब रही है। इन धारणाओं से ग्रुप को कर्ज कम करने में मदद मिलेगी। समय से पहले ऋण मुक्त होने का लक्ष्य भी कंपनी पूरा कर लेगी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *