रिपोर्टर डेस्क, अमर उजाला, अल्मोड़ा

Updated Mon, 04 मई 2020 08:53 PM IST

शहीद दिनेश सिंह
– फोटो: फाइल फोटो

ख़बर सुनता है

उत्तराखंड में अल्मोड़ा के भनोली तहसील के मिरगाँव निवासी लांसेक दिनेश सिंह का पार्थिव शरीर सोमवार को उनके गांव नहीं पहुंच पाए। बताया गया है कि मौसम खराब रहने के कारण हेलीकॉप्टर गुरुरावबंगे के लिए उड़ान नहीं भर गई।

शाम शाम तक पार्थिव शरीर के पहुंचने को लेकर संशय बना रहा। इस बीच प्रदेश सरकार की ओर से पहुंचे शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने शहीद के घर जाकर अपने माता-पिता को सांत्वना दी। उधर अल्मोड़ा से सिखा रेज़मेंट की टुकड़ी भी पार्थिव शरीर को सलामी देने के लिए गुरुाराबंगे पहुंच चुके हैं।

बता दें कि उत्तरी कश्मीर के एक गांव में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में कर्नल आशुतोष शर्मा और मेजर अनुज, अल्मोड़ा जिले के मिरगांव निवासी लांस नायक दिनेश सिंह सहित पांच जवान शहीद हो गए थे। इधर सोमवार को शहीद का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचने की उम्मीद था। इसे देखते हुए सैन्य और राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि की पूरी तैयारियां भी कर ली गई थी।

प्रदेश सरकार की ओर से शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे, विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान, क्षेत्रीय विधायक गोविंद सिंह प्रमुखवाल और भाजपा नेता सुभाष पांडे, डीएम, एसएसपी सहित कई लोग गुरुाराबंगे पहुंच गए थे।

बताया गया है कि अब शहीद का पार्थिव शरीर मंगलवार को ही उनके गांव पहुंचेगा। बाद में प्रदेश के शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे और पूर्व सांसद बलराज पासी ने शहीद दिनेश के घर जाकर अपने माता-पिता को सांत्वना दी। उधर सैनिकों की टुकड़ी ने सलामी देने का पूर्वाभ्यास भी किया।

प्रशासन से मिली जानकारी के मुताबिक सोमवार देर शाम तक शहीद दिनेश का पार्थिव शरीर बरेली नहीं पहुंच पाया था। सेना सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पार्थिव शरीर चंडीगढ़ पहुंच गया है और वहां से हवाई मार्ग द्वारा बरेली लाया जाएगा। सोमवार रात तक पार्थिव शरीर के बरेली पहुंच जाने की उम्मीद है। अगर मंगलवार को मौसम ठीक हो रहा है तो हेलीकॉप्टर से उनकी देह गुरुरावबंगे लाई जाएगी। हेलिकॉप्टर की उड़ान नहीं भर पाने की स्थिति में सड़क से पार्थिव शरीर गांव लाया जाएगा।

सार

  • प्रदेश सरकार की ओर से शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने परिजनों को सांत्वना दी
  • अंतिम सलामी देने के लिए सैनिकों की टुकड़ी भी पहुंची गुरुराबांगे
  • अब मंगलवार को होगा कानूनी सम्मान के साथ अंत्येष्टि

विस्तार

उत्तराखंड में अल्मोड़ा के भनोली तहसील के मिरगाँव निवासी लांसेक दिनेश सिंह का पार्थिव शरीर सोमवार को उनके गांव नहीं पहुंच पाए। बताया गया है कि मौसम खराब रहने के कारण हेलीकॉप्टर गुरुरावबंगे के लिए उड़ान नहीं भर गई।

शाम शाम तक पार्थिव शरीर के पहुंचने को लेकर संशय बना रहा। इस बीच प्रदेश सरकार की ओर से पहुंचे शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने शहीद के घर जाकर अपने माता-पिता को सांत्वना दी। उधर अल्मोड़ा से सिखा रेज़मेंट की टुकड़ी भी पार्थिव शरीर को सलामी देने के लिए गुरुाराबंगे पहुंच चुके हैं।

बता दें कि उत्तरी कश्मीर के एक गांव में आतंकवादियों के साथ हुई मुठभेड़ में कर्नल आशुतोष शर्मा और मेजर अनुज, अल्मोड़ा जिले के मिरगांव निवासी लांस नायक दिनेश सिंह सहित पांच जवान शहीद हो गए थे। इधर सोमवार को शहीद का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचने की उम्मीद था। इसे देखते हुए सैन्य और राजकीय सम्मान के साथ अंत्येष्टि की पूरी तैयारियां भी कर ली गई थी।

प्रदेश सरकार की ओर से शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे, विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान, क्षेत्रीय विधायक गोविंद सिंह प्रमुखवाल और भाजपा नेता सुभाष पांडे, डीएम, एसएसपी समेत कई लोगों के गुरुरावबंगे पहुंच गए थे।


आगे पढ़ें

पहले बरेली और वहाँ से गुरुरावबंगे लाया जाएगा पार्थिव शरीर





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *