• अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने कहा- हमारे पास अंतिम वैक्सीन तैयार है, कई औषधीय कंपनियां इसे तैयार करने के लिए काफी मायने रखती हैं
  • अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो का दावा-कोरोनावायरस वुहान के जापान में तैयार किया गया, इस बात का ठोस सबूत है

दैनिक भास्कर

04 मई, 2020, 03:54 PM IST

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने दावा किया है कि दिसंबर तक कोरोना का वैक्सीन तैयार कर लिया जाएगा। उन्होंने फॉक्स न्यूज के एक कार्यक्रम में रविवार को यह बात कही। ट्रम्प ने कहा कि हम पहले से कहीं जल्द वैक्सीन तैयार कर लेंगे। यह इस साल के अंत तक उपलब्ध हो सकता है। हम इसके लिए पूरी कोशिश कर रहे हैं। हम सप्लाई लाइन तैयार कर रहे हैं, यहाँ तक कि हमारे पास अंतिम वैक्सीन भी तैयार है।

इस बीच, देश के होमलैंड सिक्योरिटी डिपार्टमेंट की खुफिया रिपोर्ट सामने आई है। इसमें चीन के वायरस से जुड़ी जानकारी छिपाने की बात कही गई है। न्यूज एजेंसी एपीपी ने चार पन्नों की रिपोर्ट के बारे में अपने होने का दावा किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, चीन के नेताओं ने इस साल जनवरी में मानकर महामारी के बारे में नहीं बताया। वह इसके फैलने की बात और उसकी गंभीरता भी छिपाई।

पोम्पियो का दावा- वायरस वुहान के जापान में ही तैयार हुआ
अमेरिका के विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने रविवार को दावा किया है कि कोरोनावायरस वुहान के जापानी में तैयार किया गया था। इस बात के ठोस सबूत हैं। उन्होंने एबीसी न्यूज से बातचीत में यह बात कही। पोम्पियो ने कहा कि विशेषज्ञ भी ऐसा सोचते हैं कि यह वायरस मानव निर्मित है। मेरे पास ऐसा कोई कारण नहीं है कि मैं इस पर विश्वास न करूं। इससे पहले बीते गुरुवार को ट्रम्प ने भी इस वायरस के वुहान के जापान से फैलने का दावा किया था। अमेरिकी खुफिया एजेंसियों ने कोरोना के मानव निर्मित नहीं होने की बात कही है।

अमेरिका में हो सकता है एक लाख से ज्यादा मौतें: ट्रम्प

ट्रम्प ने कहा कि देश में मौत का आंकड़ा पहले के अनुमान से बहुत हो सकता है। इससे 75 हजार या एक लाख से अधिक मौतें हो सकती हैं। यह भयानक है, हमें इससे एक आदमी भी नहीं खोना चाहिए। एक सप्ताह पहले उन्होंने कोरोना से लगभग 60 हजार लोगों के मरने का अनुमान जाहिर किया था। अब तक अमेरिका में 68 हजार से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं।

ट्रम्प का दावा विशेषज्ञों के बयानों के उलट

वैक्सीन पर ट्रम्प का दावा अमेरिका के देश के स्वास्थ्य विशेषज्ञ के बयानों के उलट है। अमेरिका के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ ऑल एंड इंफेक्शियस डिसीज के डायरेक्टर डॉ। एंथनी फॉसी ने हाल ही में कहा था कि वैक्सीन अगले साल जनवरी तक तैयार हो सकती है। ऐसा तब होगा जब दवा कंपनियां पूरी जांच और मंजूरी से पहले इसका उत्पादन शुरू करने को तैयार हों। स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा था कि कोरोना का वैक्सीन तैयार होने में 18 महीने का समय लगेगा। सामान्य रूप से एक वैक्सीन तैयार करने और इसे बाजार में उतारने में कई साल लग जाते हैं।

आम तौर पर वैक्सीन तैयार में होने में कई साल लग जाते हैं

जॉनसन एंड जॉनसन कंपनी ने अमेरिका के स्वास्थ्य और ह्यूमन सर्विस के साथ वैक्सीन तैयार करने के लिए साझेदारी की है। कंपनी ने भी 2021 की शुरुआत तक वैक्सीन के उत्पादन की मंजूरी मिलने की बात कही है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं के मुताबिक, अगर वैक्सीन प्रभावी होगी तो सितंबर से इसे बड़े पैमाने पर बांटा जा सकेगा। वहीं, डब्ल्यूएचओ के मुताबिक, कई देशों में इसे तैयार करने की कोशिश जारी है। ब्रिटेन में तो क्लीनिकल ट्रायल भी शुरू हो चुका है। यूरोपीय संघ ने इसके लिए एक आंतरिक कार्यक्रम का नेतृत्व करने की घोषणा की है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *