चीन में कोरोनावायरस के फिर से लौटने का खतरा बरकरार है। पिछले दो सप्ताह में 10 प्रांतीय स्तर के क्षेत्रों में स्थानीय स्तर पर प्रसारित कोरोनावायरस की जानकारी दी गई है। एक शीर्ष अधिकारी ने सोमवार को इस बारे में जानकारी दी।

राष्ट्रीय स्वास्थ्य आयोग (एनएचएस) ने कहा कि रविवार को कोरोनावायरस के तीन नए मामले रिपोर्ट किए गए हैं। ये तीनों चीनी नागरिक विदेश से वापस आए थे। साथ ही, 13 नए एसिम्टोमैटिक रोगी (ऐसे रोगी जिनमें बीमारी के लक्षण दिखाई नहीं देते) भी सामने आए। इनमें दो विदेश से आए चीनी नागरिक भी शामिल थे।

एनएचएस ने कहा कि रविवार तक 962 एसम्टोमैटिक केस सामने आए, जिनमें 98 विदेश से लौटे मामले भी शामिल थे। ये सभी को चिकित्सा निगरानी में रखा गया है।

एसिम्टोमैटिक मामले के तौर पर उन लोगों को उल्लेखित किया जाता है जो को विभाजित -19 पॉजिटिव पाया गया लेकिन उनमें पूंछ, खांसी और गले में खराश जैसे लक्षण सामने नहीं आए। हालांकि, इनसे दूसरों को बीमारी के फैलने का खतरा है।

राज्य द्वारा संचालित शिन्हुआ समाचार एजेंसी ने बताया कि एनएचएस प्रवक्ता मी फॉ ने कहा है कि पिछले 14 दिनों में 10 प्रांतीय स्तर के क्षेत्रों ने स्थानीय स्तर पर प्रसारित नए कोरोनावायरस मामलों और एसिम्टोमैटिक मामलों की जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि इससे एक बात को स्पष्ट है कि महामारी के फिर से फैलने का खतरा अभी भी मौजूद है।

शिन्हुआ की रिपोर्ट में कहा गया कि हालांकि, बीजिंग में बहुत से कार्यालय, व्यवसाय और पर्यटक स्थल फिर से खोले गए हैं, लेकिन कुछ सार्वजनिक स्थानों को जैसे सिनेमाघरों और आर्केड को महामारी के हस्तक्षेप और नियंत्रण के लिए बंद रखा गया है।

चीन में रविवार तक इस खतरनाक वायरस से 4633 लोगों की मौत हो चुकी है। हालांकि, रविवार को इस कम्युनिस्ट देश में कोविड -19 से कोई मौत नहीं हुई। रविवार तक चीन में अस्थिरों की संख्या 82,880 तक पहुंच गई, जिसमें से 481 का अभी भी इलाज चल रहा है।

चीन के वुहान शहर में दिसंबर में सामने आया नोवल कोरोनावायरस से अब तक सीखने में 2,50,000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है।) वहीं, 35 लाख लोग इस वायरस से प्रभावित हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *