अमर उजाला नेटवर्क, नई दिल्ली
अपडेटेड सोम, 04 मई 2020 06:09 AM IST

ख़बर सुनता है

देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 40 हजार पार हो चुका है। पिछले दो दिन में 4,898 नए रोगी सामने आए हैं। जबकि पिछले 24 घंटे में पहली बार 2487 संभावित मरीज दर्ज किए गए हैं। उनके अलावा पहली बार ही 24 घंटे में 83 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत भी हुई है। देश में पहले 10 हजार मरीज 75 दिन में मिले थे। इसके बाद अगले 10 हजार रोगियों के दिन में मिले थे। अब 11 दिन में 20 हजार मरीज मिले।

इस बीच, महाराष्ट्र में संभावित रोगियों की संख्या 12 हजार पार हो चुकी है। यहां रविवार शाम तक कुल 12,296 मरीज सामने आए। त्रिपुरा में बीते 26 अप्रैल से कोई नया मामला सामने नहीं आया था लेकिन रविवार को यहां भी दो नए मरीज मिले हैं। मध्य प्रदेश (5.3), गुजरात (5) और महाराष्ट्र, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल में कोरोनावायरस की मृत्युदर 4.2 प्रति दर्ज की गई है।

लॉकडाउन लागू होने के बाद जांच और ट्रेसिंग पर जब फोकस किया जाता है तो नए रोगियों की संख्या बढ़ रही है। वर्तमान में, कुछ समय तक बहुत नए रोगी सामने आएंगे लेकिन उसके बाद इनकी संख्या कम होने लगेगी, क्योंकि तब तक सरकार ज्यादातर शिशु रोगियों के पास पहुंच बनाने में कामयाब हो चुकी होगी।

उन्हें उम्मीद है कि जताई है कि अगले एक सप्ताह में मरीजों का ग्राफ जरूर बदल जाएगा। वहीं, स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो नए मरीजों की संख्या बढ़ने की चिंताजनक नहीं है क्योंकि अब लॉकडाउन का असर दिखाई दे रहा है।

अहमदाबाद में 8 की मौत पंजाब में 1000 के पार

गुजरात में रविवार को जहां कोरोना संक्रमण से जूझकर ठीक होने वालों का आंकड़ा 1000 के पार पहुंच जाने की अच्छी खबर मिली, वहीं राज्य में एक दिन में सबसे ज्यादा 28 लोगों की मौत की बुरी खबर भी सामने आई। उधर, पंजाब में तेजी से बढ़ने वाला मोड़ हुआतोंों का सिलसिला रविवार को भी जारी किया जा रहा है।

रविवार को 331 नए मामले सामने आए, जिनमें से ज्यादातर महाराष्ट्र के नांदेड़ से वापस आए श्रद्धालु ही हैं। इसके साथ ही राज्य में चेतों की संख्या 1000 के पार पहुंच गई है।

देश में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 40 हजार पार हो चुका है। पिछले दो दिन में 4,898 नए रोगी सामने आए हैं। जबकि पिछले 24 घंटे में पहली बार 2487 संभावित मरीज दर्ज किए गए हैं। उनके अलावा पहली बार ही 24 घंटे में 83 लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत भी हुई है। देश में पहले 10 हजार मरीज 75 दिन में मिले थे। इसके बाद अगले 10 हजार रोगियों के दिन में मिले थे। अब 11 दिन में 20 हजार मरीज मिले।

इस बीच, महाराष्ट्र में संभावित रोगियों की संख्या 12 हजार पार हो चुकी है। यहां रविवार शाम तक कुल 12,296 मरीज सामने आए। त्रिपुरा में बीते 26 अप्रैल से कोई नया मामला सामने नहीं आया था लेकिन रविवार को यहां भी दो नए मरीज मिले हैं। मध्य प्रदेश (5.3), गुजरात (5) और महाराष्ट्र, कर्नाटक और पश्चिम बंगाल में कोरोनावायरस की मृत्युदर 4.2 प्रति दर्ज की गई है।

लॉकडाउन लागू होने के बाद जांच और ट्रेसिंग पर जब फोकस किया जाता है तो नए रोगियों की संख्या बढ़ रही है। वर्तमान में, कुछ समय तक बहुत नए रोगी सामने आएंगे लेकिन उसके बाद इनकी संख्या कम होने लगेगी, क्योंकि तब तक सरकार ज्यादातर शिशु रोगियों के पास पहुंच बनाने में कामयाब हो चुकी होगी।

उन्हें उम्मीद है कि जताई है कि अगले एक सप्ताह में मरीजों का ग्राफ जरूर बदल जाएगा। वहीं, स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो नए मरीजों की संख्या बढ़ने की चिंताजनक नहीं है क्योंकि अब लॉकडाउन का असर दिखाई दे रहा है।

अहमदाबाद में 8 की मौत पंजाब में 1000 के पार

गुजरात में रविवार को जहां कोरोना संक्रमण से जूझकर ठीक होने वालों का आंकड़ा 1000 के पार पहुंच जाने की अच्छी खबर मिली, वहीं राज्य में एक दिन में सबसे ज्यादा 28 लोगों की मौत की बुरी खबर भी सामने आई। उधर, पंजाब में तेजी से बढ़ने वाला मोड़ हुआतोंों का सिलसिला रविवार को भी जारी किया जा रहा है।

रविवार को 331 नए मामले सामने आए, जिनमें से ज्यादातर महाराष्ट्र के नांदेड़ से वापस आए श्रद्धालु ही हैं। इसके साथ ही राज्य में चेतों की संख्या 1000 के पार पहुंच गई है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *