• टॉप 12 फंड हाउस के सीईओ का वेतन 2019-20 में 2-132 प्रति तक बढ़ा
  • एचडीएफसी एमएफ के सीईओ मिलिंद बर्वे को सबसे ज्यादा 7.43 करोड़ रुपये का वेतन मिला

दैनिक भास्कर

04 मई, 2020, 10:17 AM IST

नई दिल्ली। देश की शीर्ष म्यूचुल फंड कंपनियों के सीईओ के वेतन में 2019-20 के दौरान वृद्धि हुई। एचडीएफसी म्यूचुअल फंड के मिलिंद बर्वे इस उद्योग में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले अधिक कुशल हैं। कारोबार में वृद्धि के कारण अधिकारियों के वेतन में वृद्धि की गई है। म्यूचुअल फंड कंपनियों द्वारा सार्वजनिक किए गए आंकड़ों के विश्लेषण के अनुसार असेट अंडर मैनेजमेंट (एयूएम) के हिसाब से देश के टॉप 12 फंड हाउस के सीईओ का वेतन कारोबारी साल 2019-20 में इससे पहले के साल के मुकाबले 2 से लेकर 132 फीसदी तक बढ़ सकता है। । हालांकि इस दौरान आदित्य बिड़ला सनलाइफ एमएफ, निप्पों इंडिया एमएफ और डीएसपी एमएफ के सीईओ के वेतन में 19 फीसदी तक गिरावट आई। ज्यादातर कंपनियां मुख्य निवेश अधिकारियों का वेतन भी बढ़ाती हैं।

2018-19 के प्रदर्शन के आधार पर 2019-20 के लिए अधिकारियों के वेतन में वृद्धि
निधि हाउसेज ने जो वेतन बताए हैं, वे 2019-20 के लिए हैं। उद्योग के अधिकारियों के मुताबिक ये वेतन अप्रैल-मई 2019 में तय किए गए थे। इन्हें 2018-19 में कंपनी की कमाई की क्षमता के आधार पर तय किया गया था, जो उस समय रिकॉर्ड स्तर पर था। कुल मिलाकर 2019-20 में म्यूचुअल फंड उद्योग ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। हालांकि कोरोनावायरस की महामारी के कारण मार्च में इस उद्योग में रिकॉर्ड गिरावट देखी गई। म्यूचुअल फंड उद्योग में 44 कंपनियां हैं। 31 मार्च 2020 के अंत में इनका कुल एयूएम 27 लाख करोड़ रुपये हो गया। मार्च अंत 2019 में यह 24.5 लाख करोड़ रुपये और मार्च अंत 2018 में यह 23 लाख करोड़ रुपये था।

एसबीआई एमएफ के अश्विनी भाटिया का वेतन सबसे अधिक 132 प्रति बढ़ा
देश के दूसरे सबसे बड़े फंड हाउस एचडीएफसी एमएफ के सीईओ बर्वे को पिछले वित्त वर्ष के लिए 7.43 करोड़ रुपये वेतन मिला और वह आगे बढ़ रहा था। उनके पैकेज में 3 प्रतिशत की वृद्धि हुई। उठ के लिहाज से एसबीआई एमएफ के सीईओ अश्विनी भाटिया के वेतन में सबसे अधिक 132 प्रतिशत की वृद्धि हुई। उनका वेतन 22 लाख रुपये से बढ़कर 51 लाख रुपये हो गया। हालांकि, भाटिया अभी भी शीर्ष निधि हाउसेज में सबसे कम वेतन पाने वाले सीईओ हैं। एसबीआई एमएफ एयूएम के लिहाज से देश का सबसे बड़ा फंड हाउस है। यूटीआई एमएफ और कोटक एमएफ जैसे फंड हाउसेज ने भी अपने सीईओ के वेतन में जबरदस्त बढ़ोतरी की।

म्यूचुअल फंड उद्योग में सबसे ज्यादा वेतन पाने वाले सीईओ की सूची

क्रम

कंपनी सीईओ 2019-20 का वेतन (रुपये में) 2018-19 के मुकाबले वृद्धि या गिरावट विशेष टिप्पणी
1 एचडीएफसी म्यूचुअल फंड मिलिंद बर्वे 7.43 करोड़ रु 3 प्रति बढ़ा
2 कोटक एम.एफ. इलेश शाह 7.32 करोड़ रु 68 प्रति बढ़ा
3 आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल एमएफ निमेश शाह (एमडी) 6.98 करोड़ रु 12 प्रति बढ़ा
4 निप्पों इंडिया एम.एफ. संदीप सिक्का 6.01 करोड़ रु 8 प्रति बढ़ा
5 आदित्य बिड़ला सनलाइफ एमएफ ए बालासुब्रमणियन 5.41 करोड़ रु 7 प्रति बढ़ा
6 आईडीएफसी म्यूचुअल फंड विशाल कपूर 5.12 करोड़ रु 2 प्रति बढ़ा
7 एक्सिस एमएफ चंद्रेश निगम 4.8 करोड़ रु 20.9 प्रति बढ़ा वन टाइम पेआउट के साथ कुल पैकेज 17.67 करोड़ रुपये
8 यूटीआई एमएफ इम्तियाजुर रहमान (कार्यवाहक सीईओ) 4.48 करोड़ रु 97 प्रति बढ़ा
9 डीएसपी एमएफ कल्पेन पारेख 4.2 करोड़ रु 19 प्रति बढ़ा
10 फ्रेंकलिन टेपल्टन एमएफ संजय सप्रे (प्रेसिडेंट) 3.50 करोड़ रु 17 प्रति बढ़ा
1 1 एलएंडटी एमएफ कैलाश कुलकर्णी 2.7 करोड़ रु प्रति बढ़ा
12 एसबीआई एम.एफ. अश्विनी भटिया 51 लाख 132 प्रति बढ़ा

नोट: फ्रैंकलीन टेपल्टन एमएफ के प्रेसिडेंट संजय सप्रे के 2019-20 के वेतन की जानकारी नहीं मिल पाई, क्योंकि कंपनी का व्यवसाय वर्ष सितंबर में समाप्त होता है। 30 सितंबर 2019 को समाप्त कारोबारी साल में सप्रे को 3.50 करोड़ रुपये का वेतन मिला। जो इससे पिछले कारोबारी साल के मुकाबले 17 फीसदी ज्यादा था।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *