कराची: पाकिस्तान (पाकिस्तान) के भ्रष्टाचार रोधी दूधय राष्ट्रीय उत्तरदेही ब्यूरो (नैब) ने अपनी एक रिपोर्ट में यह सनसनीखेज खुलासा किया है कि सिंध प्रांत के सरकारी गोदामों से 5 अरब 35 करोड़ 50 लाख पाकिस्तानी रुपये की कीमत का 1 लाख 64 हजार 797 करोड़ टन गायब हो गया। पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल की रिपोर्ट के मुताबिक नैब ने सिंध के नौ जिलों में 15 अरब 85 करोड़ रुपये की कीमत के सरकारी गेहूं में हेरफेर और चोरी को पकड़ने के लिए नौ अलग-अलग जांच शुरू की थी।

जांच के तहत टीमों ने नौ जिलों में सरकारी बैंकों पर छापे मारे। छापे के दौरान पता चला कि सरकारी गोदामों से 5 अरब 35 करोड़ 50 लाख रुपये की कीमत का 1 लाख 64 हजार 797 करोड़ टन गायब हो गया है।

नैब की रिपोर्ट में कहा गया है कि गेहूं गायब होने के मामले में खाद्य विभाग के संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों ने अपनी गलती मान ली है ‘प्ली बारगेन’ के द्वारा 2 अरब 11 करोड़ 20 लाख रुपये वापस किए गए हैं।

नैब ने बताया कि जांच में पता चला कि सिंध के सक्खर, लरकाना और बेंजीग्राम संभागों के नौ जिलों से कराची को 74 करोड़ 56 लाख 80 हजार रुपये की कीमत का 22 हजार टन टन गेहूं कराची के गोदामों में ही नहीं पहुंचा।

ये भी पढ़ें- पाकिस्तान में 1 दिन में कोरोना के रिकॉर्ड नया मामला, 18 हजार से ज्यादा टोटल केस

भ्रष्टाचार रोधी निकाय नैब ने कहा कि गेहूं के इस घपले और चोरी में खाद्य विभाग के अफसर और कई अन्य लोग शामिल पाए गए हैं। उनके खिलाफ चार केस दर्ज कर लिए गए हैं और केस भी दर्ज किए जाएंगे।

गौरतलब है कि कुछ महीने पहले पाकिस्तान में गेहूँ और आटे की भारी किल्लत हो गई थी और इनकी कीमत बेतहाशा बढ़ गई थी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *