डॉ। हर्षवर्धन
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि कोविड -19 के मामले बढ़ने की दर कुछ समय से लगभग स्थिर है। मरीजों के ठीक होने की दर सुधर रही है। उन्होंने कहा कि भारत सफलता की राह पर है और देश इस महामारी के खिलाफ लड़ाई जीतगा। उन्होंने कहा कि अब तक देश में कोविड -19 के 10,000 मरीज ठीक हो चुके हैं।

हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड -19 के रोगियों के ठीक होने की दर में निरंतर सुधार हुआ है, जो दिखाता है कि ज्यादा से ज्यादा रोगी इस बीमारी से उबर रहे हैं और बेहतर होने के साथ घर लौट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नए मामलों के बढ़ने की दर भी कुछ समय से स्थिर है। मंत्री के हवाले से एक बयान में कहा गया कि रविवार को प्राप्त आंकड़ों के अनुसार पिछले तीन दिन से वायरस के मामले दोगुने होने की दर के एक दिन है। सात दिन के लिहाज से देखें तो 11.7 दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं और 14 दिन के हिसाब से देखें तो 10.4 दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमने आज की तारीख तक दस लाख से अधिक मामलों की जांच कर ली है और इस समय एक दिन में 74 हजार से अधिक जांच की जा रही हैं। मंत्री ने कहा कि सरकार ने पूरे भारत में लगभग 20 लाख बैगई किट लिस्ट की हैं और 100 से अधिक देशों को दवाओं (हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और पैरासीटामोल दोनों) की आपूर्ति की है।

उन्होंने कहा कि भारत इस मामले में अन्य देशों की तुलना में बेहतर स्थिति में है और विशेष को विभाजित -19 अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में ढाई लाख से अधिक बिस्तरों के साथ किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए सक्षम है।

स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से लॉकडाउन के तीसरे चरण का पूरी तरह पालन करने और इसे संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए प्रभावी हस्तक्षेप मानकर चलने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि हम सफलता की राह पर हैं और को विभाजित -19 के खिलाफ इस युद्ध को जीतेंगे। उन्होंने लोगों से कोविद -19 के रोगियों का इलाज कर रहे डॉक्टरों का बहिष्कार नहीं करने और इस घातक बीमारी से उबरदार रोगियों को अपमानित करने की अपील की।

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि वे हमारे परख हैं और सकारात्मक रवैयाये के लायक हैं। मंत्री ने। कोरोना बेटियों की भी तारीफ की। उन्होंने कहा कि आज, भारतीय वायु सेना पूरे देश में इन मार्टों पर हेलीकॉप्टरों से पुष्पवर्षा कर उन्हें सम्मान दे रही है।

हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड -19 से सामना में भारत के प्रयासों की न केवल विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने तारीफ की है, बल्कि पूरी दुनिया एक स्वर में उन्हें सराह रही है। स्वास्थ्य मंत्री ने यहां लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज (एलएचएमसी) का दौरा किया और कोविड -19 के प्रबंधन की स्थिति का जायजा लिया।

अस्पताल के कोविद -19 प्रखंड में हर्षवर्धन ने वीडियो कॉल से दो इंटर्न डॉक्टरों से बातचीत की जो यहां मरीजों का इलाज करने के दौरान संवेदनशील हो गए और उन्हें भर्ती कराया गया है।

मंत्री ने डिजिटल माध्यम से कोविड -19 वार्ड में भर्ती दो रोगियों से भी बात की जिन्होंने यहां की सुविधाओं के बारे में उन्हें बताया। हर्षवर्धन ने कहा कि पिछले कुछ दिन में मैंने एम्स दिल्ली, एलएनजेपी, आरएमएल, सफदरजंग, एम्स झज्जर, राजीव गांधी सुपर स्पेशियलिटी अस्पतालों और अब एलएचएमसी का दौरा कर को विभाजित -19 के बीच की तैयारी के लिए जायजा लिया है और मैं इन अस्पतालों के कोरोनाइन के प्रकोप से प्रभावी तरीके से सामना के बंदोबस्त से संतुष्ट हूं।

उन्होंने कहा कि देश में इस समय 130 जिले हास्पलॉट, 284 गैर-हास्पस्पॉट और 319 जिले अंतर रहित हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार देश में कोरोनावायरस के अब तक कुल 39,980 मामले सामने आए हैं।

भारत में 22 अप्रैल को कोरोनावायरस के 20,471 मामले थे। यहाँ तक पहुँचने में हमें लगभग 12 सप्ताह का समय लगा दिया। इसके अगले 11 दिन में, यानी 3 मई की सुबह तक मामलों की संख्या 40 हजार के करीब पहुंच गई है। इस दौरान मामलों की रोजमर्रााना औसत वृद्धि की दरे 5.2 से 8.1 प्रति के बीच रही है।

देश में अब तक 10 लाख से ज्यादा आरटी-पीसीआर जांच
दस लाख जांच के बाद भारत अमेरिका, जर्मनी, स्पेन जैसे देशों से बेहतर है।

  • भारत 39,980
  • अमेरिका 1,64,620
  • जर्मनी 73,522
  • स्पेन 2,00,194
  • तुर्की 1,17,589
  • इटली 1,52,271

(स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, आईसीएमआर और आवर वर्ल्ड ये डेटा)

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने रविवार को कहा कि कोविड -19 के मामले बढ़ने की दर कुछ समय से लगभग स्थिर है। मरीजों के ठीक होने की दर सुधर रही है। उन्होंने कहा कि भारत सफलता की राह पर है और देश इस महामारी के खिलाफ लड़ाई जीतगा। उन्होंने कहा कि अब तक देश में कोविड -19 के 10,000 मरीज ठीक हो चुके हैं।

हर्षवर्धन ने कहा कि कोविड -19 के रोगियों के ठीक होने की दर में निरंतर सुधार हुआ है, जो दिखाता है कि ज्यादा से ज्यादा रोगी इस बीमारी से उबर रहे हैं और बेहतर होने के साथ घर लौट रहे हैं।

उन्होंने कहा कि नए मामलों के बढ़ने की दर भी कुछ समय से स्थिर है। मंत्री के हवाले से एक बयान में कहा गया कि रविवार को प्राप्त आंकड़ों के अनुसार पिछले तीन दिन से वायरस के मामले दोगुने होने की दर के एक दिन है। सात दिन के लिहाज से देखें तो 11.7 दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं और 14 दिन के हिसाब से देखें तो 10.4 दिन में मामले दोगुने हो रहे हैं।

उन्होंने कहा कि हमने आज की तारीख तक दस लाख से अधिक मामलों की जांच कर ली है और इस समय एक दिन में 74 हजार से अधिक जांच की जा रही हैं। मंत्री ने कहा कि सरकार ने पूरे भारत में लगभग 20 लाख बैगई किट लिस्ट की हैं और 100 से अधिक देशों को दवाओं (हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन और पैरासीटामोल दोनों) की आपूर्ति की है।

उन्होंने कहा कि भारत इस मामले में अन्य देशों की तुलना में बेहतर स्थिति में है और विशेष को विभाजित -19 अस्पतालों और स्वास्थ्य केंद्रों में ढाई लाख से अधिक बिस्तरों के साथ किसी भी परिस्थिति से निपटने के लिए सक्षम है।

स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से लॉकडाउन के तीसरे चरण का पूरी तरह पालन करने और इसे संक्रमण की कड़ी को तोड़ने के लिए प्रभावी हस्तक्षेप मानकर चलने का अनुरोध किया। उन्होंने कहा कि हम सफलता की राह पर हैं और को विभाजित -19 के खिलाफ इस युद्ध को जीतेंगे। उन्होंने लोगों से कोविद -19 के रोगियों का इलाज कर रहे डॉक्टरों का बहिष्कार नहीं करने और इस घातक बीमारी से उबरदार रोगियों को अपमानित करने की अपील की।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *