• मौजूदा कोच रवि शास्त्री विश्व चैम्पियनशिप में खिलाड़ी ऑफ द सीरीज बने, उन्हें ऑडी कार मिली
  • इस प्रकाशन में भारत ने एक भी मैच नहीं हारा और फाइनल में पाकिस्तान को शिकस्त दी थी

दैनिक भास्कर

10 मई, 2020, 07:05 AM IST

टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने पिछले दिनों कहा कि 1985 में क्रिकेट रैंकिंग की विश्व विजेता टीम विराट कोहली की वर्तमान वनडे टीम को हरा सकती है। यह कथन कुछ लोगों को विवादास्पद लग सकता है। 1980 के लोगों के लिए यह जीत विशेष थी। शास्त्री ने ऑलराउंड प्रदर्शन किया। श्रीकांत और जावेद मियांदाद को पीछे छोड़ते हुए शास्त्री खिलाड़ी ऑफ द सीरीज भी बने थे। शास्त्री को औडी कार मिली जो उस समय काफी चर्चित हो रही थी।

1983 विश्व से पहली टीम इंडिया का वनडे में प्रदर्शन अच्छा नहीं था। 1983 विश्व कप के फाइनल में विंडीज पर अप्रत्याशित जीत ने दुनिया काे अचंभित कर दिया। इसने कई युवा खिलाड़ियों को प्रेरणा दी। 1984 में टीम ने शारजाह में एशिया कप जीता। इसी स्थान पर एक वर्ष बाद रोहताँस कप जीता। इन दोनों के बीच 1985 में विश्व चैम्पियनशिप की जीत शानदार रही।

भारतीय टीम के कागजों पर मजबूत नहीं था
इसने भारतीय क्रिकेट के भविष्य को तय किया। रंगीन कपड़ों में खेल रहे खिलाड़ी और टीवी पर कवरेज ने इसे और शानदार बनाया। टीम ने फाइनल में पाकिस्तान को हरा दिया। टीम टूर्नामेंट में एक भी मुकाबला हारी ही नहीं। इसने साबित किया कि 1983 विश्व कप में मिली जीत अप्रत्याशित नहीं थी। शास्त्री की बात के आंकड़ों से बेमेल खाती है। लेकिन 1983-1985 की टीम कागजों पर मजबूत नहीं थी लेकिन खिताब जीतने के मामले में आगे थी। जब तक विराट कोहली और उनकी टीम ऐसा नहीं कर सकती और भारतीय क्रिकेट इतिहास में अपनी छाप छोड़ सकती है। तब तक 1985 और 2020 की टीमों के बीच बात चलती रहेगी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *