• दिल्ली पुलिस ने लोगों को कोरोनावायरस के खिलाफ लोगों को जागरूक करने के इरादे से मुहिम शुरू की, जिसमें 1983 विश्व कप की टीम के साथ जुड़े थे।
  • इस मुहिम से जुड़े मदन लाल ने कहा- हम टीम वर्क और अनुशासन की वजह से 1983 में वर्ल्ड चेनियन बने, कोरोना के खिलाफ भी लोगों को ऐसा करना होगा।
  • कपिल देव, सुनील गावस्कर भी इस मुहिम का हिस्सा बनेंगे, दिलीप वेंगस्कर ने कहा- हम खराब दौर से गुजर रहे हैं, इस लड़ाई में देश को टीम वर्क दिखाना होगा

दैनिक भास्कर

12 मई, 2020, 10:16 PM IST

1983 का क्रिकेट विश्व कप जीतने वाली भारतीय टीम अब कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भी उतरेगी। इसके लिए टीम के सदस्यों ने दिल्ली पुलिस से हाथ मिलाया है। वे अब लोगों को इस लड़ाई में अनुशासन और टीम वर्क का पाठ पढ़ाएंगे।

इसके लिए दिल्ली पुलिस ने ‘हैशटेग 1983 वर्ल’ड कप हीरोज विद दिल्ली पुलिस’ मुहिम शुरू की। 1983 वर्ल’ड कप विजेता वाली टीम के सदस्यों ने इस वीडियो को अपने ट्वीटर अकाउंट पर शेयर किया है और लोगों से सरकार की गाइडलाइन का पालन करने की अपील की है।

अनुशासन और टीम वर्क से 1983 में चेनियन बने: मदन लाल

इस बारे में टीम के सदस्य मदन लाल ने कहा- जब हम 1983 का विश्व कप खेलने गए थे तो किसी ने भी यह सोचा नहीं था कि हम चेनियन बन जाएंगे। लेकिन हमें खुद पर यकीन था। टीम वर्क और अनुशासन के दम पर हम पहली बार विश्व कप जीते। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भी हमें इस तरह का दिखावा होगा और हर आदमी को
इस लड़ाई में अपना प्रदर्शन करना होगा।

वेंगसरकर की अपील- लॉकडाउन का पालन करें

1983 विश्व कप टीम के सदस्य रहे दिलीप वेंगरसकर ने अपने वीडियो संदेश में कहा- आप सभी को पता है कि 1983 के विश्व कप में हमारी टीम 183 रन पर ऑल आउट हो गई थी। लेकिन हिसल और जुझारूपन के दम पर पासा पलट दिया और आखिर में ट्रॉफी हमारे हाथ आई। आज हम खराब दौर से गुजर रहे हैं। इसलिए देश को अनुशासन और टीम वर्क की जरूरत है। ऐसे में सभी को लॉकडाउन और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन करना चाहिए।

‘1983 की टीम से बहुत कुछ सीखा जा सकता है’

इस मुहिम को शुरू करने वाले दक्षिण दिल्ली के एसडीपी अतुल कुमार ठाकुर ने कहा कि 1983 का क्रिकेट विश्व कप जीतने वाली टीम के खिलाड़ियों से काफी कुछ सीखा जा सकता है। उन्होंने कहा कि यह ऐसा बैनर था, जिसमें टीम हर मुश्किल का सामना करके जीती थी। इस एक दौरे ने देश को एकजुट कर दिया था।

हर खिलाड़ी ने टीम की जीत में योगदान दिया: दिल्ली पुलिस

ऑफ़पी ठाकुर ने कहा- तब लोगों ने कहा था कि जुआत के लिए विश्व कप जीतना बहुत मुश्किल है। लेकिन हर बाधाओं को पार करने वाली टीम पहली बार चैंपियन बनी। फिर पसंद करें जिम्बाब्वे के खिलाफ कपिल देव की शानदार पारी हो या फाइनल में मोहिंदर अमरनाथ का प्रदर्शन या फिर नंबर -11 पर बल्लेबाजी करने आए बलविंदर संधू की विकेटकीपर सैयद किरमानी के साथ 22 रन की अहम साझेदारी।

हम सिर्फ टीम वर्क के दम पर ही तब जीत रहे थे। फिर चाहें पुलिस हो, सरकार हो, स्वास्थकर्मी हो और जनता क्यों न हो। यह सब साथ आयांगे तो इस लड़ाई में टीम इंडिय़ा वंजी।
2011 विश्व विजेता टीम को भी जोड़ा जाएगा: दिल्ली पुलिस
दक्षिण दिल्ली के राज्यपी ने कहा कि हमारी इस मुहिम में मोहिंदर अमरनाथ, बलविंदर संधू भी शामिल हो गए हैं। वहीं, सुनील गावस्कर ने भी सहयोग का वादा किया है, जबकि टीम के कप्तान कपिल देव और श्रीकांत ने हमें अपना वीडियो बनाया है। हम 2011 का वर्लद कप कप जीतने वाली टीम के सदस्यों को भी इस मुहिम से जोड़ने की कोशिश कर रहे हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *