19 वें ओवर में विराट कोहली ने 28 रन लुटा दिए थे (फाइल फोटो)

टीम लगभग जीत की दहलीज पर ही ढेर थी, लेकिन 19 वें ओवर में विराट कोहली (विराट कोहली) ने 28 देकर अपनी टीम को हार की कगार पर ला दिया।

नई दिलवाली 12 गेंदबाज और 43 रन … ये एक ऐसा आंकड़ा है, जहां से लक्ष्मण का पीछा कर रही टीम को जीत की दहलीज दिखाई देनी बंद हो जाती है। जियादतर फैंस आज भी उस मैच को नहीं भूले होंगे, जहां टीम ने इसी तरह से मैच से पलट दिया और मुकाबला जीता लिया था। बात कर रहे हैं 2012 आईपीएल की, जहां रॉयल वेंडलर्स बेंगलोर के खिलाफ चेन्नेई सुपर किंग किंग (चेन्नई सुपर किंग्स) को जीत के लिए 12 गेंदों पर 43 रन चाहिए थे और यहां से एल्बी मोर्कल (एल्बी मोर्कल और ड्वेन ब्रावो ने मैच पलट कर जीत हासिल की)। सीएसके की झोली में डाल दी। यह वही मैच था, जिसमें 19 वें ओवर में विराट कोहली (विराट कोहली) गेंदबाजी करने आए थे और उनके एक ओवर ने पूरा मैच ही पलट दिया था। दक्षिण अफ्रीका ऑलराउंडर और चेन्नीई सुपर किंग के साथ पूर्व बल्लीलेबाज एल्बी मोर्कल ने यूट्यूब चैट में उस पल को याद करते हुए कहा कि उन्हें समझ में नहीं आया कि मैच के उस मोड़ पर आरसीबी ने कोहली को चुनौती दी थी।

मोर्कल ने कहा कि चेपक न्यूटेडियम में खेले गए इस मुकाबले में 20 ओवर में 206 रनों का पीछा करते हुए सीएसके ने 18 ओवर के खेल तक 5 विकेट गंवा दिए थे और आखिरी के दो ओवर में 43 रन चाहिए थे। 18 वें ओवर की आखिरी गेंद पर विकेट गिरा था। ऐसे में वे बुल्लीटिंग के लिए आए और आरसीबी के कपतान डेनियल विट्टोरी ने उस महत्वपूर्ण ओवर में गेंद कोहली को थमा दी। 19 वें ओवर में उन्हें हेहली की गेंदों पर ताबड़तोड़ बल्लीटिंग की और 28 रन बनाने की श्रृंखला मिली। इसके बाद आखिरी ओवर में बाकी के बचे हुए 15 रन ड्वेन ब्रावो ने जड़ दिए। ब्रावो ने विनय कुमार की गेंदों पर दो चौके लगाकर सीएसके को जीत दिला दी।

कोहली को गेंदबाजी करनी चाहिए थी

मोर्कल ने कहा कि उनकी टीम उस से में ही नहीं थी। मुकाबला आरसीबी के पक्ष में था, लेकिन वेन नहीं पता कि विराट कोहली को गेंद नयुन दी गई। सभी उनका काफी सममान करते हैं। उन पर भी गेंदबाजी नहीं करनी चाहिए थी। मोर्कल ने कहा कि जब वे सातवें नंबर पर बुलिंग करने आए थे तो इंटरकोरबोर्ड देखकर उन्हें असंभव सा नजर आया। लेकिन जब उन्होंने हे कोहली के हाथ में गेंद देखी तो सोचा कि मैच को थोड़ा करीब होगा। उसके बाद वह पहले गेंदबाज पर तो बच गया और उस गेंदबाज ने चार रन जोड़े। लेकिन अगली गेंदों पर ताथतोड़ रन जुटाए। मोर्कल ने कहा कि वह 15 मिनट में अपने करियर के सबसे शानदार पुल थे, वह कोई जादू नहीं था।भारत के म्यूजियम में रखा जाएगा तिहरा शतक जड़ने वाले इस पाक खिलाड़ी का बल्ला

नाम उछलने पर बोले मोदीस्तानी दिग्‍गज वसीम अकरम, ऐसा करने से खुद को रोक रखा है

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर । फोल्ट्स। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 8 मई, 2020, 12:59 PM IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। सिर्फ 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें मनी कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *