• अमेरिका के माइक टायसन को 2005 में आखिरी से केविन मैकब्राइड ने उपकरण दिया था
  • टायसन ने 50 में से 44 मैच जीते, उन्हें ऑल टाइम ग्रेट बॉक्सर के नाम से भी जाना जाता है

दैनिक भास्कर

12 मई, 2020, 12:50 PM IST

बॉक्सिंग की दुनिया में 80 के दशक में राज करने वाले हैवीवेट बॉक्सर माइक टायसन ने 15 साल बाद रिंग में फिर से चमकने के लिए। वे चैरिटी के लिए कुछ प्रदर्शनी मैचों में उतरेंगे। टायसन ने सोमवार को इंस्टाग्राम पर एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा, ‘मैं वापसी कर रहा हूं।’

वीडियो मे टायसन पंच मारते हुए नजर आ रहा है। उनके पावर, स्टेमिना और स्पीड को देखकर ऐसा लग रहा है कि वे आज भी डब्ल्यूबीए, डब्ल्यूबीसी और आईबीएफ का खिताब जीतने के लिए प्रैक्टिस कर रहे हैं।

2005 में टायसन ने आखिरी मैच खेला था
उन्होंने एक लाइव चैट के दौरान भी वापसी की बात कही थी। उन्होंने कहा था कि वे चैरिटी के लिए पैसे जमा करना चाहते हैं। टायसन इस पैसे से बेगर लोगों की घर बनाने में सहायता करना चाहते हैं। चैरिटी मैच के लिए टायसन लगातार प्रैक्टिस कर रहे हैं। टायसन ने अपना आखिरी मुकाबला 2005 में केविन मैकब्राइड के खिलाफ खेला था। उन्हें हार के साथ अपना 20 साल का करियर समाप्त करना पड़ा था।

टायसन के नाम सबसे युवा चैंपियंस का रिकॉर्ड
टायसन 50 में से 44 मैच जीत चुके हैं। उन्हें ऑल टाइम ग्रेट बॉक्सर के नाम से भी जाना जाता है। टायसन ने 1986 में 20 साल की उम्र में ट्रेवर बेबरिक का रिकॉर्ड तोड़ दुनिया का सबसे युवा हैवीवेट चेनियन होने का रिकॉर्ड दर्ज कराया था। जो आज भी कायम है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed