• हुंडई इस महीने लगभग 12,000 से 13,000 कारों का प्रोडक्शन करना चाहती है
  • बीएमडब्ल्यू अपने प्लांट में 50% से कम मैनपावर के साथ सिंधल शिफ्ट में काम कर रही है

दैनिक भास्कर

09 मई, 2020, 05:49 अपराह्न IST

नई दिल्ली। देश में लॉकडाउन के बीच कई औक कंपनियों ने अपने प्लांट में प्रोडक्शन शुरू कर दिया है। कोरियाई कंपनी हुंडई ने भी अपने चेन्नई के श्रीपेरंबूर स्थित प्लांट में कार प्रोडक्शन शुरू कर दिया है। वहीं, पहले दिन कंपनी ने 200 कार का प्रोडक्शन शुरू किया था। कंपनी इस दौरान कोरोनावायरस को लेकर जारी की गई गाइडलाइन के साथ सोशल डिस्टेंसिंग को भी फॉलो कर रही है। हुंडई इस महीने लगभग 12,000 से 13,000 कारों का प्रोडक्शन करना चाहती है।

लॉकडाउन से पहले कंपनी की कई गाड़ियों को ऑनलाइन बुकिंग मिली है। जिसमें क्रेटा की 10,000 बुकिंग शामिल है। बता दें कि हुंडई ने भारत में अपने 255 शोरूम और वर्कशॉप फिर से ओपन कर दिए हैं। जिसमें उसे 500 कारों की बुकिंग भी मिली है। वहीं, 170 कारें भी बेची जाती हैं।

बीएमडब्ल्यू कार प्रोडक्शन: बीएमडब्ल्यू ने भी अपने चेन्नई स्थित प्लांट में काम शुरू कर दिया है। इस प्लांट में कंपनी 50 प्रतिशत से कम मैनपावर के साथ सिंधल शिफ्ट में काम कर रही है। साथ ही, कोरोनावायरस को लेकर जारी की गई गाइडलाइन के साथ सोशल डिस्टेंसिंग को भी फॉल्ट कर रहा है। वहीं, गुरुग्राम स्थित बीएमडब्ल्यू ग्रुप इंडिया के हेडक्वार्ट के वर्कर घर से काम करने का जारी करेगा। बता दें कि कंपनी चेन्नई प्लांट में हर साल 14,000 यूनिट का प्रोडक्शन करती है।

मारुति सुजुकी कार प्रोडक्शन: मारुति सुजुकी हरियाणा के मानेसर प्लांट को 12 मई से खुलने जा रहा है। ये प्लांट 24 मार्च से बंद है। प्रोडक्शन शुरू करने से पहले कंपनी ने अपने डीलर्स के लिए नए मानक परिचालन नियम (एसओपी) जारी किए हैं। नए नियमों के तहत ग्राहकों और कर्मचारियों की सुरक्षा के लिए सभी शोरूम में साफ सफाई का ज्यादा ध्यान रखा जाएगा। मारुति सुजुकी की तरफ से बताया गया कि नए नियम लागू करके और स्थानीय राज्य सरकारों से मंजूरी लेने के बाद कंपनी धीरे-धीरे अपने डीलर शोरूम खोल रही है।

होंडा कार प्रोडक्शन: होंडा को अपने प्लांट ओपन करने में प्रॉब्लम आ रही है। हालांकि, कंपनी अगले सप्ताह के मूल्यांकन के टापुकड़ा प्लांट को खोलने का विचार कर रही है। कंपनी के सेल्स डायरेक्टर राजेश गोयल ने बताया कि एक शिफ्ट में काम करने और निचले स्तर पर भी उत्पादन शुरू करने के लिए लेबर नहीं मिल रही है। ये लोग धारचितेड़ा, रेवाड़ी के आसपास के क्षेत्रों में रहते हैं, जिसके कारण से पहले फिर से शुरू करने में प्रॉब्लम आ रही है। हालांकि, कंपनी के देशभर में डीलर स्टोर फिर खुलने लगे हैं।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed