सांकेतिक चित्र
– फोटो: अमर उजाला

ख़बर सुनता है

गुजरात के आनंदंद में मंगलवार रात कोरोनावायरस से जान गंवाने वाले एक व्यक्ति का अंतिम संस्कार करने पहुंची जिला प्रशासन की टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया। कोरोना फैलने के डर से वल्लभ विद्यानगर कस्बे के लोग शव के अंतिम संस्कार का विरोध कर रहे थे।

गुस्साई भीड़ ने टीम पर हमला कर दिया, जिसमें दो पुलिसकर्मी और एकर्न्स का ड्राइवर घायल हो गए। इस घटना के बाद पुलिस ने इलेक्ट्रिक शवदाह गृह के आसपास से कम से 56 लोगों को गिरफ्तार किया है।

डीएसपी बीडी जडेजा ने बुधवार को बताया कि हरिओम नगर इलाके के पास में लगभग 100 परिवार रहते हैं। मंगलवार रात कोरोना से मृत एक व्यक्ति के शव का अंतिम संस्कार करने पहुंची टीम को स्थानीय लोगों ने घेर लिया। वे शव का कोई दूसरा स्थान पर अंतिम संस्कार करने की मांग कर रहे थे। इसके बाद भीड़ ने लाठी डंडों और हथियारों से एकर्न्स के ड्राइवर पर हमला कर दिया। एर्नेंस को भी नुकसान पहुंचाया गया।

एर्केन्स के साथ गए दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। अतिरिक्त पुलिस बल के पहुंचते स्थानीय लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस ने पांच दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

महाराष्ट्र के ताने जिले में 90 साल की एक बुजुर्ग महिला ने खतरनाक कोरोनावायरस को मात दे दी है। यह वैश्विक महामारी की चपेट में आई यह महिला स्वस्थ होकर घर लौट गई। मंगलवार को सिविल अस्पताल से महिला को छुट्टी मिल गई। इसके अलावा प्रशासन ने बताया कि मीरा भयंदर नगर में 7 महीने के एक बच्चे के अस्थिर होने की पुष्टि हुई है।

TN में 7 मई से शराब की कीमतों में अधिकतम 20 रुपये की वृद्धि की जाएगी। राज्य सरकार ने कहा कि भारत में निर्मित विदेशी शराब पर आबकारी शुल्क में 15 प्रतिशत की वृद्धि के बाद यह आदेश जारी किया जा रहा है। सामान्य ब्रांड की 180 मिलीलीटर आईएमएफएल की कीमत में दस रुपये तक की वृद्धि होगी, जबकि प्रीमियम शराब की कीमत में 20 रुपये तक की वृद्धि होगी।

देशभर में शराब खरीदने के चक्कर में सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ने की खबरों के बीच अब पुणे जिला प्रशासन ने इसके लिए टोकन सिस्टम की शुरुआत की है। बलजनल कमिश्नररक माहेस्कर ने बताया कि बिना टोकन कोई भी व्यक्ति शराब नहीं खरीद सकेगा। वहीं, तेलंगाना में बुधवार से शराब की दुकानें खुल गईं। दुकान मालिकों ने ग्राहकों की आरती उतारी और फूल बरसाकर उनका स्वागत किया

सार

गुजरात के आनंदंद में एक इलेक्ट्रिक शवदाहगृह में नगर निगम की एक टीम को विभाजित -19 से मृत एक व्यक्ति का अंतिम संस्कार करने से रोकने के लिए भीड़ द्वारा कथित रूप से किए गए हमले में दो पुलिसकर्मी और एक ए केर्न्स चालक हो गए हैं। यह जानकारी अधिकारियों ने बुधवार को दी।

विस्तार

गुजरात के आनंदंद में मंगलवार रात कोरोनावायरस से जान गंवाने वाले एक व्यक्ति का अंतिम संस्कार करने पहुंची जिला प्रशासन की टीम पर भीड़ ने हमला कर दिया। कोरोना फैलने के डर से वल्लभ विद्यानगर कस्बे के लोग शव के अंतिम संस्कार का विरोध कर रहे थे।

गुस्साई भीड़ ने टीम पर हमला कर दिया, जिसमें दो पुलिसकर्मी और एकर्न्स का ड्राइवर घायल हो गए। इस घटना के बाद पुलिस ने इलेक्ट्रिक शवदाह गृह के आसपास से कम से 56 लोगों को गिरफ्तार किया है।

डीएसपी बीडी जडेजा ने बुधवार को बताया कि हरिओम नगर इलाके के पास में लगभग 100 परिवार रहते हैं। मंगलवार रात कोरोना से मृत एक व्यक्ति के शव का अंतिम संस्कार करने पहुंची टीम को स्थानीय लोगों ने घेर लिया। वे शव का कोई दूसरा स्थान पर अंतिम संस्कार करने की मांग कर रहे थे। इसके बाद भीड़ ने लाठी डंडों और हथियारों से एकर्न्स के ड्राइवर पर हमला कर दिया। एर्नेंस को भी नुकसान पहुंचाया गया।

एर्केन्स के साथ गए दो पुलिसकर्मी भी घायल हो गए। अतिरिक्त पुलिस बल के पहुंचते स्थानीय लोगों ने पत्थरबाजी शुरू कर दी। पुलिस ने पांच दर्जन से अधिक लोगों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है।


आगे पढ़ें

टोकन: 90 वर्ष की महिला ने दी कोरोना को माँ





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *