न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
अपडेटेड सत, 09 मई 2020 05:20 AM IST

सिपाही की पत्नी से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिएबात करते सीपी
– फोटो: अमर उजाला

ख़बर सुनता है

कोरोना के कारण तीन दिन पहले जान गंवाने वाले दिल्ली पुलिस के सिपाही अमित राणा की पत्नी व तीन साल का बेटा भी दोष पाए गए हैं। सिपाही की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोनों के सैंपल जांच को भेजे थे। रिपोर्ट पॉजिटिव मिला है।

हुल्लाखेड़ी, सोनीपत का रहने वाला अमित अपने परिवार के साथ मिशन रोड पर रहता था। उसकी तीन दिन पहले कोरोना के कारण मौत हो गई थी। उस समय उसकी पत्नी अपने बच्चे के साथ मायके में जवाहर नगर गई हुई थी। वहाँ से दोनों को आइसोलेट द्वारा सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दोनों को खानपुर कलां मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है।

अमित की पत्नी को नौकरी की पेशकश की, सीपीसी ने बात की
दिल्ली के पुलिस आयुक्त (सीपीसी) ने हरियाणा के सोनीपत स्थित दिल्ली पुलिस के दिवंगत सिपाही अमित राणा के परिवार से बृहस्पतिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। उन्होंने कोरोना और अमित राणा की पत्नी पूजा से पुलिस महकमे में योग्यता के अनुसार नौकरी की भी पेशकश की है।

पूजा मौजूदा वक्त में अनुबंधित अध्यापिका हैं। अमित अपने पीछे तीन साल के मासूम बेटे को छोड़ गए हैं। परिवार की इस मुसीबत की घड़ी में पुलिस आकृत ने हर स्तर पर मदद का भरोसा दिया है।

सीपी ने वीडियो काँफ्रेंसिंग के जरिए सिपाही अमित को श्रद्धांजलि भी दी। उधर, पीड़ित परिवार से बातचीत की तस्वीर पुलिस आयुक्त ने ऑफिसियल वेब हैंडल पर भी साझा की। तस्वीर पोस्ट में ही दिल्ली पुलिस के मुखिया एसएन श्रीवास्तव से लोगों ने ट्विटर पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया।]

आरोप है कि भरत नगर थाने में तैनात अमित राणा को जब पर अगर अस्पताल ले जाया गया होता तो उनकी जान बचाई जा सकती थी। ऐसे कई सवाल हैं, जिनका जवाब पुलिस महकमे को देना है।

कोरोना के कारण तीन दिन पहले जान गंवाने वाले दिल्ली पुलिस के सिपाही अमित राणा की पत्नी व तीन साल का बेटा भी दोष पाए गए हैं। सिपाही की मौत के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम ने दोनों के सैंपल जांच को भेजे थे। रिपोर्ट पॉजिटिव मिला है।

हुल्लाखेड़ी, सोनीपत का रहने वाला अमित अपने परिवार के साथ मिशन रोड पर रहता था। उसकी तीन दिन पहले कोरोना के कारण मौत हो गई थी। उस समय उसकी पत्नी अपने बच्चे के साथ मायके में जवाहर नगर गई हुई थी। वहाँ से दोनों को आइसोलेट द्वारा सैंपल जांच के लिए भेजे गए थे। रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद दोनों को खानपुर कलां मेडिकल कॉलेज भेज दिया गया है।

अमित की पत्नी को नौकरी की पेशकश की, सीपीसी ने बात की

दिल्ली के पुलिस आयुक्त (सीपीसी) ने हरियाणा के सोनीपत स्थित दिल्ली पुलिस के दिवंगत सिपाही अमित राणा के परिवार से बृहस्पतिवार को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की। उन्होंने कोरोना और अमित राणा की पत्नी पूजा से पुलिस महकमे में योग्यता के अनुसार नौकरी की भी पेशकश की है।

पूजा मौजूदा वक्त में अनुबंधित अध्यापिका हैं। अमित अपने पीछे तीन साल के मासूम बेटे को छोड़ गए हैं। परिवार की इस मुसीबत की घड़ी में पुलिस आकृत ने हर स्तर पर मदद का भरोसा दिया है।

सीपी ने वीडियो काँफ्रेंसिंग के जरिए सिपाही अमित को श्रद्धांजलि भी दी। उधर, पीड़ित परिवार से बातचीत की तस्वीर पुलिस आयुक्त ने ऑफिसियल वेब हैंडल पर भी साझा की। तस्वीर पोस्ट में ही दिल्ली पुलिस के मुखिया एसएन श्रीवास्तव से लोगों ने ट्विटर पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया।]

आरोप है कि भरत नगर थाने में तैनात अमित राणा को जब पर अगर अस्पताल ले जाया गया होता तो उनकी जान बचाई जा सकती थी। ऐसे कई सवाल हैं, जिनका जवाब पुलिस महकमे को देना है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *