• टाटा मोटर्स पर बढ़े कर्ज की निकासी में चार से छह तिमाही लग सकती है
  • लॉकडाउन के दौरान टाटा मोटर्स के शेयर्स ने सबसे खराब प्रदर्शन किया

दैनिक भास्कर

12 मई, 2020, 12:48 PM IST

नई दिल्ली। कोरोना महामारी के कारण जहां सीखने में अटोबाइल्स की मांग में गिरावट आई है वहीं कैपिटल मार्केट और इन्वेस्टमेंट ग्रुप सीएलएसए लिमिटेड का कहना है कि टाटा मोटर्स अपने लग्जरी ब्रांड जगुआर लैंड रोवर के बिना कुछ नहीं है। महामारी के दौरान 3.7 बिलियन डॉलर की इस ऑटो कंपनी को तेजी से बढ़ते कर्ज का सामना करना पड़ा था इसके निकासी में चार से छह तिमाही की देरी हो सकती है।

सीएलएसए ने कहा कि पहले ही इसे पैरेंट कंपनी टाटा सन्स प्राइवेट लिमिटेड प्रीफेंशियल एंड अलॉटमेंट के रूप में सहायता कर चुकी है, वहीं ब्रोकरेज का मानना ​​है कि आगे भी इसे सहायता की जरूरत पड़ सकती है।

बीएसई औटो इंडेक्ट में टाटा मोटर्स 53 फीसदी नीचे आ गई

  • विश्लेषकों अमीन पीरानी ने अपनी रिपोर्ट में लिखा कि जगुअर अपनी वेल्यूएशन का एकमात्र चालक है। टाटा मोटर्स को खरीदने से कम करने के लिए अपग्रेड करना। “हमारा मानना ​​है कि भविष्य के भविष्य इनफ्यूजन्स के नुकसान फंडिंग के लिए उपयोग किए जाने की संभावना है और इसलिए हम इसके भारत के व्यापार के लिए किसी भी वित्तीय मूल्य का श्रेय नहीं देते हैं।”
  • भारत मेंiveेंजर्स व्हीकल की डिमांड महामारी से पहले ही छुट्टी थी। वहीं लॉकडाउन के कारण अप्रैल में किसी भी कार कंपनी की एक भी कार नहीं बाइस। इस दौरान टाटा मोटर्स ने सबसे खराब प्रदर्शन किया, यह इस साल एसएंडपी बीएसई ऑटो इंडेक्स में 53 फीसदी नीचे आ गया।
  • यह वायरस जगुआर लैंड रोवर के लिए भी एक झटका है, जो चीन, ब्रेक्सिट और यूरोपीय परिचालन नियमों में संदेह के संयुक्त नकारात्मक प्रभाव से पिछले साल के अंत में एक बदलाव का संकेत दिखाने लगा था। टाटांस कारोबार के लिए एक रणनीतिक साझेदार की तलाश में था लेकिन उसने जेएलआर को बेचने का वादा नहीं किया।
  • सीएलएसए का कहना है कि वैश्विक लक्जरी इकाई और भारतीय वाणिज्यिक वाहन व्यवसाय दोनों को अगले वित्तीय वर्ष में ठीक होना चाहिए। पीरानी ने कहा कि भारत के यात्री वाहन कारोबार की बिक्री और उसकी वित्तपोषण शाखा में टाटा मोटर्स के वित्तीय मूल्य में 92 बिलियन डॉलर (1.2 बिलियन डॉलर) की वृद्धि हो सकती है।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *