पाकिस्तान में विमान हादसा (फाइल फोटो)
– फोटो : ANI

ख़बर सुनें

पाकिस्तान में हाल ही में हुई विमान दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए एयरोस्पेस कंपनी ‘एयरबस’ के तकनीक विशेषज्ञों का एक दल पाकिस्तान पहुंच गया है। इस विमान दुर्घटना में 97 लोग मारे गए थे।
मीडिया में मंगलवार को आई खबरों में कहा गया है कि तकनीक विशेषज्ञों का एक दल देश आ चुका है।

जिओ न्यूज की खबर के अनुसार, फ्रांस के तोउलोउस में स्थित एयरबस कार्यालय के विशेषज्ञ यहां जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के रनवे का निरीक्षण करेंगे। इसके साथ ही विशेषज्ञ उस स्थान का निरीक्षण भी करेंगे जहां शुक्रवार को पीआईए का पीके-8303 विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि विशेषज्ञ विमान दुर्घटना के कारणों की स्वतंत्र जांच करेंगे। कहा जा रहा है कि एयरबस ए-320 इंजन खराब हो जाने के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। दुर्घटना के बाद से ही पाकिस्तानी अधिकारियों ने घटनास्थल को घेर दिया था और जांच होने तक वहां से कुछ भी हटाने पर पाबंदी लगा दी थी।

एयरबस ने ए-320 का संचालन करने वाली सभी एयरलाइनों को पत्र लिख कर कहा है कि वह पीआईए, एयर फ्रांस और इंजन निर्माता कंपनी सीएफएम इंटरनेशनल को पूरा सहयोग देगी। इस बीच, दुर्घटना में मारे गए तीन लोगों के शव उनके परिजन को सौंप दिए गए हैं। डीएनए पीरक्षण के जरिए अवशेषों की शिनाख्त की जा रही है क्योंकि बुरी तरह जले होने के कारण इनकी शिनाख्त मुश्किल है।

गौरतलब है कि गत शुक्रवार को कराची के जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर लैंडिंग से कुछ मिनट पहले विमान, मॉडल कॉलोनी के जिन्ना गार्डन में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और इसमें 97 लोगों की मौत हो गई थी।

पाकिस्तान में हाल ही में हुई विमान दुर्घटना के कारणों की जांच के लिए एयरोस्पेस कंपनी ‘एयरबस’ के तकनीक विशेषज्ञों का एक दल पाकिस्तान पहुंच गया है। इस विमान दुर्घटना में 97 लोग मारे गए थे।

मीडिया में मंगलवार को आई खबरों में कहा गया है कि तकनीक विशेषज्ञों का एक दल देश आ चुका है।

जिओ न्यूज की खबर के अनुसार, फ्रांस के तोउलोउस में स्थित एयरबस कार्यालय के विशेषज्ञ यहां जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे के रनवे का निरीक्षण करेंगे। इसके साथ ही विशेषज्ञ उस स्थान का निरीक्षण भी करेंगे जहां शुक्रवार को पीआईए का पीके-8303 विमान दुर्घटनाग्रस्त हुआ था।

रिपोर्ट में कहा गया है कि विशेषज्ञ विमान दुर्घटना के कारणों की स्वतंत्र जांच करेंगे। कहा जा रहा है कि एयरबस ए-320 इंजन खराब हो जाने के कारण दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। दुर्घटना के बाद से ही पाकिस्तानी अधिकारियों ने घटनास्थल को घेर दिया था और जांच होने तक वहां से कुछ भी हटाने पर पाबंदी लगा दी थी।

एयरबस ने ए-320 का संचालन करने वाली सभी एयरलाइनों को पत्र लिख कर कहा है कि वह पीआईए, एयर फ्रांस और इंजन निर्माता कंपनी सीएफएम इंटरनेशनल को पूरा सहयोग देगी। इस बीच, दुर्घटना में मारे गए तीन लोगों के शव उनके परिजन को सौंप दिए गए हैं। डीएनए पीरक्षण के जरिए अवशेषों की शिनाख्त की जा रही है क्योंकि बुरी तरह जले होने के कारण इनकी शिनाख्त मुश्किल है।

गौरतलब है कि गत शुक्रवार को कराची के जिन्ना अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर लैंडिंग से कुछ मिनट पहले विमान, मॉडल कॉलोनी के जिन्ना गार्डन में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था और इसमें 97 लोगों की मौत हो गई थी।

.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *