केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (फाइल फोटो)
– फोटो: एएनआई

ख़बर सुनता है

वित्त मंत्रालय ने कर्मचारियों के वेतन कटौती को लेकर आज एक अधिसूचना जारी की। मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन में कटौती का कोई प्रस्ताव नहीं है।

इस संदर्भ में आई खबरों पर अपनी प्रतिक्रिया में मंत्रालय ने ट्विटर पर लिखा है, ‘केंद्र सरकार के किसी भी श्रेणी के कर्मचारियों के मौजूदा वेतन में किसी भी प्रकार की कटौती का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है।’ मंत्रालय ने लिखा है, ‘के मीडिया के एक हिस्से में आई इस प्रकार की रिपोर्ट गलत और आधारहीन है। ”

पिछले महीने सरकार ने जून 2021 तक के लिए अपने 50 लाख कर्मचारियों और 61 लाख पेंशनभोगियों को बढ़े हुए महंगाई भत्ते के भुगतान पर रोक लगा दी थी। सरकार ने कहा था कि कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए जरूरी संसाधन जुटाने को लेकर अपने खर्च में कटौती कर रही है, इसी के तहत बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता नहीं देने का फैसला किया गया है। हालांकि अब केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनरों को उपयुक्त डीए और डीआर प्राप्त होते रहेंगे।

बता दें कि हाल ही में कुछ आंकड़ों में कहा गया था कि वर्तमान को विभाजित -19 महामारी संकट को देखते हुए केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन में 30 प्रतिशत तक की कटौती की जा सकती है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने वेतन कटौती की रिपोर्ट पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि इस तरह के फेक न्यूज से हमें सावधान रहना चाहिए।

वित्त मंत्रालय ने कर्मचारियों के वेतन कटौती को लेकर आज एक अधिसूचना जारी की। मंत्रालय ने स्पष्ट किया कि केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन में कटौती का कोई प्रस्ताव नहीं है।

इस संदर्भ में आई खबरों पर अपनी प्रतिक्रिया में मंत्रालय ने ट्विटर पर लिखा है, ‘केंद्र सरकार के किसी भी श्रेणी के कर्मचारियों के मौजूदा वेतन में किसी भी प्रकार की कटौती का कोई प्रस्ताव विचाराधीन नहीं है।’ मंत्रालय ने लिखा है, ‘के मीडिया के एक हिस्से में आई इस प्रकार की रिपोर्ट गलत और आधारहीन है। ”

पिछले महीने सरकार ने जून 2021 तक के लिए अपने 50 लाख कर्मचारियों और 61 लाख पेंशनभोगियों को बढ़े हुए महंगाई भत्ते के भुगतान पर रोक लगा दी थी। सरकार ने कहा था कि कोरोनावायरस महामारी से निपटने के लिए जरूरी संसाधन जुटाने को लेकर अपने खर्च में कटौती कर रही है, इसी के तहत बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता नहीं देने का फैसला किया गया है। हालांकि अब केंद्र सरकार के कर्मचारियों और पेंशनरों को उपयुक्त डीए और डीआर प्राप्त होते रहेंगे।

बता दें कि हाल ही में कुछ आंकड़ों में कहा गया था कि वर्तमान को विभाजित -19 महामारी संकट को देखते हुए केंद्र सरकार के कर्मचारियों के वेतन में 30 प्रतिशत तक की कटौती की जा सकती है। केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने वेतन कटौती की रिपोर्ट पर स्पष्टीकरण देते हुए कहा कि इस तरह के फेक न्यूज से हमें सावधान रहना चाहिए।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *