वसीम अकरम की बुमराह को सलाह

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान और दिग्गज तेज गेंदबाज वसीम अकरम (वसीम अकरम) ने जसप्रीत बुमराह (जसप्रित बुमराह) को दुनिया का सर्वश्रेष्ठ गेंदबाज बताया

नई दिल्ली। ऐसे कई क्रिकेट हुए जिन्होंने अपने खेल को सुधारने के लिए इंग्लैंड की काउंटी क्रिकेट का सहारा लिया है। भारत के पूर्व दिग्गज तेज गेंदबाज जहीर खान (जहीर खान) ने भी काउंटी क्रिकेट से अपना खेल सुदीप था। हालांकि पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज वसीम अकरम ने भारतीय तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को सलाह दी है कि पेज बाय काउंटी क्रिकेट खेलने ना जाएं। वसीम अकरम ने कहा कि जसप्रीत बुमराह जैसे खिलाड़ी को अगर भविष्य में काउंटी क्रिकेट और आराम करने में से किसी एक को चुनना हो तो उन्हें आराम करना चाहिए।

‘बुमराह के लिए आराम जरूरी’

भारत के पूर्व टेस्ट क्रिकेटर और कमेंटेटर आकाश चोपड़ा से बातचीत करते हुए वसीम अकरम (वसीम अकरम) ने कहा कि अब समय बदल गया है, अब ज्यादा क्रिकेट होता है इसलिए गेंदबाजों को शरीर को आराम देना जरूरी है। उन्होंने कहा, ‘भारतीय खिलाड़ी पूरे साल क्रिकेट खेलते हैं। बुमराह इस समय भारत के शीर्ष बॉलर हैं। दुनिया के सबसे अच्छे गेंदबाजों में से एक हैं। मैं उन्हें सलाह दूंगा कि जब इंटरनेशनल क्रिकेट नहीं खेला जा रहा है तो आराम ही करें। ‘ अकरम ने कहा कि वे 6 महीने पाकिस्तान और 6 महीने लैंकशर के लिए काउंटी खेल रहे थे, लेकिन तब अलग दौर था।

वसीम अकरम (वसीम अकरम) ने युवा तेज गेंदबाजों को ज्यादा से ज्यादा फर्स्ट क्लास क्रिकेट खेलने की सलाह दी। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि युवा गेंदबाज टी 20 से नहीं फर्स्ट क्लास क्रिकेट से ज्यादा सीखेंगे। अकरम ने कहा, ‘टी 20 क्रिकेट जबर्दस्त है, उसमें मजा है, पैसा है और खिलाड़ियों के लिए इसकी अहमियत को मैं समझता हूं लेकिन किसी भी गेंदबाज की सलाह टी 20 से नहीं लंबे फॉर्मेट के खेल से होती है।’फिटक का ध्यान रखना अकरम हैं

आकाश चोपड़ा (आकाश चोपड़ा) ने जब अकरम से उनके लॉकडाउन के शेड्यूल और क्रिकेट करियर के बारे में पूछा तो उन्होंने कहा, ‘कराची में कोई भी नहीं होता है सुबह 6 बजे, सुबह रनिंग करता है। बच्चे के साथ खेलता हूं। पत्नी को लेकर वॉक पर जाता हूं। वर्कआउट कर मुझे अच्छा महसूस होता है। जिस दिन वर्कआउट नहीं करता है, मज़ा नहीं आता है। साथ ही मैं समय पर सोता हूं। ‘

आकाश चोपड़ा ने बताया कि इमरान खान, जावेद मियांदाद और मुदस्सर नजर ने उनकी काफी मदद की। उन्होंने कहा, ‘इमरान खान और जावेद मियांदाद मेरी बड़ी तारीफ करते थे और टैलेंटेड बताते थे। लेकिन मुझे पता नहीं था कि टैलेंट होता है। एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि तुम्हारे पास स्विंग है और पेसिफिक है जो कि बेहद कम गेंदबाजों के पास है। इसके बाद मैंने थैचर ध्यान देना शुरू किया और दूसरे दौरे के पहले मैच में ही मैंने 10 विकेट ले लिए। मियांदाद और इमरान खान ने मेरे अंदर की मेहनत करने का जुनून पैदा किया। ‘

वसीम अकरम (वसीम अकरम) ने बताया कि उन्होंने कभी तस्वीर नहीं देखी। वे बसने वाले को स्विंग करने पर ध्यान देते थे। साथ ही उन्होंने धीमी गति से पिचूंसर का ज्यादा इस्तेमाल किया, जिससे बल्लेबाजों को मुश्किल से पेश आना पड़ा।

मुंबई पुलिस को बड़ा दान देने के बाद विराट कोहली ने एक और कदम उठाया

News18 हिंदी सबसे पहले हिंदी समाचार हमारे लिए पढ़ना यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें। देखिए क्रिकेट से संलग्न लेटेस्ट समाचार।

प्रथम प्रकाशित: 10 मई, 2020, रात 8:10 बजे IST


इस दिवाली बंपर अधिसूचना
फेस्टिव सीजन 75% की एक्स्ट्रा छूट। सिर्फ 289 में एक साल के लिए सब्सक्राइब करें करें डेड कंट्रोल प्रो।कोड कोड: DIWALI ऑफ़र: 10 नवंबर, 2019 तक

->





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *